NITI आयोग ने किया आगाह, सर्दियों में आ सकती है कोरोना की दूसरी लहर 

नीती आयोग के सदस्य ने कहा कि भारत इस समय पहले से ज्यादा बेहतर स्थिति में है लेकिन देश को अभी और आगे जाना है क्योंकि देश की 90 प्रतिशत आबादी अभी भी इस महामारी के खतरे के दायरे में है।

NITI Aayog’s VK Paul says Cannot rule out possibility of second wave of Covid-19 during winters
NITI आयोग ने किया आगाह, सर्दियों में आ सकती है कोरोना की दूसरी लहर।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • नीति आयोग के सदस्य ने कहा कि सर्दियों में कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं
  • एक साक्षात्कार में यूरोप में सामने आ रहे कोरोना के नए मामलों का जिक्र किया
  • पॉल ने कहा कि वैक्सीन उपलब्ध हो जाने के बाद इसके भारत में वितरण की समस्या नहीं

नई दिल्ली : देश में पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस के नए मरीजों की संख्या और इस महामारी से होने वाली मौतों में कमी आई है। इस बात को नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने भी दोहराया है। पॉल ने रविवार को कहा कि पिछले तीन सप्ताह में कोरोना वायरस के नेए केस और इससे जुड़ी मौतों में कमी आई है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि सर्दी के मौसम में कोविड-19 की दूसरी लहर से इंकार नहीं किया जा सकता।

यूरोप के नए मामलों का जिक्र किया
कोविड-19 वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय एक्सपर्ट ग्रुप के अध्यक्ष पॉल ने एक साक्षात्कार में यूरोप में कोरोना के नए केस में हो रही वृद्धि का जिक्र करते हुए कहा कि भारत में सर्दी के मौसम में कोविड-19 की दूसरी लहर आ सकती है। उन्होंने कहा, 'भारत में ठंड के मौसम में हम कोरोना की दूसरी लहर से इंकार नहीं कर सकते। यह दोबारा हो सकता है क्योंकि इस समय हम वायरस के बारे में अभी जानकारी प्राप्त कर रहे हैं।'

भारत की स्थिति पहले से बेहतर
नीति आयोग के सदस्य ने कहा कि भारत इस समय पहले से ज्यादा बेहतर स्थिति में है लेकिन देश को अभी और आगे जाना है क्योंकि देश की 90 प्रतिशत आबादी अभी भी इस महामारी के खतरे के दायरे में है। उन्होंने कहा, 'भारत में पिछले तीन सप्ताह में कोरोना के नए केस और इससे होने वाली मौतों की संख्या में कमी पाई गई है और यह महामारी ज्यादातर राज्यों में अब स्थिर हो गई है। फिर भी केरल, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और तीन-चार केंद्रशासित प्रदेशों में कोविड-19 के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।'

वितरण एवं भंडारण में समस्या नहीं
पॉल ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध हो जाने पर यह लोगों के लिए उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने कहा कि बड़ी संक्या में वैक्सीन के स्टोरेज के लिए भारत में कोल्ड स्टोरेज की एक लंबी चेन है और जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। पॉल ने कहा कि वैक्सीन के आ जाने पर भारत में उसके वितरण और रखरखाव में कोई समस्या नहीं होगी और इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक उपलब्ध कराया जा सकेगा। 

भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 74,94,551
देश में रविवार को पिछले एक दिन में कोविड-19 के 61,871 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 74,94,551 हो गई। वहीं, अब तक 65,97,209 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। रविवार को लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस के उपचाराधीन मरीजों की संख्या आठ लाख से कम बनी रही। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से संक्रमित 7,83,311 लोगों का इलाज चल रहा है जो संक्रमण के कुल मामलों का 10.45 फीसदी है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर