Drugs: पाकिस्तान तक जुड़े ड्रग्स के तार, मुंबई और बॉलीवुड तक पहुंचाई जा रही कोकिन

Bollywood Drugs case: बॉलीवुड में ड्रग्स मामले की जांच कर रही NCB की जांच का दायरा बढ़ रहा है। मुंबई और बॉलीवुड में ड्रग्स सप्लाई करने के पीछे पाकिस्तान और पंजाब के लिंक सामने आए हैं।

drugs
प्रतीकात्मक तस्वीर 
मुख्य बातें
  • सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग को लेकर खुलासे हुए
  • बॉलीवुड की कई शीर्ष अभिनेत्रियों के नाम इसमें सामने आए
  • एनसीबी इस पूरे मामले की जांच कर रहा है

नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) को इस मामले में पंजाब के अमृतसर और पाकिस्तान के बड़े ड्रग संगठनों और संस्थाओं के लिंक मिले हैं जो मुंबई और बॉलीवुड में कोकीन और अन्य हार्ड ड्रग्स की आपूर्ति करते हैं। 'हिंदुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के अनुसार, सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच के लिए एनसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि विभाग उपभोक्ता से लेकर पेडलर तक आपूर्तिकर्ता से लेकर व्यापार को नियंत्रित करने वालों तक के पीछे काम कर रहा है।

एनसीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी जो सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच से परिचित हैं, उन्होंने कहा, 'हमारे पास एक आइडिया है कि बॉलीवुड ड्रग मामले में कौन-कौन शामिल हैं और कौन मुंबई सप्लायर्स हैं। हेरोइन, कोकीन और मेथम्फेटामाइन सहित हार्ड ड्रग्स के उपभोक्ताओं और उनके आपूर्तिकर्ताओं पर आरोप लगाए जाने से पहले साक्ष्य एकत्र किए जा रहे हैं।'

वहीं एक महत्वपूर्ण अमृतसर लिंक को इस सप्ताह NCB द्वारा समन किए जाने की उम्मीद है। एजेंसी ने मुंबई में कोकीन के आपूर्तिकर्ताओं का पता लगाने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और ऑस्ट्रेलियाई ड्रग प्रवर्तन एजेंसियों की मदद मांगी है।

सहयोगी एजेंसियों द्वारा साझा की गई जानकारी के अनुसार, 2018 में कम से कम 1,200 किलोग्राम कोकीन भारत में उतरी, जिसमें 300 किलोग्राम अकेले मुंबई में उतरी। जून 2019 में ऑस्ट्रेलिया में 55 किलोग्राम कोकीन की जब्ती की विस्तृत जांच के द्वारा खोज की गई थी; दोनों के पीछे एक ही संगठन था। एनसीबी ने पहले ही ऑस्ट्रेलियाई रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है।  

इस तरह भारत आ रही कोकीन

एनसीबी अधिकारियों के अनुसार, कोलंबिया-ब्राजील-मोजाम्बिक मार्ग के माध्यम से भारत में अधिकांश कोकीन पहुंचती है, जबकि अन्य अफ्रीकी स्थलों और दुबई क्षेत्र को कभी-कभी वैकल्पिक मार्ग के रूप में उपयोग किया जाता है। भारत में प्रतिदिन लगभग एक टन हेरोइन का उपभोग होता है। सहयोगी एजेंसियों ने भी एनसीबी को भारत में एक प्रोसेसिंग यूनिट की संभावना के लिए सूचित किया है। भारत में अफगान हेरोइन पाकिस्तान से पंजाब या गुजरात से समुद्री मार्ग के माध्यम से आ रही है। पाकिस्तान ने हमेशा आतंकवादी फंडिंग के लिए ड्रग मनी का इस्तेमाल किया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर