चीन के आरोपों की सेना ने खोली पोल, कहा-PLA ने की फायरिंग, हमने अत्यंत संयम बरता

देश
आलोक राव
Updated Sep 08, 2020 | 12:51 IST

Army statement on firing at LAC: भारतीय सेना ने चीन के आरोपों को खारिज किया है। सेना ने कहा है कि पीएलए के जवान भारतीय चौकी के समीप आने की कोशिश कर रहे थे और उन्होंने हवा में गोलियां चलाईं।

 PLA troops fired shots in air Indian troops exercised great restraint : Army
चीन के आरोपों की सेना ने खोली पोल, कहा-PLA ने की फायरिंग। -फाइल फोटो  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • चीन ने आरोप लगाया है कि भारतीय फौज ने एलएसी को पार किया और फायरिंग की
  • भारतीय सेना ने चीन के आरोपों को खारिज किया, सेना ने कहा-हमने नहीं पीएलए ने की फायरिंग
  • सात सितंबर की रात पैंगोग त्सो लेक के दक्षिणी हिस्से में हुई फायरिंग की घटना

नई दिल्ली : पूर्वी लद्दाख में सोमवार को हुई 'वॉर्निंग शाट्स' की घटना पर भारतीय सेना ने चीन के झूठ की पोल खोल दी है। चीन ने भारतीय सैनिकों पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार करने और फायरिंग करने का आरोप लगाया है। चीन के इस दावे को खारिज करते हुए भारत ने सीमा पर उकसावे की कार्रवाई के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया है। भारतीय सेना ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख में चीन की तरफ से तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाई हो रही है। इस नए विवाद के लिए सेना ने चीन के पश्चिमी थियेटर कमान को जिम्मेदार ठहराया है। यह कमान ही भारत सीमा पर तैनात है। सेना ने कहा है कि वेस्टर्न कमान की ओर से सोमवार रात जारी बयान से देश और दुनिया के लोगों को गुमराह करने की कोशिश की गई है।

सेना ने बयान जारी कर चीन के आरोपों को नकारा
सेना की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया, 'एलएसी पर तनाव एवं गतिरोध कम करने के लिए भारत प्रतिबद्ध है लेकिन चीन की तरफ से सीमा पर तनाव बढ़ाने के लिए उकसावे की कार्रवाई की जा रही है। भारतीय सेना ने किसी स्तर पर भी एलएसी को पार नहीं किया और न ही फायरिंग सहित किसी तरह का आक्रामक रवैया दिखाया।' बयान में आगे कहा गया, 'वास्तव में यह पीएलए है जो करारों का लगातार उल्लंघन और आक्रामक तेवर दिखा रही है। उसकी तरफ से यह सब कुछ ऐसे समय हो रहा है जब सीमा पर तनाव कम करने के लिए सैन्य, कूटनीतिक एवं राजनीतिक स्तर पर बातचीत चल रही है।'

सात सितंबर की रात हुई फायरिंग की घटना
सात सितंबर की घटना के बारे में सेना ने कहा, 'पीएलए के सैनिक एलएसी के समीप हमारे एक अग्रिम पोस्ट के नजदीक आने की कोशिश कर रहे थे, यह देखकर जब हमारे जवानों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने हवा में कुछ राउंड गोलियां चलाईं।' सेना ने कहा, 'पीएलए की तरफ से उकसाने वाली गंभीर कार्रवाई होने के बावजूद हमारे जवानों ने अत्यंत संयम बरता और एक परिपक्व एवं जिम्मेदार बल के रूप में व्यवहार किया।'

सेना ने कहा-किसी भी कीमत पर संप्रभुता की रक्षा करेंगे
सेना ने कहा, 'भारतीय फौज शांति एवं सौहार्द बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, फिर भी वह किसी भी कीमत पर अपनी राष्ट्रीय एकता एवं संप्रभुता की रक्षा करेगी। चीन के वेस्टर्न थियेटर कमान ने बयान जारी कर घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने का प्रयास किया है।' बता दें कि पूर्वी लद्दाख के पैंगोग त्सो लेक के दक्षिणी हिस्से में फायरिंग की घटना के बाद नया विवाद पैदा हो गया है। इस घटना पर पीएलए के वेस्टर्न कमान के प्रवक्ता ने सोमवार रात अपने बयान में आरोप लगाते हुए कहा, 'भारतीय फौज ने एलएसी को पार कर भारत-चीन सीम के पश्चिमी सेक्शन बैंगांग हुनान में दाखिल हुई। इस दौरान उसने पेट्रोलिंग कर रहे पीएलए के सैनिकों की तरफ फायरिंग की।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर