आतंक मुक्त माहौल बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की तभी बातचीत संभव- भारत

यूएनएसी का अध्यक्ष चुने जाने के बाद भारत ने एक बार फिर कहा है कि आतंकमुक्त माहौल बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है। ऐसा होने पर भी बातचीत संभव है।

,India, Pakistan, Terrorism, United Nations Security Council
संयुक्त राष्ट्र में भारतीय राजदूत हैं टीएस तिरुमूर्ति 

भारत ने पाकिस्तान के साथ शांतिपूर्ण संबंध रखने की अपनी इच्छा दोहराई लेकिन जोर देकर कहा कि यह तभी हो सकता है जब देश आतंकवाद मुक्त माहौल सुनिश्चित करे।संयुक्त राष्ट्र में एक आधिकारिक बयान में संयुक्त राष्ट्र में भारतीय राजदूत, टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि दोनों पड़ोसी देशों के बीच के मुद्दों को आतंक, शत्रुता और हिंसा से मुक्त वातावरण में हल किया जाना चाहिए।उन्होंने कहा, "ऐसा माहौल बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है। पाकिस्तान को विश्वसनीय और सत्यापन योग्य कार्रवाई करनी चाहिए ताकि भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद के लिए अपने नियंत्रण वाले किसी भी क्षेत्र का इस्तेमाल न होने दे।

आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को खरी खरी
संयुक्त राष्ट्र में भारतीय राजदूत, टीएस तिरुमूर्ति  ने कहा कि आतंकवाद का मुकाबला करने और अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देशों के साथ संबंधों को काटने के लिए भारत की मंशा के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि हमें हिंसा और लक्षित हमलों के सवाल का समाधान करना चाहिए। सभी हिंसा समाप्त होनी चाहिए। अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के साथ संबंध भी काट दिया जाना चाहिए।"

समुद्री सुरक्षा पर 9 अगस्त को मीटिंग की संभावना
तिरुमूर्ति ने जोर देकर कहा कि हम एक बार फिर अफगानिस्तान में आतंकवादी शिविर नहीं लगा सकते क्योंकि इसका भारत पर सीधा प्रभाव पड़ेगा।इस बीच भारत 9 अगस्त को समुद्री सुरक्षा पर एक आभासी, उच्च स्तरीय खुली बहस आयोजित करने की योजना बना रहा है और बैठक की अध्यक्षता प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे, जिसकी पुष्टि तिरुमूर्ति ने की है।

भारत ने रविवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की घूर्णन अध्यक्षता ग्रहण की और महीने के दौरान समुद्री सुरक्षा, शांति स्थापना और आतंकवाद से संबंधित हस्ताक्षर कार्यक्रमों की मेजबानी करेगा।UNSC में भारत का यह आठवां कार्यकाल है।  2 अगस्त को  जब तिरुमूर्ति ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में महीने के लिए परिषद के कार्य कार्यक्रम पर एक हाइब्रिड प्रेस ब्रीफिंग की थी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर