कोरोना के इलाज में यूपी सरकार का बड़ा कदम, पोस्ट कोविड ट्रीटमेंट करा रहे लोगों का फ्री में इलाज 

post covid treatment free in up: कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों को यूपी सरकार की तरफ से बड़ी राहत दी गई है,यहां कोरोना मरीजों का पोस्ट कोविड ट्रीटमेंट निशुल्क यानी फ्री में किया जाएगा।

 up me coroa ka free ilaz 
कोरोना मरीजों का इलाज  

सीएम योगी का एक और बड़ा फैसला ऐसे  रोगी जो कोविड संक्रमण से ठीक हो गये हैं, किन्तु अन्य  post #Covid उपचार के लिए उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती रहना पड़े उनका उपचार अब निःशुल्क होगा। प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार का कहना है कि मेडिकल कॉलेजों में भर्ती होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी अगर उन्हें पोस्ट कोविड ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल में भर्ती रहना पड़ता है, तो उनका मुफ्त इलाज किया जाएगा, उन्होंने कहा कि यूपी सरकार उन लोगों को मुफ्त इलाज देगी जो कोविड से उबर चुके हैं।

वहीं  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के जिला अस्पतालों समेत सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध चिकित्सकों, औषधियों तथा उपकरणों की जानकारी आम जनता को देने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन विकसित करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने बुधवार को टीम-9 की बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए "स्वास्थ्य विभाग के अधीन संचालित सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा जिला अस्पतालों में उपलब्ध सुविधाओं का एक डेटाबेस तैयार किया जाए।

इनकी जियो मैपिंग करते हुए, चिकित्सकों की संख्या, पैरामेडिकल स्टाफ की स्थिति, दवाओं की उपलब्धता, भवन, उपकरणों की स्थिति आदि के संबंध में जानकारी देने वाला मोबाइल एप्लिकेशन विकसित किया जाना चाहिए। यह आम जनता के लिए उपयोगी होगा।"

"टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट का मंत्र हो रहा कारगर 

उन्होंने दावा किया "टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट के मंत्र के अनुरूप कोरोना के खिलाफ हमारी रणनीति कारगर सिद्ध हो रही है। एक ओर जहां प्रदेश में कोविड टेस्टिंग में हर दिन एक नया रिकॉर्ड बन रहा है, वहीं रोजाना आने वाले नए मामलों में निरंतर कमी आती जा रही है। साथ ही स्वस्थ होने की दर बेहतर होती जा रही है।

उपचाराधीन मामलों में आई कमी अच्छे संकेत देती है।" मुख्यमंत्री ने कहा कि 18 से 44 साल आयु वर्ग का टीकाकरण तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि एक जून से सभी 75 जिलों में 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के कोविड टीकाकरण का कार्यक्रम शुरू हो रहा है। न्यायिक सेवा के लोगों, मीडिया प्रतिनिधियों के अलावा शिक्षकों व कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए सभी जिलों में दो-दो केंद्र बनाये जाएं।

"हर जिले में 'अभिभावक स्पेशल' बूथ बनाये जाएंगे"

योगी ने जोर दिया कि जिन अभिभावकों के बच्चे 12 वर्ष से कम आयु के हैं, उनका टीकाकरण प्राथमिकता के साथ किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा 'इस संबंध में विधिवत कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए। हर जिले में 'अभिभावक स्पेशल' बूथ बनाये जाएंगे। अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें टीकाकरण के लिए आमंत्रित किया जाए। यह अभिभावक के साथ-साथ बच्चों की सुरक्षा के लिए उपयोगी होगा। इसे अभियान के रूप में संचालित किया जाना चाहिए।'

"कोविड जांच में उत्तर प्रदेश हर दिन एक नया रिकॉर्ड बना रहा"

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि कोविड जांच में उत्तर प्रदेश हर दिन एक नया रिकॉर्ड बना रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में तीन लाख 58 हजार 273 नमूनों की जांच की गई है। इसमें एक लाख 48 हजार नमूने आरटीपीसीआर के लिए जिलों से भेजे गए हैं। योगी ने कहा 'एक दिन में इतनी जांच करने वाला एकमात्र राज्य उत्तर प्रदेश है। वर्तमान में जांच संक्रमण दर मात्र एक फीसदी रह गई है।'
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर