Noida Dengue Cases: दिल्ली से सटे नोएडा में डेंगू के मामले 500 के पार हुए, हर दिन नए मामले आ रहे सामने

Noida Dengue case: नोएडा में डेंगू का खतरा मंडराने लगा है डेंगू के मरीजों की तेजी से बढ़ रही संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग इससे निपटने की तैयारियों में लगा है वहीं प्राइवेट अस्पताल भी बेड बढ़ा रहे हैं। 

dengue in noida
नोएडा में डेंगू के मामले 500 के पार हुए 

Noida Dengue Case Update: पिछले 24 घंटों में 14 नए मामलों के साथ, जिले में डेंगू के मामले शनिवार को 500 का आंकड़ा पार कर 509 हो गए। आधिकारिक तौर पर अब 68 सक्रिय मामले हैं। छलेरा, सदरपुर, सूरजपुर और निठारी जैसे शहरी गांवों के क्षेत्रों में डेंगू के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं।

'टाइम्स ऑफ इंडिया' की खबर के मुताबिक हालांकि, निजी और सरकारी अस्पतालों ने कहा कि मामले अभी भी बहुत अधिक हैं और हर दिन नए मामले सामने आ रहे हैं। अधिकांश निजी अस्पतालों में बेड की कमी देखी जा रही है और अब वे बेड का उपयोग कर रहे हैं जिन्हें कोविड रोगियों के लिए आरक्षित रखा गया था।

इनमें से अधिकांश मामलों को जिले की टैली में नहीं जोड़ा जाता है क्योंकि सभी नमूनों का परीक्षण सरकार द्वारा अनुमोदित दो प्रयोगशालाओं द्वारा नहीं किया जाता है। डॉक्टरों का यह भी कहना है कि इस साल डेंगू और टाइफाइड के कॉम्बिनेशन के कई मामले देखने को मिल रहे हैं, खासकर बच्चों में।

रुके पानी की जांच के लिए कंटेनमेंट सर्वे जारी

इस बीच स्वास्थ्य विभाग रिहायशी इलाकों के आसपास रुके पानी की जांच के लिए कंटेनमेंट सर्वे जारी रखे हुए है, जिला मलेरिया अधिकारी का कहना है कि 'हमें उम्मीद है कि लोग ताजा पानी निकालना जारी रखेंगे और घर में जमा पानी नहीं रखेंगे। थर्मोकोल बॉक्स एक विशेष खतरा हैं और इसे खाली कर दिया जाना चाहिए। हमें हाई-राइज सोसायटियों के बेसमेंट में पानी की भी शिकायत मिल रही है और हम अधिकारियों के साथ मिलकर कार्रवाई कर रहे हैं।'

नोएडा में कोई नया स्क्रब टाइफस (scrub typhus) या लेप्टोस्पायरोसिस (Leptospirosis cases) का मामला सामने नहीं आया है। इस साल कुल पांच स्क्रब टाइफस और तीन लेप्टोस्पायरोसिस मामले सामने आए।

मरीजों का उपचार भी सीनियर डॉक्टर की निगरानी में

वहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी गौतमबुद्ध नगर  का कहना है कि डेंगू को लेकर सभी अस्पतालों में अलर्ट जारी कर दिया गया है, बेड की समुचित व्यवस्था कराई जा रही है साथ ही मरीजों का उपचार भी सीनियर डॉक्टर की निगरानी में किया जा रहा है।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर