Ardha Navasan or boat posture: आलस और कमजोरी से हैं परेशान तो रोजाना कीजिए अर्ध नवासन योग

Ardha Navasan or boat posture: शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग सबसे बेहतर विकल्प है। अर्ध नवासन योग आपको स्वस्थ रखने के साथ ही आपको फुर्ती देता है।

Benefits of doing Ardha Navasan Yoga
अर्ध नवासन योग शरीर की सेहत के लिए काफी लाभकारी है।  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • अर्ध नवासन या बोट आसन किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करता है
  • गर्भवती महिलाओं को ये आसन नहीं करना चाहिए
  • शुरुआत में आप दीवार के सहारे इस आसन को कर सकते हैं

नई दिल्ली: शरीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने पर ही आप किसी काम को अच्छी तरह से कर सकते हैं। कोरोना काल में स्वस्थ रहना एक चुनौती बन गया है। आपको स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन कुछ समय योग अवश्य करना चाहिए। अगर आप भी आलस और कमजोरी महसूस कर रहे हैं, तो रोजाना बस कुछ मिनट कीजिए अर्ध नवासन और खुद को दीजिए नई ताजगी। 

क्या है अर्ध नवासन या बोट आसन?   

इसमें आप जमीन पर कुछ इस तरह से बैठते हैं जैसे की नाव हो। ये पोजीशन आपके पूरे शरीर को काम पर लगा देती है। इससे शरीर के हर हिस्से में रक्त का संचार होने लगता है। इस आसन से शरीर पूरी तरह से वर्क मोड पर आ जाता है। इतना ध्यान रखें कि ये आसन करते समय आपकी पीठ और पैर दोनों ही बिल्कुल सीधी अवस्था में हों।  

स्टेप बाय स्टेप ऐसे करें अर्ध नवासन  

  1. अर्ध नवासन करने के लिए आप इस तरह से शुरुआत कर सकते हैं।  
  2. चटाई या फर्श पर सीधे बैठें। 
  3. अपने पैरों को अपने सामने फैलाएं। यह प्रारंभिक स्थिति है और अपनी पीठ को बिल्कुल सीधे रखें। 
  4. धीरे-धीरे अपने पैरों और घुटनों को मोड़ें। 
  5. अपने हाथों को समर्थन के लिए अपनी पीठ के पीछे फर्श पर रखें और आसन को शुरू करें। 
  6. अपने पैरों को उठाएं। 
  7. अब अपनी पेल्विक हड्डियों पर संतुलन रखें और एक मजबूत योग मुद्रा रखें। 
  8. -घुटने के स्तर से नीचे अपने पैर के सामने अपनी बाहों को सीधा करें और योग मुद्रा में अपने शरीर को संतुलित करें।
  9. अपनी पीठ को जितना हो सके सीधा रखने की कोशिश करें। 
  10. -इसी मुद्रा में अब आप उतनी देर तक बैठें जितना आप बैठ सकते हैं। 
  11. -लंबी सांस लें और रिलैक्स रहें। 
  12. -रिलैक्स होने के बाद एक बार फिर से आप पूरी मुद्रा को दोहराएं। 

अर्ध नवासन के फायदे  

  • ये आपकी मांसपेशियों को मजबूत करता है। 
  • शरीर की क्षमता को बढ़ाता है। 
  • इम्युनिटी और पाचन शक्ति को बढ़ाता है। 
  • यह ग्रंथियों को उत्तेजित करने में मदद करता है। 
  • मासिक धर्म चक्र और हार्मोनल असंतुलन को नियंत्रित करता है। 
  • किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करता है।      

इन बातों का रखें ध्यान   

  1. अगर आपको किसी तरह की समस्या है, तो आप दीवार के पास बैठकर इस आसन को करें। इससे आपकी पीठ को सपोर्ट मिलेगा। 
  2. प्रेग्नेंट महिलाओं को ये आसन नहीं करना चाहिए। 
  3. पीरियड्स में होने वाली लड़कियों को भी इससे बचना चाहिए। 
  4. दिल के मरीज और लो ब्लड प्रेशर वालों को इस आसन को नहीं करना चाहिए। 
  5. डायरिया और अस्थमा मरीजों को भी अर्ध नवासन नहीं करना चाहिए। 

तो अब आप भी शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए अर्ध नवासन कर सकते हैं। 
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर