Nisarga Helpline Number: महाराष्ट्र प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर, निसर्ग तूफान में मिलेगी मदद

देश
प्रभाष रावत
Updated Jun 03, 2020 | 14:03 IST

Nisarga cyclone Helpline Number: निसर्ग चक्रवाती तूफान को लेकर राहत और बचाव कार्य की तैयारी को देखते हुए मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।

Nisarg cyclone helpline number
निसर्ग चक्रवात हेल्पलाइन नंबर  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • निसर्ग चक्रवात को लेकर प्रशासन तैयार, गुजरात- महाराष्ट्र के टकराएगा तूफान
  • मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों में हो सकती है भारी बारिश
  • लोगों की मदद के लिए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर

नई दिल्ली: देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई सहित महाराष्ट्र और गुजरात के कई इलाकों का सामान आज चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' से होने जा रहा है। भारतीय नौसेना, एनडीआरएफ और सरकारी एजेसियों ने अपनी तैयारियां कर ली हैं और 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ तूफान आने के इंतजार है। इस बीच सरकार की ओर से क्या करना है और क्या नहीं करना है, इसकी गाइडलाइन जारी की गई हैं और साथ ही कुछ हेल्पलाइन नंबर भी जारी हुए हैं।

भारत के मौसम विभाग (IMD) ने चेतावनी थी है कि अरब सागर में अवसाद में बदल गया यह चक्रवाती तूफान, 3 जून को महाराष्ट्र और गुजरात से टकराएगा। आईएमडी ने यह भी चेतावनी दी है कि महाराष्ट्र के कुछ अन्य हिस्सों के साथ मुंबई में कल भारी वर्षा होने की उम्मीद है। शहरवासियों की मदद के लिए बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने भी तैयारी कर ली है। बीएमसी ने ट्विटर हैंडल पर अपने दिशानिर्देशों को अपलोड किया है।

निसर्ग तूफान के लिए हेल्पलाइन नंबर: तूफान को लेकर मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य इलाकों के लिए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर इस प्रकार हैं- 022 2202 7990, 022 2279 4229, 9321587143, 9321590561।

तूफान के दौरान क्या करना है और क्या नहीं करना इसके लिए भी गाइडलाइन जारी की गई है। इनके अनुसार, 

  • चक्रवात को लेकर रेडियो और टेलीविजन पर जारी निर्देशों पर ध्यान दें।
  • महत्वपूर्ण और जरूरी दस्तावेजों और गहनों को प्लॉस्टिक बैग में रखें।
  • चक्रवात आने के समय घर में छिपने की सुरक्षित जगह पहले ढूंढ लें। कमरे के बीच में रहें।
  • चक्रवात के समय घर में बिजली की लाइन को बंद कर दें।
  • पहले से क्षतिग्रस्त मकानों से दूरी बनाकर रखें।
  • तेल और ज्वलनशील पदार्थों को रिसने न रिसने दें। इसे तुरंत साफ कर लें।
  • अफवाहों पर भरोसा न करें और न ही इन्हें फैलाएं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर