ममता बनर्जी का दिल्ली दौरा आज से, 2024 आम चुनाव पर नजर

देश
ललित राय
Updated Jul 26, 2021 | 08:29 IST

ममता बनर्जी 26 जुलाई से पांच दिन के दौरे पर दिल्ली में रहेंगी। उनके इस दौरे को गैर एनडीए दलों को मिलाकर एक मजबूत फ्रंट तैयार करने की कवायद मानी जा रही है।

Mamata Banerjee's Delhi visit, General Elections 2024, Narendra Modi, Third Front, Sharad Pawar, Congress, NCP, TMC
दिल्ली दौरे पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी 

मुख्य बातें

  • पांच दिन के दिल्ली दौरे पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी
  • 28 जुलाई को मीटिंग में शामिल होने के लिए कांग्रेस, आरजेडी और एसपी को न्यौता
  • कांग्रेस का जवाब, विचार के बाद ही मीटिंग में शामिल होने का फैसला

2024 के लोकसभा चुनावों पर नजर रखते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी सोमवार से अपनी दिल्ली यात्रा की शुरुआत करने वाली हैं। ममता बनर्जी, जो 29 जुलाई तक दिल्ली में रहेंगी। 2024 में बीजेपी के खिलाफ जमीन तैयार करने की कवायद मानी जा रही है। इस संबंध में वो विपक्षी नेताओं से मिलेंगी। 2021 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में टीएमसी की जोरदार जीत के बाद से बनर्जी के नेतृत्व वाला संगठन अगले लोकसभा चुनावों में भगवा पार्टी को लेने के लिए 'एकजुट' विपक्ष के लिए संदेश भेज रही हैं। 

गैर एनडीए मोर्चा तैयार करने की कवायद
ममता बनर्जी को कई विपक्षी नेताओं से मिलना है, लेकिन कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ उनकी मुलाकात राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है।विशेष रूप से, बैठक का बहुत महत्व है क्योंकि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर, जिन्होंने 2021 के बंगाल चुनावों में टीएमसी के लिए चुनाव अभियान को सफलतापूर्वक संचालित किया, सोनिया, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा सहित गांधी परिवार से मिले।

कांग्रेस का बयान, मीटिंग के लिए विचार के बाद फैसला
कांग्रेस के संबंध में कई मुद्दों पर चर्चा करने के अलावा, किशोर और गांधी परिवार ने अगले आम चुनाव में भाजपा से मुकाबला करने की रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया।दिलचस्प बात यह है कि बनर्जी की राष्ट्रीय राजधानी की यात्रा से एक दिन पहले, भव्य पुरानी पार्टी ने टीएमसी सांसद और ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी को निशाना बनाने के लिए पेगासस विवाद पर भाजपा सरकार के खिलाफ ट्वीट किया। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन जल्द ही अपनी पार्टी के सफल चुनाव अभियान टैग "खेला होबे" ​​के साथ रैंड पुरानी पार्टी के ट्वीट का जवाब देकर जवाब देने वाले थे।

क्या कहते हैं जानकार
यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या गांधी परिवार के किसी क्षेत्रीय नेता को केंद्र में भाजपा से मुकाबला करने के लिए केंद्र के मंच पर ले जाता है क्योंकि इससे यह भी संकेत मिलेगा कि कांग्रेस अब और मजबूत नहीं है। राष्ट्रीय स्तर पर मोदी के नेतृत्व वाली ब्रिगेड का मुकाबला करें। टीएमसी ने बार-बार कहा है कि 2024 के आम चुनावों में भाजपा को हराने के लिए एक बहुत मजबूत विपक्ष की जरूरत है।

ममता बनर्जी का शानदार नेतृत्व निश्चित रूप से केंद्र में फासीवादी-केंद्रित शासन के खिलाफ एक बहुत मजबूत विपक्ष के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहा है। इसलिए, यह स्वाभाविक है कि टीएमसी सभी विपक्षी दलों को बोर्ड में लाने के लिए उत्सुक होगी, बनर्जी अपने दिल्ली दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलने वाली हैं। टीएमसी के बीजेपी को हराने के बाद बंगाल में जीत दर्ज करने के बाद से पीएम के साथ यह उनकी पहली मुलाकात होगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर