Holi 2021: होली के रंगों से नहीं होगी आंखों में खुजली और जलन की समस्या, ऐसे करें आंखों की सुरक्षा

केमिकल युक्त रंगों का प्रयोग ना सिर्फ आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है बल्कि इसका सबसे बुरा प्रभाव आपकी आंखों पर पड़ता है। ऐसे में होली के अवसर पर आपकी जरा सी लापरवाही मुसीबत का कराण बन सकती है।

Holi
Holi 

मुख्य बातें

  • होली खेलने से पहले आंखों के आसपास लगाएं नारियल तेल या कोल्ड क्रीम की मोटी परत
  • होली के अवसर पर चमकीले रंगों के बनाएं दूरी
  • होली खेलते समय भूलकर भी ना पहनें कॉन्टेक्ट लेंस

नई दिल्ली. रंगों के त्योहार होली में अब कुछ ही घंटे बाकी हैं, ऐसे में लोगों की बेसब्री देखने लायक है। होली उमंग और मस्ती का त्योहार है, लेकिन खुशियों से भरे इस रंग के उत्सव को कुछ चीजें बदरंग भी कर देती हैं। 

केमिकल युक्त रंगों का प्रयोग ना सिर्फ आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है बल्कि इसका सबसे बुरा प्रभाव आपकी आंखों पर पड़ता है। होली के दौरान यदि हम अपनी आंखो का अच्छे से ख्याल ना रखें तो सूजन, जलन औऱ एलर्जी जैसी शिकायतें हो सकती हैं। 

कई बार आपकी यह छोटी सी समस्या गंभीर रूप धारण कर सकती है और व्यक्ति अपनी आंखों की रोशनी खो बैठता है। ऐसे में इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे की होली के दौरान आप अपनी आंखों की देखभाल कैसे करें।

होली के दौरान आंखों के संक्रमण का कारण

सिंथेटिक रंगों से बनाएं दूरी
होली खेलने के लिए आजकल लोग सिंथेटिक रंगों का इस्तेमाल करते हैं। यह रंग ना केवल हमारे त्वचा और सेहत के लिए बेहद हानिकारक होता है बल्कि इन रंगों से हमारी आंखो पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। 

यह आंखों में जलन, एलर्जी औऱ सूजन की स्थिति पैदा कर देते हैं और कई बार स्थिति इतनी भयावह हो जाती है कि व्यक्ति के आंखों की रोशनी चली जाती है। इसलिए इन रंगों से बचकर रहें तथा होली सूखे गुलाल से खेलें।

ना करें हरे सिंथेटिक रंग का प्रयोग
आपको बता दें ग्रीन सिंथेटिक कलर त्वचा के साथ आंखों के लिए बेहद हानिकारक होता है। यदि होली खेलते दौरान यह रंग गलती से भी आपके आंख में चला गया तो आंख में गंभीर घाव पैदा कर सकता है औऱ आप दृष्टि खो सकते हैं। इसलिए भूलकर भी इस रंग का प्रयोग ना करें।

गुब्बारों को कहें ना
होली के दौरान बच्चों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला रंग या पानी से भरा गुब्बारा खतरनाक साबित हो सकता है। यह आंख में गंभीर घाव पैदा कर सकता है तथा ब्लंट ट्रॉमा का कराण बन सकता है। इसलिए पानी या रंग से भरे गुब्बारे से होली खेलने से आपको बचना चाहिए।

ना खरीदें ये रंग
बाजार में उपलब्ध आपने लाल रंग को देखा होगा, जो शाशे की तरह चमकता है। अक्सर व्यक्ति इस रंग के इसी खासियत की वजह से इसकी तरफ आकर्षित हो उठता है, लेकिन आपको बता दें यह आंखों के लिए बेहद खतरनाक होता है। 

यदि एक भी कण आंखों में पड़ गया तो आप आंखों की दृष्टि खो सकते हैं। इसलिए भूलकर भी ऐसे रंग बाजार से ना खरीदें और यदि आपने ऐसा कलर खरीद लिया है तो होली खेलने के दौरान इसका प्रयोग ना करें।

ना पहनें कॉन्टेक्ट लेंस
होली खलते समय भूलकर भी कॉन्टेक्ट लेंस पहनने की कोशिश ना करें। क्योंकि संक्रमण के दौरान रंग लेंस के बीच फंस सकता है। इसलिए होली खेलते समय कॉन्टेक्ट लेंस ना पहनें।


होली के दौरान आंखों को सुरक्षित रखने के लिए बरतें ये सावधानी

सनग्लासेस पहनें
होली खेलते समय सनग्लासेस पहनें ताकि आप आंखों को सुरक्षित रख सकें। तथा कोशिश करें की लोगों को मुंह में रंग लगाने से रोकें। यदि किसी कारणवश रंग आंख में चला जाए तो आंखों को रगड़ें नहीं बल्कि तुरंत अच्छी तरह धोएं। 

आंख धोने के लिए ज्यादा गर्म या ठंडे पानी का इस्तेमाल ना करें बल्कि नॉर्मल पानी से धोएं। इसके बाद भी अगर आंख में जलन, सूजन या दर्द महसूस होता है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

आंख के आसपास नारियल तेल की माटी परत लगाएं
होली खेलने से पहले आंख के पास नारियल तेल की मोटी परत अच्छे से लगाएं। इससे होली खेलने के बाद आपके आंख के आसपास से रंग आसानी से हट जाता है। तथा होली खेलते समय कोशिश करें की लोग आपके आंख के पास रंग ना लगा पाएं।


सुरक्षित होली खेलने के टिप्स
बच्चों की त्वचा काफी नाजुक होती है, जिससे बच्चों पर रंगों का साइड इफेक्ट काफी तेज होता है। इसलिए बच्चों को रंग से होली खेलने से बचना चाहिए और खासकर सिंथेटिक कलर का प्रयोग उन्हें भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

होली खेलने के बाद स्नान करने व कपड़े धोने के लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। तथा आंख व बाल से रंग छुड़ाते समय आंख को कसकर बंद करके रखें। क्योंकि कई बार बालों से निकलने वाला वाला रंग आपकी आंख में चला जाता है, जो आपके आंखों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

कच्चे रंगों से खेलें होली
होली के अवसर को खुशनुमा बनाने के लिए गुलाल का प्रयोग करें, सिंथेटिक कलर के इस्तेमाल से आपको बचना चाहिए। क्योंकि सिंथेटिक कलर ना ही आपके त्वचा और आंखों को नुकसान पहुंचाता है बल्कि इसको छुड़ाने में भी काफी परेशानी होती है। 

कच्चे रंगों का प्रयोग करें जो आसानी से छूट जाए। होली खेलने से पहले मुंह और हांथ पर अच्छे से कोल्ड क्रीम या तेल लगाएं और आंख के पास एक मोटी परत बना लें। इससे आंख धोने पर रंग पूरी तरह अच्छे से निकल जाएगा। 

इन चीजों से खेलें होली
होली खेलने के लिए आपको बाजार में उपलब्ध रंगों से बचना चाहिए। हानिकारक रसायन पदार्थों से बने रंगों के बजाय आप बेसन, पलाश के पत्तों व पानी में घोलकर रखे गए चुकंदर आदि का प्रयोग कर सकते हैं। 

आपको बता दें यह पानी में घोलने के बाद रंग के समान गाढ़ा हो जाता है और त्वचा के लिए नुकसानदायक भी नहीं होता। आप आंख को कसकर बंद करके गर्म पानी का इस्तेमाल रंग छुड़ाने के लिए कर सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर