'सैन्य तख्तापलट के बाद भारत में घुसे म्यांमार के 19 पुलिसवाले', हो रही है जांच

म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के करीब 19 पुलिस अधिकारियों ने भारत के मिजोरम में शरण ली है। ये पुलिसकर्मी सेना के आदेशों से बचने के लिए भारत में शरण लिए हैं।

19 Myanmar cops take shelter in Mizoram, India
सैन्य तख्तापलट के बाद भारत में घुसे म्यांमार के 19 पुलिसवाले  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • म्यांमार में सैन्य तख्तापलट को हो चुका है एक महीने से ज्यादा का समय
  • खबर के मुताबिक, म्यांमार के कुछ पुलिसकर्मियों ने ली भारत में शरण
  • म्यांमार से आकर भारत के मिजोरम में ली शरण

गुवाहाटी: म्यामांर में सेना द्वारा आंग सान सू ची की निर्वाचित सरकार को सत्ता से बेदखल कर दिये जाने के बाद करीब एक महीने के दौरान वहां से कम से कई लोगों ने भारत में शरण ली हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक कम से कम 3 लोगों ने मिजोरम के सेरछिफ जिले में शरण ली है। हालांकि, रायटर की एक रिपोर्ट में, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से इस संख्या को कहीं अधिक बताया गया है। इसमें दावा किया गया कि कम से कम 19 म्यांमार के पुलिस अधिकारी सीमा को पार करते हुए भारत में घुस आए हैं और वहां शरण मांग रहे हैं।

अपने अधिकारियों का आदेश नहीं मानकर ली शरण

सरकार अभी तक उन तीन व्यक्तियों की पहचान की पुष्टि नहीं कर सकी है जो सीमापर से भारत आए हैं। स्थानीय लोगों ने कहा कि तीन लोगों ने दावा किया कि वे अपने अधिकारियों के उस आदेश को नहीं मानने के बाद भागकर आए हैं जिसमें उनसे अपने ही लोगों पर गोली चलाने का आदेश दिया गया था। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने बुधवार को भारतीय क्षेत्र में कदम रखा।  जबकि ऐसी अटकलें लगाई जा रही थी थीं कि तीनों पुलिसकर्मी म्यांमार में एक मिजो जनजाति के पुलिसकर्मी हैं।  सेरछिप के  डीसी कुमार अभिषेक ने गुरुवार को टीओआई को बताया, 'तीन लोग सेरछिप जिले के सीमावर्ती गांवों में से एक में आए हैं। हम घटना की जांच कर रहे हैं, लेकिन यह पुष्टि करने की स्थिति में नहीं हैं कि वे पुलिसकर्मी हैं या नहीं।'

कई नागरिक म्यांमार से भागे

स्थानीय संगठनों ने शरणार्थियों के लिए उचित सुविधाओं की मांग की है जो म्यांमार में लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं पर हो रही बर्बर कार्रवाई के बाद सीमावर्ती राज्य में पहुंचने शुरू हो सकते हैं। मिज़ोरम म्यांमार के साथ 404 किलोमीटर लंबी झरझरा अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करता है। सूत्रों ने कहा कि कई अन्य म्यांमार के नागरिक सैन्य तख्तापलट के बाद अपने देश से भाग गए हैं और मिज़ोरम के दो जिलों में शरण ली है।

प्रशासन ने कराया कोविड टेस्ट

 तीन म्यांमार के नागरिक कथित तौर पर सेरछिप जिले में मिजोरम-म्यांमार सीमा नदी तियाउ से लगभग 9 किमी दूर लुंगकावलह गांव पहुंचे। पुलिस के साथ पूर्वी लुंगदर के खंड विकास अधिकारी, पुलिस के साथ जांच करने के लिए लुंगकावलह गए। तीनों शरणार्थियों का कोविड टेस्ट किया गया और सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिला प्रशासन के निर्णय की प्रतीक्षा में तीनों ने गांव के एक सामुदायिक भवन में बुधवार को रात बिताई। पुलिस और सुरक्षा बलों ने तीनों शरणार्थियों पर नजर बनाई हुई है। उन्होंने, हालांकि, उनके कब्जे से बरामद सामग्री पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर