Uttarkashi Cloud Burst:उत्तरकाशी के मांडो गांव में बादल फटने से हादसा, 2 की मौत, कुछ लापता, राहत कार्य जारी

देश
रवि वैश्य
Updated Jul 19, 2021 | 07:06 IST

Cloud Burst News:उत्तरकाशी में संडे की देर रात बादल फटने के कारण अचानक भागीरथी नदी समेत गाड़-गदेरे उफान पर हैं,इस हादसे में 2 लोगों की मौत की खबर है जबकि कुछ लोग लापता बताए जा रहे हैं।

 Accident due to cloudburst in Manda village of Uttarkashi 2 killed, some missing
प्रतीकात्मक फोटो 

मुख्य बातें

  • बादल फटने के इस हादसे में कुछ लोग लापता भी बताए जा रहे हैं
  • हादसे के बाद से हड़कंप है और राहत के कार्य किए जा रहे हैं
  • सीएम उत्तराखंड ने राहत और बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर कराने के निर्देश दिए हैं

नई दिल्ली: उत्तराखंड से बड़ी खबर सामने आई है, वैसे तो यहां पर बादल फटने की घटनाएं इस मौसम में होती रहती हैं,इसी क्रम में उत्तरकाशी में बादल फटने (Uttarkashi Cloud Burst) की घटना सामने आई है, ये हादसा रविवार की देर रात सामने आया है, इस हादसे के बाद से हड़कंप है और राहत के कार्य किए जा रहे हैं।

इस हादसे में दो लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है, हालांकि ये प्रारंभिक जानकारी है। वहीं कुछ लोग लापता भी बताए जा रहे हैं प्रशासन की ओर से बचाव कार्य जारी हैं। बादल फटने से गांव मांडो, निराकोट, पनवाड़ी के आवासीय मकानों में पानी घुस गया, सीएम उत्तराखंड पुष्कर धामी ने प्रशासन को राहत और बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर कराने के निर्देश दिए हैं।

हरिद्वार में पीली नदी से बचाए गए चार श्रमिक

हरिद्वार जिले की पीली नदी में फंसे चार श्रमिकों को पुलिस ने तत्परता से अभियान चलाकर सुरक्षित बाहर निकाला।उधर, अतिवृष्टि और आपदा राहत कार्यों में मदद के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिथौरागढ़ में दो महीने के लिए एक हेलीकॉप्टर तैनात करने की स्वीकृति दे दी।पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने एक ट्वीट के माध्यम से जानकारी दी कि हरिद्वार जिले के श्यामपुर क्षेत्र में पीली नदी पर पुल निर्माण कार्य में लगे चार श्रमिक नदी का जल स्तर बढ़ने से वहीं फंस गए। उन्होंने बताया कि हांलांकि, पुलिस ने तुरंत बचाव अभियान चलाकर क्रेन की सहायता से सभी श्रमिकों को सुरक्षित बचा लिया।

राज्य की ज्यादातर नदियां उफान पर

उत्तराखंड के ज्यादातर स्थानों पर लगातार बारिश होने से प्रदेश में गंगा, यमुना जैसी प्रमुख नदियों के अलावा उनकी सहायक नदियां भी उफान पर हैं।गंगा, यमुना, भागीरथी, अलकनंदा, मंदाकिनी, पिंडर, नंदाकिनी, टोंस, सरयू, गोरी, काली, रामगंगा आदि नदियां चेतावनी स्तर से थोड़स ही नीचे बह रही हैं। इन नदियों के स्तर की सतत निगरानी की जा रही है। देहरादून में भी शनिवार से शुरू हुआ बारिश का क्रम रूक-रूक कर लगातार जारी रहा ।

यहां विकासनगर में वर्षा के कारण एक पक्का मकान ढह गया जबकि परेड ग्राउंड स्थित जल संस्थान के कार्यालय परिसर में एक पेड़ गिर गया । रायपुर के कंडोली में भी वर्षा में एक झोंपडी बह गई । हांलांकि, इन घटनाओं में कोई जनहानि नहीं हुई।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर