Delhi: कोरोना के रिजर्व बेड्स को लेकर दिल्ली सरकार का अहम फैसला, डेंगू, मलेरिया के इलाज के लिए होंगे इस्तेमाल

दिल्ली समाचार
पुलकित नागर
पुलकित नागर | SPECIAL CORRESPONDENT
Updated Oct 30, 2021 | 11:12 IST

दिल्ली सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। डेंगू और मलेरिया के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए कोविड के लिए रिजर्व एक तिहाई बेड्स का इस्तेमाल अब डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के इलाज के लिए किया जा सकेगा।

Corona reserved beds will be used for the treatment of dengue chikungunya in Delhi
कोरोना के रिजर्व बेड्स डेंगू के इलाज के लिए होंगे इस्तेमाल  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • दिल्ली में डेंगू-चिकुनगुनिया रिजर्व बेड बढ़ाने का आदेश
  • कोरोना के इलाज के रिजर्व बेड डेंगू- चिकनगुनिया मरीजों के लिए होंगे इस्तेमाल
  • दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया आदेश

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के अस्पतालों में कोरोना के लिए रिजर्व बेड्स के एक तिहाई बेड्स का इस्तेमाल डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के इलाज के लिए किया जा सकेगा। दिल्ली में बढ़ते डेंगू मलेरिया और चिकनगुनिया के केसेज को देखते हुए दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने यह आदेश जारी किया गया है। इससे पहले 18 अक्टूबर को भी कोरोना के लिए रिजर्व्ड बेड्स की संख्या में कमी करने का आदेश जारी हुआ था।

कोरोना के बेड्स में कमी

लोकनायक अस्पताल में कोरोना के लिए रिज़र्व 700 बेड्स की संख्या घटाकर 450 कर दी गई थी, जबकि राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कोरोना के लिए रिज्वर्ड 600 बेड्स की संख्या घटाकर 350 कर दी गई थी प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम्स को भी आदेश दिया गया था कि जिनकी क्षमता 100 बेड्स या इससे ऊपर की है, वे अपनी कुल बेड्स क्षमता के 30% की जगह केवल 10% बेड्स कोरोना के लिए रिजर्व रख सकते हैं।

हो सकेगा डेंगू और चिकनगुनिया के मरीजों का इलाज

लेकिन नए आदेश के अनुसार, अब मौजूदा समय में रिजर्व्ड कोरोना बेड्स में से भी एक तिहाई पर डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का इलाज हो सकेगा। आपको बता दें कि शुक्रवार को ही दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 37 नये मामले सामने आये जबकि संक्रमण की दर 0.06 प्रतिशत रही।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर