Punjab: पंजाब के सभी शहरों और कस्बों में 1 दिसंबर से 'नाइट कर्फ्यू', मास्क नहीं पहनने पर 1000 रु. का दंड

देश
किशोर जोशी
Updated Nov 25, 2020 | 15:07 IST

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले के तहत एक दिसंबर से सभी शहरों और कस्बों में रात्रि कर्फ्यू लगाया जाएगा।

Punjab orders night curfew in all cities and towns from December 1 & fine for not wearing a mask Rs 1000
पंजाब के सभी शहरों और कस्बों में 1 दिसंबर से 'नाइट कर्फ्यू 

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पंजाब सरकार का बड़ा फैसला
  • 1 दिसंबर से राज्य के सभी शहरों और कस्बों में लागू होगा नाइट कर्फ्यू
  • मास्क नहीं पहनने पर भी होगी सख्ती, जुर्माना होगा दोगुना

चंडीगढ़: दिल्ली-एनसीआर में कोरोना की गंभीर स्थिति और पंजाब में दूसरी लहर की आशंका के बीच, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को राज्य में नए प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया है। इसके तहत सभी शहरों और कस्बों में रात के कर्फ्यू को फिर से लागू करना शामिल है। 1 दिसंबर से मास्क नहीं पहनने या सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं करने पर जुर्माना भी दोगुना कर दिया है। अब मास्क नहीं पहनने पर एक हजार रुपये का फाइन देना होगा।

सीएम ने लोगों से की अपील

15 दिसंबर को आदेशों की समीक्षा की जाएगी। सभी होटलों, रेस्तरांओं और मैरिज हॉल्स के खुलने का समय भी 9.30 बजे तक ही सीमित रहेंगे। रात 10 बजे से रात का कर्फ्यू शुरू होगा जो सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों को किसी भी परिस्थिति में इन नियमों का उल्लंघन नहीं करने की अपील की है। एक उच्च-स्तरीय राज्य कोविड की समीक्षा बैठक के बाद नए प्रतिबंधों का विवरण देते हुए, एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि कि #COVID19 नियमों का उल्लंघन करने वालों को 1000 रुपए का जुर्माना देना होगा।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिया आदेश

ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की उपलब्धता को और मजबूत करने के लिए, कैप्टन अमरिंदर ने एल II और एल III को मजबूत करने का आदेश दिया। उन्होंने अधिकारियों को उन जिलों की निरंतर निगरानी करने को कहा जो एल III सुविधाओं से लैस नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जीएमसीएच और सिविल अस्पतालों में प्रबंधन की जांच विशेषज्ञ समूह से प्राप्त रिपोर्ट की सिफारिशों के आधार पर की जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभागों को विशेषज्ञों, सुपर-विशेषज्ञों, नर्सों और पैरामेडिक्स की आपातकालीन नियुक्तियां करने का भी निर्देश दिया है।

वैक्सीन का किया जिक्र
परीक्षण के मोर्चे पर, मुख्यमंत्री ने 25,500 दैनिक आरटी-पीसीआर परीक्षण क्षमता का पूरी तरह से उपयोग करने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि जिला अस्पतालों में 24 x 7 परीक्षण उपलब्ध होने चाहिए और उन्हें अन्य सुविधाजनक स्थानों पर भी उपलब्ध कराया जाना चाहिए जहाँ लोग आसानी से पहुँच सकते हैं। जल्दी आने वाले वैक्सीन की रिपोर्टों का उल्लेख करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए डेटा बेस तैयार है तांकि फ्रंटलाइन हेल्थवर्कर्स को वैक्सीन प्राथमिकता  पर दी जा सके।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर