'2 करोड़ से 18.5 करोड़ में खरीदी गई जमीन'; AAP सांसद संजय सिंह ने लगाए राम मंदिर ट्रस्ट पर घोटाले के आरोप

देश
Updated Jun 13, 2021 | 18:06 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

आम आदमी पार्टी (AAP) सांसद और समाजवादी पार्टी के नेता पवन पांडेय ने राम मंदिर के लिए राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीन में घोटाले का आरोप लगाया है।

sanjay singh
आप सांसद संजय सिंह 

मुख्य बातें

  • राम मंदिर की जमीन को लेकर घोटाले के आरोप
  • विपक्ष ने राम मंदिर ट्रस्ट पर गंभीर सवाल उठाए हैं
  • आप सांसद ने संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये गंभीर आरोप लगाए

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीन में घोटाले का आरोप लगाया है। आप सांसद संजय सिंह का आरोप है कि ट्रस्ट ने 2 करोड़ की जमीन 18.5 करोड़ में खरीदी थी। उन्होंने दावा है कि दोनों लेन-देन 5 मिनट के भीतर किए गए थे। सिंह का दावा है कि राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के इशारे पर लेन-देन किया गया था। संजय का यह भी दावा है कि ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा और अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय रजिस्ट्री के गवाह थे। उन्होंने इस मामले की सीबीआई और ईडी से जांच की मांग की है।

संजय सिंह ने कहा, 'मर्यादा पुरूषोत्तम प्रभु श्री राम के नाम पर इतना बड़ा घोटाला सुनकर आपके पैरों के नीचे जमीन खिसक जाएगी। श्री राम जन्म भूमि न्यास में घोटाला, मर्यादा पुरूषोत्तम प्रभु श्री राम के नाम पर ज़मीन खरीद में भारी घोटाला।  2 करोड़ की जमीन ट्रस्ट के चंपत राय ने 5 मिनट बाद 18.5 करोड़ में खरीदी। ये देश के करोड़ों लोगों की आस्था पर आघात है। मोदी जी ED-CBI से जांच कराकर घोटाले बाजों को जेल में डालो।' 

समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री पवन पांडेय ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा खरीदी जमीन पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा, '10 मिनट पहले 2 करोड़ में जमीन का बैनामा हुआ और उसी दिन फिर साढ़े 18 करोड़ में एग्रीमेंट हुआ। एग्रीमेंट और बैनामा दोनो में ही ट्रस्टी अनिल मिश्रा और मेयर ऋषिकेष उपाध्याय गवाह हैं। जिस जमीन को दो करोड़ में खरीदा गया उसी जमीन का 10 मिनट बाद साढ़े 18 करोड़ में एग्रीमेंट क्यों हुआ? 5 मिनट में ही 2 करोड़ की जमीन साढ़े 18 करोड़ की हुई। जमीन की कीमत कैसे बढ़ी? 

उन्होंने कहा कि राम मंदिर के नाम पर जमीन खरीदने के नाम पर राम भक्तों को ठगा जा रहा है। जमीन खरीदने का सारा खेल मेयर और ट्रस्टी को मालूम था। इस पूरे मामले की सीबीआई जांच हो। 17 करोड़ रुपए RTGS किया गया, किस खाते से पेमेंट हुआ इसकी भी जांच हो। 

मंदिर ट्रस्ट ने जमीन खरीद में घोटाले के आरोपों पर टिप्पणी करने से इनकार किया। 

राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि लोग पिछले 100 साल से हम पर आरोप लगा रहे हैं। हम पर महात्मा गांधी की हत्या का भी आरोप लगाया गया था। हमें इस तरह के आरोपों की परवाह नहीं है। हम उनका अध्ययन करेंगे और फिर जवाब देंगे।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर