Rajasthan: कैबिनेट विस्तार से पहले ही शुरू हुई कलह, कांग्रेस MLA बोले- भ्रष्ट और वसूली में शामिल मंत्री को प्रमोट किया गया

Rajasthan Cabinet Expansion: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाले मंत्रिपरिषद का फेरबदल हो रहा है जिसमें कुछ मंत्रियों को प्रमोट किया गया है तो वहीं महिला मंत्रियों की संख्या एक से बढ़कर तीन हो गई है।

rajasthan cabinet reshuffle Congress MLA Johari Lal Meena says Tikaram Juli is a corrupt man, Safia Zubair also showed displeasure
Rajasthan: कैबिनेट विस्तार से पहले ही शुरू हुई आपसी कलह 
मुख्य बातें
  • मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने परRajasthan के कुछ विधायक नाराज
  • विधायक जोहरी लाल और साफिया जुबैर ने खुलकर जाहिर की नाराजगी
  • जौहरी लाल मीणा बोले- भ्रष्ट व्यक्ति को प्रमोट कर बनाया गया कैबिनेट मंत्री

जयपुर: राजस्थान के अशोक गहलोत मंत्रिमंडल का आज पुर्नगठन हो रहा है। मंत्रिमंडल विस्तार के साथ ही कांग्रेस विधायकों की नाराजगी भी खुलकर सामने आ रही है। खबर के मुताबिक कुछ विधायक नाराजगी को लेकर जयपुर भी पहुंच रहे हैं। कांग्रेस विधायक जौहरी लाल मीणा ने टीकाराम जूली को कैबिनेट मंत्री बनाने पर खुलकर नाराजगी जाहिर करते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं।

टीकाराम जूली पर बरसे मीणा

वरिष्ठ कांग्रेस विधायक जौहरी लाल मीणा ने कहा, 'हमें पार्टी और लीडर से कोई नाराजगी नहीं है। हमें मिनिस्टर से नाराजगी है। हमारे जिले (अलवर) में, यह सर्वविदित है कि टीकाराम जूली एक भ्रष्ट व्यक्ति है और उसका परिवार वसूली में शामिल है। मैंने पार्टी नेतृत्व से उन्हें हटाने के लिए कहा, लेकिन उन्हें प्रमोट कर मंत्री बनाया गया है। मैं इसके खिलाफ हूं।' उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि कांग्रेस को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। 

सफिया जुबैर ने दिखाई नाराजगी

वहीं रामगढ़ से विधायक सफिया जुबैर जुबैर ने भी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा, 'नए मंत्रिमंडल में महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिला है। महिलाओं और अल्पसंख्यकों को पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं मिला है क्योंकि हमने विधानसभा में 33 फीसदी आरक्षण का बिल भी पास किया है। लेकिन जब टिकट वितरण की बात आती है तो कांग्रेस टिकट नहीं देती है जब महिला मंत्रिमंडल में विस्तार की बात आती है तो पार्टी 10 प्रतिशत पर आ जाती है। कथनी और करनी में अंतर क्यों हैं। जहां एक तरफ प्रियंका गांधी 40 फीसदी की बात करती हैं यहां 33 फीसदी भी नहीं हैं। या तो आप कह दीजिए कि ये पुरुष प्रधान देश हैं महिलाओं को कुछ नहीं मिलेगा।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर