सभी बच्चों को टीका लगाने में 9 महीने लगेंगे, तब तक स्कूल बंद नहीं रह सकते : डॉ. गुलेरिया

Dr Randeep Guleria : डॉ. गुलेरिया ने बताया कि भारत बायोटेक बच्चों के लिए अपने टीके के इस्तेमाल की मंजूरी का आवेदन सितंबर के अंत में देगा। भारत बायोटेक को इसी महीने मंजूरी मिल सकती है।

Dr Randeep Guleria says Will take up to 9 months to vaccinate all kids
डॉक्टर गुलेरिया ने किया स्कूल खोले जाने का समर्थन।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • एम्स के प्रमुख डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने स्कूल खोले जाने का समर्थन किया है
  • उन्होंने कहा कि देश के सभी बच्चों को टीका लगाने में नौ महीने का समय लगेगा
  • डॉ. ने कहा कि स्कूल के सभी कर्मचारियों को कोरोना का टीका लगा होना चाहिए

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली सहित कई राज्यों में स्कूल खुल गए लेकिन बिना कोरोना वैक्सीन लगे बच्चों के स्कूल बुलाए जाने पर कई लोग सवाल खड़े कर रहे हैं। इस सवाल का जवाब अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के प्रमुख डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने दिया है। 'इंडिया टुडे' के साथ बातचीत में डॉ. गुलेरिया ने बुधवार को कहा देश में सभी बच्चों को कोरोना का टीका लगाने में नौ महीने लगेंगे। इसे देखते हुए स्कूलों को अगले साल के मध्य तक बंद नहीं रखा जा सकता। 

मैं चाहता हूं कि स्कूल खोले जाएं-गुलेरिया
डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वह चाहते हैं कि स्कूल खोले जाएं क्योंकि बच्चों की शारीरिक एवं मानसिक दशा में बदलाव करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'मैं केरल में अभी स्कूल खोलने की बात नहीं करूंगा लेकिन दिल्ली जैसे राज्यों जहां पॉजिटिविटी रेट कम हैं, वहां पर स्कूल खोले जा सकते हैं। दिल्ली में स्कूल खोलने का यह सही समय है। ऐसे बहुत सारे छात्र हैं जिनके पास ऑनलाइन क्लास में शामिल होने के लिए सुविधा नहीं है।'

स्कूल के सभी कर्मचारियों को टीका लगा होना चाहिए
एम्स के डॉक्टर ने कहा कि स्कूल के सभी कर्मचारियों का टीका लगा होना चाहिए। इसके अलावा स्कूल में छात्र जब दाखिल हों या निकलें तो उस समय परिसर में भीड़ नहीं होनी चाहिए। यदि किसी स्कूल में संक्रमण के ज्यादा मामले मिलते हैं तो उसे बंद किया जाना चाहिए। यह पूछे जाने पर कि क्या प्राइमरी बच्चों के लिए भी स्कूल खोले जाने चाहिए तो इस पर उन्होंने कहा कि छोटे बच्चे के संक्रमण के दायरे में आने की संभावना बहुत कम है। 

भारत बायोटेक इस महीने करेगा आवेदन
डॉ. गुलेरिया ने बताया कि भारत बायोटेक बच्चों के लिए अपने टीके के इस्तेमाल की मंजूरी का आवेदन सितंबर के अंत में देगा। भारत बायोटेक को इसी महीने मंजूरी मिल सकती है। इससे पहले, मेदांता के चेयरमैन डॉ. नरेश त्रेहान ने कहा था कि बच्चों के लिए इंटेनसिव केयर यूनिट्स अभी तैयार नहीं हैं, इसलिए स्कूलों को कुछ महीने और इंतजार करना चाहिए। उन्होंने कहा, 'बच्चे यदि गंभीर रूप से बीमार होते हैं तो उन्हें संभालने के लिए हम अभी तैयार नहीं हैं।' इस पर गुलेरिया ने कहा कि इस दिशा में काफी निवेश किया गया है और वह इस बात से सहमत नहीं हैं कि पीडियाट्रिक आईसीयू तैयार नहीं हैं। 

केरल के बढ़े मामले चिंताजनक 
केरल में कोरोना संक्रमण के मामलों में आई तेजी पर चिंता जाहिर करते हुए डॉ. गुलेरिया ने कहा कि 'यह चिंताजनक है। हम केरल में संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल देख रहे हैं। इससे देश में संक्रमण के नए मामले बढ़ सकते हैं।' डॉक्टर लोगों ने त्योहारों के दौरान संयम बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि यह महामारी अभी खत्म नहीं हुई है।  

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर