Covid-19: असदुद्दीन ओवैसी का सवाल- भारत को 300 टन अंतर्राष्ट्रीय सहायता मिली कहां है वह?

असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से मिलने वाली अंतरराष्ट्रीय सहायता पर केंद्र से पारदर्शिता की मांग की है। उन्होंने दावा किया कि ब्यूरोक्रेटिक ड्रॉमे (bureaucratic drama) के चलते जीवन रक्षक सामग्री भंडारण में फंस गई है

owaissi
ओवैसी ने कोविड -19 स्थिति और अंतरराष्ट्रीय सहायता के विवेकपूर्ण उपयोग पर केंद्र से सवाल किया है 

हैदराबाद: एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कोविड -19 स्थिति और अंतरराष्ट्रीय सहायता के विवेकपूर्ण उपयोग पर केंद्र से सवाल किया है। ओवैसी ने पूछा- "ब्यूरोक्रेटिक ड्रॉमे (bureaucratic drama) के कारण कितनी जीवन-रक्षक सामग्री (life-saving material) भंडारण में अटक गई है?"

हैदराबाद के सांसद ने कहा कि भारत को कम से कम 300 टन अंतर्राष्ट्रीय सहायता प्राप्त होने के बावजूद, प्रधान मंत्री कार्यालय यह नहीं बता रहा है कि उसके साथ क्या हुआ है। यह अक्षमता नहीं है, यह साथी नागरिकों के लिए करुणा का पूर्ण अभाव है, ओवैसी ने आरोप लगाया।

ओवैसी का ट्वीट इसको लेकर आया है कि क्लियरेंस के लिए सीमा शुल्क विभाग के साथ हवाई अड्डे पर बहुत सारी सहायता अटक गई है।

सोमवार को वित्त मंत्रालय ने जानकारी दी कि दिल्ली उच्च न्यायालय में मामला आने के बाद 3,000 ऑक्सीजन सांद्रता (oxygen concentrators) की कोई खेप सीमा शुल्क अधिकारियों (Customs authorities) के पास लंबित नहीं है।

जैसा कि सोशल मीडिया पर खबर आई थी कि 3,000 ऑक्सीजन सांद्रता सीमा शुल्क के पास पड़े हैं, मंत्रालय ने कहा: "हमने फिर से जाँच की है"। उन्होंने कहा, '' चूंकि, एक तस्वीर ट्विटर पर भी डाली गई है, अगर किसी को जानकारी है कि वह कहां है, तो हमें सूचित किया जा सकता है और हम तुरंत कार्रवाई करेंगे। ''

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (CBIC) ने एक अधिसूचना के माध्यम से, हाल ही में स्पष्टता के अलावा कुछ वस्तुओं की मंजूरी के लिए प्रक्रियाओं को और सरल बनाने की प्रक्रिया को स्पष्ट किया।

आपातकालीन चिकित्सा उपकरणों के सीमा शुल्क निकासी के लिए सीबीआईसी द्वारा उठाए गए हाल के कदमों से रसद उद्योग के अनुसार कोरोनोवायरस संबंधित आपातकालीन उत्पादों के आयात में भारी उछाल के बीच रसद कंपनियों को तेजी से वितरण में मदद करने की उम्मीद है। जबकि ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर्स और रेमेडिसविर पर मूल शुल्क (basic duty) में छूट दी गई है, आईजीएसटी देय है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर