ये लोग ज्यादा करा रहे हैं सेक्स चेंज, जानें कानूनी प्रावधान और कहां ट्रासजेंडर को सर्जरी के लिए मिलती है मदद

हेल्थ
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Dec 02, 2021 | 14:07 IST

Sex Change Cases In India: भारत में सेक्स चेंज कराने के मामले बढ़े हैं। पुरूष से महिला बनाने के मामले ज्यादा हैं। और ज्यादातर 25-40 साल की उम्र के लोग सेक्स चेंज करा रहे हैं।

Sex change Surgery
सेक्स चेंज के मामले बढ़े। फोटो: आईस्टॉक 
मुख्य बातें
  • पुरूष से महिला बनने की सर्जरी पर करीब 3-3.5 लाख रुपये खर्च आता है।
  • महिला से पुरूष बनने की सर्जरी में करीब 4.5-5 लाख रुपये का खर्च आता है।
  • सर्जरी की अनुमति के लिए दो मनोचिकिस्तक की मंजूरी लेनी जरूरी होती है।

नई दिल्ली: हाल ही में मध्य प्रदेश गृह विभाग ने महिला पुलिस आरक्षक को लिंग परिवर्तन की इजाजत दे दी गई है। ये प्रदेश का पहला मामला है, जिसमें शासन द्वारा sex change की अनुमति दी गई है। इसके तहत महिला आरक्षक पुरुष बन सकेगी। राज्य सरकार का यह फैसला  बदलते भारत की तस्वीर है। जहां पर इस तरह के कदमों की स्वीकार्यता बढ़ी है।  

क्या होता है सेक्स चेंज

असल में सेक्स चेंज एक सर्जरी है। जिसमें किसी पुरूष को महिला बनाया जा सकता है और महिला को पुरूष बनाया जा सकता है। इसके अलावा ट्रांसजेंडर भी अपना  सेंक्स चेंज करवा सकते हैं। इस तरह के सेक्स चेंज कराने की प्रक्रिया प्लास्टिक सर्जन के द्वारा की जाती है। हालांकि सेक्स चेंज कराने के बावजूद व्यक्ति बच्चे पैदा नहीं कर सकता है। यानी सेक्स चेंज कराने के बाद पुरूष और स्त्री महिला बच्चे पैदा करने की क्षमता नहीं होती है।

पुरूष से महिला बनने  के मामले ज्यादा

पुणे स्थित प्लास्टिक और रिकंस्ट्रक्टिव सर्जन डॉ सलिल पाटिल ने टाइम्स नाउ नवभारत डिजिटल से बताया कि जागरूकता बढ़ने, स्वीकार्यता और कानूनी मान्यता मिलने से पिछले तीन-चार मामले में बढ़े हैं। पाटिल के अनुसार कई लोगों में जेंडर डिसऑर्डर की समस्या होती है। 

मतलब पुरूष को लगता है कि वह महिला जैसा है। इसी तरह महिला को लगता है कि वह पुरूष जैसा है। तो यह कोई बीमारी नहीं है। इसे ऐसा समझे जा सकता है कि जैसा कोई व्यक्ति है, वैसा ही वह सोच रहा है। लेकिन सर्जरी कराने से पहले उसे दो मनोचिकित्सक से जांच कर अप्रूवल लेना होता है कि यह डिसऑर्डर है। न कि वह किसी दबाव या किसी मानसिक समस्या की वजह से सेक्स चेंज कराने का फैसला ले रहा है।  

किस तरह के वर्ग के लोग सेक्स चेंज के लिए आ रहे हैं, तो डॉ पाटिल का कहना है कि सभी वर्ग के लोग आ रहे हैं। इसमें ट्रांसजेंडर भी शामिल हैं। एक ट्रेंड जरूर दिखता है कि लोग पुरूष से महिला बनने वालों की संख्या ज्यादा है। साथ ही ज्यादातर लोग 25-40 साल की उम्र के लोग हैं।

एक बात और समझनी जरूरी है कि सेक्स चेंज कराने का मतलब कतई नहीं है कि व्यक्ति बच्चे पैदा कर सकेगा। अभी इस तरह की तकनीकी विकसित नहीं हुई है। लेकिन वह सर्जरी के 15 दिन बाद सामान्य जीवन जी सकेगा।

ग्लोबल मार्केट इनसाइट की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी का बाजार 2019 में 316 मिलियन डॉलर से अधिक का था। जिसमें 200 मिलियन डॉलर से ज्यादा पुरूष से महिला बनने का सेगमेंट था। इसमें 25 फीसदी से ज्यादा की ग्रोथ है।

क्या है कानूनी प्रावधान और कितना आता है खर्च

रिअसाइनमेंट सर्जरी वेबसाइट के फाउंडर और सर्जरी के लिए कंसल्टेंसी देने वाले केशव सोलंकी के अनुसार भारत में यह पूरी तरह से कानूनी है। लेकिन केवल 18 साल और उससे ज्यादा की उम्र के लोग  अपनी मर्जी से सेक्स चेंज करवा सकते हैं। ऐसा करने के लिए उन्हों दो मनोचिकित्सक से अप्रूवल लेना होता है। जिसमें मनोचिकित्सक 6 महीने चक सेक्स चेंज कराने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति की निगरानी और काउंसलिंग करता है। और उसके सर्टिफिकेशन के बाद ही सर्जरी की जाती है।

अभी हमारे पास हर रोज 10-15 कॉल सर्जरी के लिए आती है। जिसमें से 70 फीसदी भारत से कॉल आती है। जबकि बाकी कॉल विदेश से जिसमें श्रीलंका, जर्मनी, पाकिस्तान आादि देशों से आती है। पुरूष से महिला बनने का करीब 3-3.5 लाख रुपये खर्च आता है। जबकि महिला से पुरूष बनने में 4.5-5 लाख रुपये का खर्च आता है। 

केरल सरकार ने शुरू की ट्रांसजेंडर के लिए स्कीम

साल 2011 की जनगणना के अनुसार देश में 4,87,803 लोग ट्रांसजेंडर कैटेगरी में आते हैं। ट्रांसजेंडर को सेक्स चेंज कराने के लिए केरल सरकार ने स्कीम चलाई है। जिसमें आवेदक को 2 लाख रुपये की वित्तीय सहायता मिलती है। इसी तरह तमिलनाडु सरकार राज्य सरकार के अस्पतालों में ट्रांसजेडर के लिए सर्जरी की सुविधा फ्री में मिलती है। आयुष्मान स्कीम में भी ट्रांसजेंडर के लिए सेक्स चेंज की सुविधा देने का प्रस्ताव है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर