Coronavirus Maharashtra Update, 31 March: महाराष्ट्र के मंत्रियों और अधिकारियों को दो किस्त में मिलेगा वेतन

देश
रामानुज सिंह
Updated Mar 31, 2020 | 21:06 IST

Coronavirus updates in Maharashtra, 31 March 2020: देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ते जा रहे हैं। यहां पढ़ें महाराष्ट्र का हर अपडेट:

Mumbai Pune Maharashtra Corona Samachar 31 March
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का असर 
मुख्य बातें
  • देश में कोरोना वायरस के मामले 1200 से पार हो गए हैं
  • महाराष्ट्र में मामले 200 के करीब पहुंच गए हैं
  • महाराष्ट्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों के लिए 262 राहत शिविर बनाए हैं

मुंबई: कोरोना वायरस को लेकर देश भर में 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है। इसी बीच देश में मामले बढ़ते जा रहे है। महाराष्ट्र में लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 5 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ राज्य में मंगलवार को संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 230 हो गई। स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि इन नए पांच मामलों में से चार मुम्बई के और एक पुणे का है। अभी तक राज्य में इस वायरस से 10 लोगों की जान जा चुकी है।

Coronavirus Maharashtra UPDATES, 31 March

महाराष्ट्र के मंत्रियों-अधिकारियों को दो किस्त में मिलेगा वेतन 

महाराष्ट्र के वित्त मंत्री अजित पवार ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार के मंत्रियों और अधिकारियों समेत निर्वाचित प्रतिनिधियों को मार्च महीने का पूरा वेतन नहीं दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार से बकाया राशि न मिलने के कारण यह निर्णय लेना पड़ा। इससे पहले पवार ने कहा था कि कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले भार को देखते हुए वेतन में साठ प्रतिशत की कटौती की जाएगी। बाद में जारी किए गए सरकारी आदेश में कहा गया कि बकाया वेतन बाद में दिया जाएगा।

'महाराष्ट्र सरकार प्रवासी श्रमिकों के लिए व्यवस्था करे'

 देश में लाकडाउन की वजह से प्रवासी कामगारों की परेशानियों का संज्ञान लेते हुए बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि वह इन कामगारों के लिए सभी जरूरी बंदोबस्त करे और परमार्थ संगठनों से धन जुटाने की संभावना पर भी विचार करे। न्यायमूर्ति सुनील शुक्रे की एकल पीठ ने कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से कामगारों और उनके परिवार के शहरों से गांव की ओर पलायन को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान राज्य सरकार को यह निर्देश दिया। यह याचिका सी एच शर्मा नामक एक व्यक्ति ने दायर की।

मुख्यमंत्री और एमएलए-एमएलसी की सैलरी में कटौती

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री और एमएलए-एमएलसी की मार्च महीने की सैलरी में 60 फीसद की कटौती होगी। महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और राज्य के वित्त मंत्री अजीत पवार ने आदेश जारी किया कि सीएम और एमएलए-एमएलसी सहित सभी निर्वाचित प्रतिनिधियों के मार्च महीने के वेतन में  60 फीसद की कटौती की जाएगी।

नए मामलों में 29 संक्रमित मुंबई शहर से
बीएमसी के मुताबिक, नए मामलों में 29 संक्रमित मुंबई शहर से जबकि बाकी 18 संक्रमित मुंबई महानगर क्षेत्र के हिस्सों के हैं। विज्ञप्ति के मुताबिक, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद यहां के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती हुए 80 साल के बुजुर्ग की कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौत हो गई। जारी लॉकडाउन के बीच मुंबई पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है।

प्रवासी मजदूरों के लिए बनाए गए 262 राहत शिविर 
देश भर में बंद के बीच महाराष्ट्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों के लिए 262 राहत शिविर बनाए हैं, जहां उन्हें भोजन और आश्रय मिलेगा। पिछले हफ्ते 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद से बड़े शहरों से प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू हो गया था। ये सभी बेरोजगार हो जाने और भोजन अथवा आश्रय नहीं होने के कारण अपने गृह स्थानों पर जाने के लिए निकल पड़े थे। सीएम ठाकरे ने पहले भी प्रवासी मजूदरों से राज्य नहीं छोड़ने की अपील करते हुए उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया था। सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने राज्यभर में 262 राहत शिविर बनाए हैं, जिसमें 70,399 प्रवासी मजदूरों और बेघर लोगों को आश्रय दिया जा रहा है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि मुसीबत के समय में उन्हें खाना मिले और उनके सिर पर छत हो।

37 जेलों से 601 कैदियों को किया गया रिहा
महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर भीड़ कम करने के लिये बीते तीन दिन में 37 जेलों से 601 कैदियों को रिहा किया है। जेल के अधिकारी ने कहा कि पश्चिमी महाराष्ट्र की जेलों से कुल 104 कैदियों को रिहा किया गया है। इसके अलावा 113 कैदियों को मध्य, 145 को दक्षिण और 239 को पूर्वी महाराष्ट्र की जेलों से रिहा किया गया। ये कैदी केन्द्रीय और जिला कारागारों में बंद थे।

चिदंबरम देंगे एक करोड़ रुपए
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सोमवार को ऐलान किया कि वह कोरोना वायरस के मद्देनजर यहां मुख्मयंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए दान करेंगे। गौर है कि चिदंबरम महाराष्ट्र से राज्यसभा सदस्य हैं। 

सभी राज्यों और जिलों की सीमाएं सील 
केंद्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों के जरिए कोरोना वायरस का सामुदायिक प्रसार रोकने के मद्देनजर रविवार को देशभर के सभी राज्यों और जिलों की सीमाओं को सील करने का आदेश दिया था। साथ ही चेतावनी दी थी कि उल्लंघन करने वाले को 14 दिनों के लिए पृथक किया जाएगा।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर