Vitamin K की कमी के इन 5 संकेतों को न करें नजरअंदाज, वरना बिगड़ सकती है तबीयत

हेल्थ
श्वेता सिंह
श्वेता सिंह | सीनियर असिस्टेंट प्रोड्यूसर
Updated Aug 09, 2020 | 13:22 IST

Vitamin K deficiency: हमारे शरीर को हर तरह के विटामिन और मिनरल्स की आवश्यकता होती है। विटामिन ‘के’ शरीर के लिए महत्वपूर्ण है। इसकी कमी से कई तरह की शारीरिक समस्याएं शुरू हो जाती हैं।

Vitamin k
विटामिन 'के' की कमी के इन 5 संकेतों को न करें नजरअंदाज 

मुख्य बातें

  • विटामिन ‘के’ के अपर्याप्त सेवन से विभिन्न गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्या होती है।
  • मसूड़ों से खून निकलने का मतलब है विटामिन ‘के’ की कमी।
  • हल्की खरोंच भी बड़ा घाव हो जाती है।

हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन ‘के’  की आवश्यकता होती है। विटामिन ‘के’ एक आवश्यक वसा में घुलनशील पोषक तत्व है जो हड्डी,  हृदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। इसके साथ ही ये मस्तिष्क के कार्य में मदद करने में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। शरीर के लिए इतना आवश्यक खनिज होने के बाद भी, विटामिन ‘के’ की तरफ हमारा ध्यान नहीं जाता।  

आपके लिए इतना आवश्यक क्यों है विटामिन ‘के’ ? 

विटामिन ‘के’  के दो मुख्य रूप हैं। विटामिन K1 और विटामिन K2। हमारे शरीर को मुख्य रूप से क्लॉटिंग और रक्तस्राव को रोकने के लिए इन दोनों प्रकार के विटामिन K की आवश्यकता होती है। वयस्कों में विटामिन ‘के’ की कमी बहुत कम होती है, लेकिन नवजातों में इसकी समस्या गंभीर रूप से पायी जाती है।  

विटामिन ‘के’ के इन संकेतों को अनदेखा न करें  

अगर आपको विटामिन K के ऐसे संकेत दिखें तो संभल जाएं।  

  1. विटामिन ‘के’ की कमी से शरीर में रक्त का थक्का नहीं बन पाता। इससे चोट लगने पर खून बहता ही रहता है। अगर आपको ऐसे संकेत दिखें, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करके इस कमी को दूर करें।  
  2. कुछ अध्ययनों ने हड्डी की मजबूती को विटामिन ‘के’ से जोड़कर देखा है। विटामिन ‘के’ की कमी से ऑस्टियोपोरोसिस भी हो सकता है। इसके कारण, आपको अक्सर जोड़ों और हड्डियों में दर्द का अनुभव हो सकता है।  
  3. विटामिन ‘के’ की कमी से पीड़ितों को हल्की खरोच लगने पर भी वो बड़ा आकर ले लेती है और जल्दी ठीक नहीं होती। सिर या चेहरे के आसपास चोट लगना काफी आम है। कुछ लोगों को अपने नाखूनों के नीचे छोटे रक्त के थक्के भी मिलते हैं। ऐसे लक्षण दिखने पर सजग हो जाएं। 
  4. विटामिन ‘के’ के अपर्याप्त सेवन से विभिन्न गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं भी होती हैं। यूरिन में ब्लड आने लगता है।  
  5. मसूड़ों से खून आना भी विटामिन ‘के’ की कमी की ओर संकेत करता है। विटामिन K2 एक प्रोटीन के एक्टिवेशन के लिए जिम्मेदार है जिसे ओस्टियोकैलसिन कहा जाता है। यह प्रोटीन कैल्शियम और खनिजों को दांतों तक पहुंचाता है, जिसकी कमी इस तंत्र को रोकता है और हमारे दांतों को कमजोर बनाता है।  

जिस तरह से शरीर के लिए बाकी सभी विटामिन और मिनरल्स की आवश्यकता होती है ठीक उसी तरह से विटामिन ‘के’ भी आपने लिए उतना ही उपयोगी है। वहीं कई ऐसे आहार हैं, जिनका सेवन कर आप विटामिन के कमी को पूरा कर सकते हैं। इनमें पत्ता गोभी, ब्रोकली, पालक, शलजम, चुकंदर जैसी सब्जियां शामिल हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर