'लद्दाख में आंख उठाने वालों को करारा जवाब मिला है'; चीन पर PM मोदी का बड़ा बयान

देश
लव रघुवंशी
Updated Jun 28, 2020 | 11:19 IST

PM Narendra Modi Mann ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' कार्यक्रम में चीन को बड़ा संदेश दिया है। पीएम मोदी ने कहा है कि लद्दाख में आंख उठाने वालों को करारा जवाब मिला है।

Narendra Modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • लद्दाख में हमारे जो वीर जवान शहीद हुए हैं उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है: पीएम मोदी
  • लद्दाख में भारत की भूमि पर आंख उठाकर देखने वालों को करारा जवाब मिला है: मोदी
  • हमारे वीर सैनिकों ने दिखा दिया है कि वो कभी भी मां भारती के गौरव पर आंच नहीं आने देंगे: PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 'मन की बात' रेडियो कार्यक्रम में चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में जारी सीमा विवाद पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लद्दाख में आंख उठाने वालों को करारा जवाब मिला है। भारत दोस्ती निभाना जानता है और जवाब भी देना जानता है। वीर सपूतों के बलिदान को देश कभी नहीं भूलेगा। हमारे वीर सैनिकों ने दिखा दिया है कि वो कभी भी मां भारती के गौरव पर आंच नहीं आने देंगे। लद्दाख में हमारे वीर जवान शहीद हुए हैं, उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है, श्रद्धांजलि दे रहा है। पूरा देश उनका कृतज्ञ है, उनके सामने नत-मस्तक है। इन साथियों के परिवारों की तरह ही हर भारतीय इन्हें खोने का दर्द भी अनुभव कर रहा है। 

उन्होंने कहा कि अपने वीर-सपूतों के बलिदान पर उनके परिजनों में गर्व की जो भावना है, देश के लिए जो जज्बा है- यही तो देश की ताकत है। आपने देखा होगा जिनके बेटे शहीद हुए वो माता-पिता अपने दूसरे बेटों को भी घर के दूसरे बच्चों को भी सेना में भेजने की बात कर रहे हैं। हमारा हर प्रयास इसी दिशा में होना चाहिए, जिससे सीमाओं की रक्षा के लिए देश की ताकत बढ़े, देश और अधिक सक्षम बने, देश आत्मनिर्भर बने- यही हमारे शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि भी होगी।

पीएम मोदी ने कहा, 'भारत ने जिस तरह मुश्किल समय में दुनिया की मदद की, उसने आज, शांति और विकास में भारत की भूमिका को और मजबूत किया है। दुनिया ने भारत की विश्व बंधुत्व की भावना को भी महसूस किया है। अपनी संप्रभुता और सीमाओं की रक्षा करने के लिए भारत की ताकत और भारत की प्रतिबद्धता को भी देखा है।'

'जो देश हमसे पीछे थे, वो आगे निकल गए'

मोदी ने कहा, 'बहुत से लोग मुझे पत्र लिखकर बता रहे हैं कि वो इस ओर बढ़ चले हैं। इसी तरह तमिलनाडु के मदुरै से मोहन रामामूर्ति जी ने लिखा है कि वो भारत को रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनते हुए देखना चाहते हैं। साथियों, आजादी के पहले हमारा देश डिफेंस सेक्टर में दुनिया के कई देशों से आगे था। हमारे यहां अनेकों तोपों की फैक्ट्रियां होती थीं। उस समय कई देश जो हमसे बहुत पीछे थे वो आज हमसे आगे हैं।' 

पीएम ने कहा कि असम से रजनी जी ने मुझे लिखा, उन्होंने पूर्वी लद्दाख में जो कुछ हुआ, वो देखने के बाद एक प्रण लिया है- प्रण ये कि वो लोकल ही खरीदेंगे, इतना ही नहीं लोकल के लिए वोकल भी होंगी। ऐसे संदेश मुझे देश के हर कोने से आ रहे हैं। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर