बस यात्री ध्यान दें, पंजाब रोडवेज के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

पंजाब रोडवेज के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। इससे सरकारी बसों से यात्रा करने वाले कर्मचारियों को परेशानी हो सकती है। यहां जानिए डिटेल।

Punjab Roadways contractual Employees On Indefinite Strike
पंजाब रोडवेज के कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। 
मुख्य बातें
  • पंजाब रोडवेज के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों की डिमांड नौकरी नियमित करने की है।
  • वे राज्य सरकार से लंबे समय से अनुरोध कर रहे हैं।
  • पंजाब रोडवेज और पीआरटीसी के करीब 8,000 कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी हड़ताल पर हैं।

चंडीगढ़ : पंजाब रोडवेज के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी अपनी नौकरी नियमित करने की मांग को लेकर आज (मंगलवार) से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। अनिश्चितकालीन हड़ताल से कई यात्रियों को असुविधा होने की संभावना है जो आमतौर पर सरकारी बसों में यात्रा करते हैं।

इस महीने की शुरुआत में, पंजाब रोडवेज के एक कर्मचारी ने बताया कि वे राज्य सरकार से लंबे समय से अपनी नौकरी नियमित करने का अनुरोध कर रहे हैं लेकिन संघर्ष अभी भी जारी है।

गुरप्रीत सिंह ने कहा कि हमने दो महीने पहले भी विरोध प्रदर्शन किया था जो 9 दिनों तक जारी रहा। उस समय कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री थे और हमारी मांग थी नौकरियों को नियमित किया जाए।

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने तब हमसे 20 दिनों में नौकरी नियमित करने का वादा किया था, लेकिन नहीं हो सका क्योंकि उन्होंने इस्तीफा दे दिया और अब चरणजीत सिंह चन्नी ने सीएम का पद संभाला। वर्तमान मुख्यमंत्री ने भी यही वादा किया था। अब दो महीने हो गए हैं, इस सरकार की ओर से भी कोई अपडेट नहीं है।

इस साल सितंबर में भी पंजाब रोडवेज और पीआरटीसी के करीब 8,000 कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी अपनी नौकरी नियमित करने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे। पंजाब रोडवेज और पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (पीआरटीसी) की 2,000 से अधिक बसें सड़कों से नदारद रहीं।

नौकरियों को नियमित करने के अलावा, कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी भी बेड़े के आकार को वर्तमान में करीब 2,500 बसों से बढ़ाकर कम से कम 10,000 करने की मांग कर रहे हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर