अगर आप हेल्दी हैं तो घरेलू यात्रा के लिए RT-PCR की जरुरत नहीं, ICMR ने जारी की एडवाइजरी

देश
रामानुज सिंह
Updated May 04, 2021 | 22:55 IST

देश में कोरोनो वायरस मामलों में लगातार बढ़ोतरी के बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने एक एडवाइजरी जारी है। जिसमें कई बातें कही गई हैं।

If you are healthy then RT-PCR is not required for domestic travel, ICMR issued advisory
आरटी-पीसीआर टेस्ट किसे जरूरी नहीं है  |  तस्वीर साभार: PTI

देश में कोरोनो वायरस मामलों में एक खतरनाक उछाल के बीच, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने मंगलवार को  RT-PCR टेस्ट को आसान और अधिकांश लोगों तक पहुंचाने के उपायों की सिफारिश की, जिसमें कहा गया है कि प्रयोगशालाओं पर असाधारण केस लोड के कारण टेस्ट के टारगेट को पूरा करा मुश्किल हो रहा है। साथ ही यह भी कहा कि किस व्यक्ति को टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। 

ICMR ने कहा कि टेस्ट प्रयोगशालाओं पर बोझ बढ़ा रही हैं। एक राज्य से दूसरे राज्य की यात्रा करने वाले स्वस्थ लोगों के लिए RT-PCR टेस्ट कराने की जरुरत पर पूरी तरह रोक लगायी जा सकती है। एडवाइजरी में कहा गया है कि RAT या RT-PCR टेस्ट में संक्रमित पाए गए लोगों को दोबारा RT-PCR टेस्ट नहीं कराना है और संक्रमण से उबर चुके लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दिए जाने के दौरान भी टेस्ट कराने की जरुरत नहीं है।

ICMR ने कहा कि वर्तमान में COVID-19 मामलों और मौतों का एक अभूतपूर्व उतार-चढ़ाव पूरे भारत में देखा जा रहा है। ओवर ऑल पॉजिटिविटी रेट 20% से ऊपर है। टेस्टिंग-ट्रैकिंग-ट्रेसिंग, आइसोलेशन पॉजिटिव रोगियों का घर पर इलाज SARS-CoV-2, COVID-19 के संक्रमण को रोकने के लिए महत्वपूर्ण उपाय है।

वर्तमान में भारत में कुल 2506 मोलेक्यूलर टेस्टिंग प्रयोगशालाएं हैं जिनमें RT-PCR, TrueNat, CBNAAT और अन्य प्लेटफार्म शामिल हैं। कुल रोजाना राष्ट्रीय टेस्टिंग क्षमता 15 लाख टेस्ट के करीब है। वर्तमान में, प्रयोगशालाएं COVID-19 से संक्रमित असाधारण केस लोड और कर्मचारियों के संक्रमित होने के कारण अपेक्षित टेस्ट टारगेट को पूरा करने के लिए चुनौतियों का सामना कर रही हैं। इस स्थिति को देखते हुए, RTPCR टेस्ट नियमों में बदलाव करना जरूरी है। और साथ ही देश के सभी नागरिकों के लिए टेस्ट की पहुंच और उपलब्धता भी जरूरी है।

RT-PCR टेस्ट किसे जरूरी नहीं

  1. RTPCR टेस्ट किसी ऐसे व्यक्ति में नहीं दोहराया जाना चाहिए जिसने RAT या RTPCR द्वारा एक बार पॉजिटिव टेस्ट आया हो।
  2. COVID-19 से रिकवर हुए व्यक्ति को अस्पताल से डिस्चार्ज होने पर उसे RAT या RTPCR टेस्ट की जरूरत नही है।https://www.mohfw.gov.in/pdf/ReviseddischargePolicyforCOVID19.pdf
  3. घरेलू यात्रा करने वाले स्वस्थ व्यक्तियों में RTPCR टेस्ट की जरूरतों को प्रयोगशालाओं पर भार को कम करने के लिए पूरी तरह से हटाया जा सकता है।
  4. गैर-आवश्यक यात्रा और रोगसूचक व्यक्तियों (COVID-19 या फ्लू जैसे लक्षण) को संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए की अंतर्राज्यीय यात्रा अनिवार्य रूप से बचा जाना चाहिए।
  5. आवश्यक यात्रा करने वाले सभी स्पर्शोन्मुख व्यक्तियों को COVID उपयुक्त व्यवहार का पालन करना चाहिए।
  6. मोबाइल टेस्टिंग प्रयोगशालाएं अब GeM पोर्टल पर उपलब्ध हैं। राज्यों को मोबाइल सिस्टम के माध्यम से RTPCR परीक्षण बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

टेस्टिंग की पहुंच और उपलब्धता में सुधार के उपाय

जून 2020 में COVID-19 टेस्ट के लिए भारत में रैपिड एंटीजन टेस्ट (RAT) की सिफारिश की गई थी। हालांकि, इन टेस्ट का उपयोग वर्तमान में कंटेनमेंट जोन और स्वास्थ्य देखभाल सेटिंग्स तक सीमित है। RAT में 15-30 मिनट का एक छोटा सा बदलाव होता है और इस प्रकार मामलों के त्वरित पता लगाने और उन्हें अलग-थलग करने और ट्रांसमिशन को रोकने के लिए इलाज करने का अवसर प्रदान करता है। अब तक, ICMR ने 36 RAT स्वीकृत किए हैं, जिनमें से 10 GeM पोर्टल पर हैं। भारी टेस्ट की मांग को पूरा करने के लिए, यह RAT का उपयोग करके बढ़ते टेस्टिंग के लिए विवेकपूर्ण होगा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर