'प्रकृति के बगैर जीवन में कुछ भी नहीं', वायरल हो रहा किन्‍नौर हादसे से पहले किया गया ये ट्वीट

हिमाचल प्रदेश के किन्‍नौर जिले में रविवार को हुए भूस्‍खलन में जान गंवाने वालों में जयपुर की डॉ. दीपा शर्मा भी हैं, जिन्‍होंने हादसे से महज 26 मिनट पहले अपनी एक तस्‍वीर ट्विटर  पर शेयर की थी।

डॉ. दीपा शर्मा ने हादसे से महज 26 मिनट पहले ट्वीट किया था
डॉ. दीपा शर्मा ने हादसे से महज 26 मिनट पहले ट्वीट किया था  |  तस्वीर साभार: Twitter

नई दिल्‍ली : हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में रविवार को हुए हादसे में नौ लोगों की जान चली गई। ये सभी घूमने और प्रकृति के सानिध्‍य को और करीब से महसूस करने के लिए हिमाचल पहुंचे हुए थे, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। जिन नौ लोगों ने इस हादसे में जान गंवाई है, उनमें जयपुर की डॉ. दीपा शर्मा भी शामिल हैं। हादसे से महज 26 मिनट मिनट पहले उन्‍होंने एक ट्वीट किया था, जिसमें वह बेहद खुश नजर आ रही हैं।

इससे एक दिन पहले 24 जुलाई के एक ट्वीट में उन्‍होंने लिखा था, 'मां प्रकृति के बगैर जीवन में कुछ भी नहीं है।' दोनों तस्‍वीरों में प्रकृति की खूबसूरती देखी जा सकती है। अपने ट्विटर हैंडल से डॉ. दीपा शर्मा ने विगत दो-तीन दिनों में कई ट्वीट किए हैं, जिसमें उन्‍होंने अपने हिमाचल दौरे की तस्‍वीरें शेयर की हैं। उनके ट्वीट्स से साफ है कि वह हिमाचल में प्रकृति के बीच कितना आनंद ले रही हैं। लेकिन किन्‍नौर हादसे ने सारी खुशियों को क्षणभर में मटियामेट कर दिया।

महज 26 मिनट पहले किया ट्वीट

आयुर्वेद प्रैक्टिसनर, जैसा कि डॉ. दीपा शर्मा (34) के ट्व‍िटर बायो में लिखा है, ने रविवार को दोपहर 12.59 बजे ट्वीट किया था, जिसमें वह हिमाचल प्रदेश में नागस्‍ती पोस्‍ट पर नजर आ रही हैं। उन्‍होंने लिखा, 'भारत के उस आखिरी बिंदु पर खड़ी हूं, जहां तक नागरिकों को पहुंचने की अनुमति है। इसके करीब 80 किलोमीटर आगे तिब्‍बत के साथ हमारा बॉर्डर है, जहां चीन ने गैर-कानूनी तरीके से कब्‍जा किया हुआ है।'

उनके इस ट्वीट के 26 मिनट बाद दोपहर 1.25 बजे किन्‍नौर में भूस्‍खलन की घटना का समाचार सामने आता है, जिसमें नौ लोगों की जान गई, जबकि तीन अन्‍य घायल हो गए। हादसा कितना गंभीर था, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि भूस्‍खलन के बाद जब भारी चट्टान गिरता है तो इससे पुल भी टूट जाती है। सांगला-छितकुल मार्ग पर बस्तेरी के निकट हुए इस भयावह हादसे का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें चट्टान को पहाड़ से गिरते देखा जा सकता है।

इन 9 लोगों ने गंवाई जान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किन्‍नौर में हुए इस हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए दो-दो लाख रुपये और घायलों के लिए 50-50 लाख रुपये की सहायता राशि का ऐलान किया है। हादसे में जान गंवाने वालों की पहचान राजस्थान के माया देवी बियानी (55), उनके बेटे अनुराग बियानी (31) और बेटी रिचा बियानी (25), महाराष्ट्र की प्रतीक्षा सुनील पाटिल (27), जयपुर की डॉ. दीपा शर्मा (34), छत्तीसगढ़ के अमोघ बापट (27), सतीश कटाकबर (34), पश्चिम बंगाल के चालक उमराब सिंह (42) और कुमार उल्हास वेदपाठक के तौर पर की गई है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर