TIMES NOW Summit 2021: किसी खिलाड़ी के धर्म या विचार पर सोशल मीडिया पर अभद्रता की इजाजत नहीं-अनुराग ठाकुर

TIMES NOW Summit 2021 में केंद्रीय सूचना प्रसारण और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने सवालों का बेबाकी से जवाब देते हुए कहा कि हम सबको कहीं ना कहीं अपनी जिम्मेदारी समझ कर काम करने की जरूरत है।

Times Now Summit 2021, Anurag Thakur,social media, sports, navika kumar
सोशल मीडिया पर अभद्रता के लिए जगह नहीं-अनुराग ठाकुर 
मुख्य बातें
  • जो लोग ट्रोलिंग के लिए दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
  • खिलाड़ी हर बार पूरी मेहनत से प्रदर्शन करते हैं, हमेशा जीतना संभव नही है।
  • राजनीति पर बोले अनुराग ठाकुर-कुछ लोग चुनाव आते ही जनेऊ पहन लेते हैं तो कुछ लोग किताब लिखना शुरू कर देते हैं।

TIMES NOW Summit 2021: केंद्रीय सूचना प्रसारण और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने टाइम्स नेटवर्क की ग्रुप एडिटर एवं टाइम्स नाउ नवभारत की एडिटर इन चीफ नाविका कुमार से खास बातचीत में कहा कि सोशल मीडिया पर अभद्रता की जगह नहीं है। इसके साथ ही यह भी कहा कि खिलाड़ी पूरे मनोयोग से अपना प्रदर्शन करते हैं। हर बार जीत मुमकिन नहीं है। 

TOPS के जरिए खिलाड़ियों को प्रोत्साहन
2016 में सरकार में मिशन ओलंपिक सेल का गठन किया जिसका नाम टॉप्स था। जिसके जरिए एथलीट्स  की ट्रेनिंग, बोर्डिंग, लॉजिंग ट्रेनिंग की व्यवस्था थी। इसके साथ ही बेहतर प्रशिक्षण के लिए हमने खिलाड़ियों को विदेश भी भेजा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की तरफ से उन प्रतिभाओं को तलाशने का अभियान चल रहा है जो मुख्य धारा से कटे हुए हैं। आने वाले समय में भारतीय खेल जगत दुनिया में अपनी छंटा को बिखेरेगा।

सोशल मीडिया पर अभद्रता के लिए जगह नहीं
सोशल मीडिया के जरिए आप अपने विचार रख सकते हैं। लेकिन किसी खिलाड़ी को उसके धर्म या उसके विचार के आधार पर ट्रोल नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि यह सामान्य तौर पर अब चलन बन रहा है। लेकिन इस तरह की हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जो लोग ट्रोलिंग के लिए दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि टी-20 वर्ल्ड कप मैच में पाकिस्तान के साथ भारत की हुई करारी हार पर ट्रोलर गैंग ने मोहम्मद शमी को ट्रोल किया था।

कुछ लोगों के लिए राजनीति पार्ट टाइम जॉब

राजनीति के मुद्दे पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि जब चुनाव नजदीक आते हैं तो कुछ लोग जनेऊ पहन लेते हैं तो कुछ लोग किताब लिखना शुरू कर देते हैं। छ लोगों के पास जिन्ना, बाटला हाउस और दूसरे मुद्दे होंगे। ऐसे लोगों के लिए राजनीति पार्ट टाइम जॉब है और इनसे आप बेहतरी की उम्मीद नहीं कर सकते।  2014 के बाद से देश में बहुत कुछ बदला है और उसका असर हर भारतीय की जिंदगी पर पड़ा है। चुनाव निकट आते ही कुछ लोगों के पास जिन्ना, बाटला हाउस और दूसरे मुद्दे होंगे।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर