देश में 20 से ज्यादा हाई-वे, जहां पर उतर सकेंगे फाइटर प्लेन, चीन-पाक पर रहेगी नजर

देश
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Nov 16, 2021 | 12:53 IST

PM Modi Purvanchal Expressway Inauguration: देश में 20 से ज्यादा हाई-वे तैयार किए जा रहे हैं, जहां पर फाइटर प्लेन की लैडिंग हो सकेगी। सरकार इन हाई-वे के जरिए पाकिस्तान-चीन पर आपात स्थिति में नजर रख सकेगी।

Airstrips on Highways
देश में 20 से ज्यादा हाई-वे पर बनाई जा रही हैं एयरस्ट्रिप  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • यूपी में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के साथ तीन हाई-वे ऐसे हैं, जहां पर फाइटर प्लेन की लैंडिंग हो सकेगी।
  • राजस्थान, यूपी, पश्चिम बंगाल, असम में हाई-वे पर एयर स्ट्रिप बनाकर पाकिस्तान-चीन पर नजर रखी जा सकेगी।
  • एयर फोर्स इन हाई-वे पर सुखोई, मिराज, राफेल जैसे विमानों की लैडिंग करा सकेगी।

PM Modi Purvanchal Expressway Inauguration: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज  पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने जा रहे हैं। इस एक्सप्रेस-वे पर वह C-130 J हरक्यूलिस  विमान से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ लैंड कर सकते हैं। इसके बाद करीब 30 विमान एयर स्ट्रिप पर भी फ्लाई पास्ट करेंगे। 341 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर 3.2 किलोमीटर लंबी एयर स्ट्रिप बनाई गई है। उत्तर प्रदेश में अब ऐसे 3 एक्सप्रेस-वे बन गए हैं, जहां पर फाइटर प्लेन आपात स्थिति में लैंड कर सकते हैं।

हाई-वे पर फाइटर प्लेन लैंड कराने की जरूरत क्यों

युद्ध के दौरान एयरबेस के रन-वे नष्ट होने की स्थिति में, आस-पास के हाई-वे को रन-वे में तब्दील किया जाता है। इसके लिए रणनीतिक रुप से महत्वपूर्ण एयरबेस के करीब के हाई-वे को रन-वे के हिसाब से तैयार किया जाता है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर सुखोई, मिराज, राफेल जैसे फाइट प्लेन पर लैंड कर सकेंगे। जाहिर है इससे भारतीय वायुसेना  को नई ताकत मिलेगी।

इन हाईवे पर सेना उतार सकेगी फाइटर प्लेन

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार देश में इस समय 20 से ज्यादा एक्सप्रेस-वे, नेशनल हाई-वे इस तरह बनाए जा रहे हैं, जहां पर आपात स्थिति में फाइटर प्लेन उतारे जा सकते हैं। ये वो हाई-वे हैं, जहां पर एयरस्ट्रिप या तो विकसित की जा चुकी है या फिर विकसित हो रही है। इसके तहत निम्नलिखित हाई-वे बनाए जा रहे हैं-

1.पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे
2.आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे
3. राजस्थान का फलोदी-जैसलमेर मार्ग 
4. राजस्थान का  बाड़मेर-जैसलमेर मार्ग, 
5.  खड़गपुर - बालासोर मार्ग
6. खड़गपुर-क्योंझर मार्ग
7. पानागढ़/केकेडी के पास
8. तमिलनाडु में चेन्नई- पुडुचेरी मार्ग
9., आंध्र प्रदेश में नेल्लोर- ओंगोल मार्ग
10. आंध्र प्रदेश में ओंगोल - चिलकालुरिपेट मार्ग
11. हरियाणा में मंडी डबवाली से ओधन मार्ग
12. पंजाब में संगरूर के नजदीक
13.  गुजरात में भुज-नलिया मार्ग
14. गुजरात में सूरत-बड़ौदा मार्ग
15. जम्मू और कश्मीर के बनिहाल-श्रीनगर मार्ग
16. लेह/न्योमा क्षेत्र 
17. असम में जोरहाट-बाराघाट मार्ग
18.  असम में शिवसागर के नजदीक
19 .असम में बागडोगरा-हाशिमारा सड़क 
20. असम में हाशिमारा-तेजपुर मार्ग 
21. असम में हाशिमारा-गुवाहाटी मार्ग
22.यमुना एक्सप्रेस-वे
23.राजस्थान में नेशनल हाई-वे 925 ए

पाक-चीन पर सीधी नजर

देश में 20 से ज्यादा हाई-वे, आपात स्थिति में लैंडिंग के लिए तैयार किए जा रहे हैं। उनमें सबसे ज्यादा पाकिस्तान और चीन को देखते हुए तैयार किए जा रहे हैं। इन हाई-वे के जरिए भारतीय वायु सेना किसी भी आपात स्थिति में पाकिस्तान और चीन को मुहतोड़ जवाब दे सकेगी। यूपी के यमुना-एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से, भारत और चीन दोनों दुश्मनों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा राजस्थान, पंजाब, गुजरात जम्मू और कश्मीर के हाई-वे, के जरिए पाकिस्तान पर नजर रखी जा सकेगी। जबकि लेह-लद्दाख, असम, पश्चिम बंगाल के हाई-वे से चीन पर नजर रहेगी। इसी तरह आंध्र प्रदेश के राजमार्गों से बंगाल की खाड़ी में किसी आपात स्थिति में वायु सेना को मदद मिल सकेगी।

2015 में यमुना एक्सप्रेस-वे उतरा था पहली बार फाइटर प्लेन

देश में पहली बार यमुना एक्‍सप्रेस-वे पर 2015 में मिराज-2000 की लैंडिंग कराई गई थी। इसके लिए यमुना एक्सप्रेस-वे को पब्लिक के लिए कुछ समय के लिए बंद कर दिया गया था। इसके बाद आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर  2016 में  मिराज और सुखोई विमानों की लैंडिंग हुई थी। इसी तरह सितंबर 2021 में राजस्थान में नेशनल हाई-वे 925ए पर फाइटर प्लेन की लैडिंग कराई गई थी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर