'कुप्रबंधन के कारण 'वैक्सीन' की कमी':ब्रिटेन में दो डोज के अंतर को कम करने पर केंद्र सरकार से AAP नेता के सवाल

देश
रवि वैश्य
Updated May 15, 2021 | 10:21 IST

AAP MLA Atishi Attacked Government:AAP विधायक आतिशी ने आज केंद्र सरकार पर देश में कोविड -19 को सौंपने में कुप्रबंधन का आरोप लगाते हुए हमला किया उन्होंने ब्रिटेन का उदाहरण सामने रखा।

covishield
AAP विधायक आतिशी ने शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा 

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) की विधायक आतिशी ने शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा जब ब्रिटेन के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने कोविड -19 वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक के बीच की समय अवधि में कमी की घोषणा की। ट्विटर पर आतिशी ने पूछा कि जब यूके सरकार भारतीय वैरियंट पर चिंताओं के बीच दो डोज के बीच के अंतर (Gap between two dose of Corona Vaccine) को कम कर रही है तो यहां दो जैब्स के बीच का समय अंतराल क्यों बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने आगे नरेंद्र मोदी सरकार पर देश में कोविड -19 को सौंपने के कुप्रबंधन का आरोप लगाते हुए हमला किया।

उसने ट्वीट किया-"अगर ब्रिटिश सरकार भारतीय उत्परिवर्ती कोविड तनाव (Indian mutant Covid strain) से निपटने के लिए टीके की दो खुराक के बीच के अंतर को कम कर रही है, तो भारत इस अंतर को क्यों बढ़ा रहा है? किसी को आश्चर्य होता है कि क्या यह चिकित्सा कारणों से है या कुप्रबंधन के कारण टीके की कमी के कारण है?"

यह हमला तब हुआ जब ब्रिट्रेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शुक्रवार को कहा कि भारत में सबसे पहले पहचाने गए कोरोना वायरस के प्रकार को लेकर चिंताओं के बीच ब्रिटेन में 50 से अधिक और चिकित्सकीय रूप से कमजोर लोगों के लिए वैक्सीन की दूसरी खुराक में तेजी लाई जाएगी। जॉनसन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा दोनों डोज के बीच गैप केवल 8 सप्ताह होगा  बजाय 12 सप्ताह के।

'कोविशील्ड (Covishield) के लिए 12-16 सप्ताह का गैप'

कोविड -19 महामारी की गंभीर दूसरी लहर के बीच, भारत कोरोनोवायरस टीकों की भारी कमी का सामना कर रहा है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार देश में मैन्युफैक्चरिंग क्षमताओं को बढ़ाने पर जोर दे रही है।

शुक्रवार को, केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह द्वारा कोविशील्ड की दो खुराक के बीच के अंतर को पहले के 8-सप्ताह के अंतराल के विपरीत बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने की सिफारिश को स्वीकार कर लिया, जबकि साथ ही साथ कोवैक्सिन की डोज में कोई बदलाव नहीं करने का सुझाव दिया।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर