राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट का ऐलान, ओवैसी बोले- बाबरी मस्जिद विध्वंस को हम कैसे भूल सकते हैं

देश
रामानुज सिंह
Updated Feb 05, 2020 | 14:59 IST

पीएम मोदी ने लोकसभा को राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के बारे में बताया। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि दिल्ली चुनाव को लेकर बीजेपी घबराई हुई है।

Asaduddin Owaisi on Ram Mandir construction trust
राम मंदिर निर्माण ट्रेस्ट पर असदुद्दीन ओवैसी की प्रतिक्रिया  |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के गठन को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंजूरी दी गई। पीएम मोदी ने बुधवार को लोकसभा को बताया कि कैबिनेट ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट गठित करने का प्रस्ताव पास किया है। पीएम ने कहा कि कि ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण और उससे जुड़े विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होगा। इस पर AIMIM सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी ने तीखी प्रतिक्रिया दी।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पीएम मोदी ने राम मंदिर ट्रस्ट निर्माण की घोषणा की। ट्रस्ट का ऐलान 8 फरवरी के बाद कर सकते थे। संसद सत्र 11 फरवरी तक चलेगा। ऐसा लगता है कि दिल्ली चुनाव को लेकर बीजेपी घबराई हुई है। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद के विध्वंस को हम कैसे भूल सकते हैं।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शाहीन बाग प्रदर्शन को सरकार द्वारा बल का प्रयोग खत्म कराने पर संदेह व्यक्त किया, जहां नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ 50 दिनों से आंदोलन चल रहा है। ओवैसी से पूछा गया था कि सरकार की ओर से संकेत मिले हैं कि 8 फरवरी के बाद शाहीन बाग को साफ कर दिया जाएगा। इसके जवाब में, उन्होंने कहा कि हो सकता है कि वे उन्हें गोली मार देंगे, वे शाहीन बाग को जलियांवाला बाग में बदल सकते हैं। ऐसा हो सकता है। बीजेपी के मंत्री ने 'गोली चलाने के लिए' एक बयान दिया। सरकार को जवाब देना होगा कौन कट्टरपंथी है। 

एनपीआर और एनआरसी के बारे में आगे बोलते हुए ओवैसी ने कहा कि सरकार को स्पष्ट जवाब देना चाहिए कि 2024 तक एनआरसी लागू नहीं किया जाएगा। वे एनपीआर के लिए 3900 करोड़ रुपए क्यों खर्च कर रहे हैं? मुझे ऐसा लगता है क्योंकि मैं इतिहास का छात्र था। हिटलर के दौरान उनके शासनकाल में दो बार जनगणना हुई और उसके बाद उन्होंने यहदियों को गैस चैंबर में डाल दिया। मैं नहीं चाहता हमारा देश में भी वैसा ही हो।

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर