Monkeypox: आंध्र प्रदेश के गुंटूर में 8 साल के बच्चे में मिले मंकीपॉक्स के लक्षण, अस्पताल में कराया गया भर्ती

Monkeypox: जीजीएच के प्रशासन अधिकारी डॉ प्रवीण कुमार ने कहा कि स्थानीय सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग द्वारा लड़के में रैशेज और मंकीपॉक्स के लक्षणों का पता चला था। इसके बाद उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया और आइसोलेशन में रखा गया है।

Andhra Pradesh Symptoms of monkeypox found in 8 year old boy in Guntur admitted to the hospital
आंध्र प्रदेश में 8 साल के बच्चे में मिले मंकीपॉक्स के लक्षण। (सांकेतिक फोटो)  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • आंध्र प्रदेश में 8 साल के बच्चे में मिले मंकीपॉक्स के लक्षण
  • जांच के लिए पुणे भेजा गया सैंपल
  • देश में अब तक मंकीपॉक्स के सामने आए 4 मामले

Monkeypox: आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में शनिवार को एक संदिग्ध मंकीपॉक्स का मामला सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। दरअसल यहां एक आठ साल के लड़के को मंकीपॉक्स के लक्षणों के साथ सरकारी सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक लड़का ओडिशा का रहने वाला है और 15 दिन पहले आंध्र प्रदेश आया था। हालांकि एक हफ्ते के बाद लड़के को बुखार और रैशेज हुए थे। 

आंध्र प्रदेश में 8 साल के बच्चे में मिले मंकीपॉक्स के लक्षण

MonkeyPox Alert: मंकीपॉक्स को लेकर अलर्ट, लखनऊ के केजीएमयू में होगी जांच, रिपोर्ट आने में नहीं होगी देरी

जांच के लिए पुणे भेजा गया सैंपल

जीजीएच के प्रशासन अधिकारी डॉ प्रवीण कुमार ने कहा कि स्थानीय सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग द्वारा लड़के में रैशेज और मंकीपॉक्स के लक्षणों का पता चला था। इसके बाद उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया और आइसोलेशन में रखा गया है। सैंपल एकत्र कर एनआईवी पुणे भेजे गए हैं। साथ ही कहा कि हम रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। 

Monkeypox:इन 6 लक्षणों को न करें इग्नोर, हो सकता है मंकीपॉक्स का संक्रमण

मंकीपॉक्स आमतौर पर 2 से 4 हफ्ते तक चलने वाले लक्षणों के साथ एक स्व-सीमित बीमारी है। ये आमतौर पर बुखार, सिरदर्द, रैशेज, गले में खराश और खांसी खुद को प्रस्तुत करता है। देश में अब तक मंकीपॉक्स के चार मामले सामने आए हैं, जिनमें से तीन मामले केरल से हैं जबकि एक मामला दिल्ली से है। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती पवार ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि देश में मंकीपॉक्स से मृत्यु का एक भी मामला सामने नहीं आया है।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर