Healthy Food: आयुर्वेद के हिसाब से कैसा होना चाहिए भोजन, ताकि पूरा साल रहे फिट और दुरुस्त

Healthy Food: अच्छे स्वास्थ्य और लंबे समय तक जवां रहने लिए हमेशा संतुलित आहार ग्रहण करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार, भोजन को मौसम, शारीरिक बनावट और समय के अनुसार खाना चाहिए, ताकि सालों-साल स्वस्थ रहें और बीमारियों से बचे रहें।

Healthy Food
Ayurveda Healthy Food 
मुख्य बातें
  • सभी 6 रसों से भरपूर होना चाहिए खाना
  • खाना खाने से आधा घंटा बाद पिएं पानी
  • चोकरयुक्त रोटी और दलिये का करें सेवन

Healthy Food: अच्छे स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक और संतुलित आहार बहुत जरूरी होता है। आयुर्वेद के अनुसार, भोजन को मौसम, शारीरिक बनावट और समय के अनुसार खाना चाहिए। दरअसल, हम जो भी खाते हैं, वो जरूरी नहीं है कि स्वास्थ्य के लिहाज से अच्छा हो। इसके साथ ही कुछ भी खाने-पीने का एक सही समय होता है, अन्यथा पौष्टिक खाने का भी कोई लाभ नहीं होता। तो चलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आयुर्वेद के अनुसार कैसा होना चाहिए खाना और खाने का सही समय क्या होता है। तो चलिए जानते हैं कि आयुर्वेद के अनुसार क्या और कब खाना चाहिए-

6 रसों से भरपूर होना चाहिए आहार

आयुर्वेद के अनुसार भोजन में सभी 6 रस होने चाहिए। ये 6 रस मीठा, नमकीन, खट्टा, कड़वा, तीखा और कसैला होते हैं। इन सभी 6 रसों से परिपूर्ण भोजन करने से शरीर को सभी पोषक तत्व मिलते हैं।

ज्यादा पकी न हो सब्जी
आयुर्वेद के अनुसार सब्जी ज्यादा पकी हुई नहीं होनी चाहिए क्योंकि ज्यादा पकाने से सब्जी के पोषक तत्व कम हो जाते हैं। इसलिए सब्जी हमेशा कम आंच पर पकाएं और पकाने में ज्यादा समय न लगाएं।

दलिये का करें सेवन
आयुर्वेद के अनुसार, खाने में चोकरयुक्त आटे की रोटी और दलिया का सेवन करना चाहिए। वहीं, मीठे में चीनी की जगह प्राकृतिक शहद और गुड़ खाना फायदेमंद होता है।

जंक फूड से करें परहेज
स्वस्थ रहने के लिए जंक फूड से परहेज करना ही बेहतर होता है। दरअसल, जंक फूड में सोडियम, ट्रांसफैट और शुगर भरपूर मात्रा में होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं।

हमेशा ताजा खाना ही खाएं
लंबे समय तक जवां रहने और बीमारियों से बचने के लिए हमेशा ताजा खाना ही खाना चाहिए। ताजा खाना पाचन क्रिया को दुरुस्त बनाए रखता है, जिससे पेट संबंधी समस्याएं नहीं होती।

भूख से आधा खाएं खाना
आयुर्वेद में कहा गया है कि हमेशा भूख से आधा खाना ही खाना चाहिए। इससे खाना पचने में आसानी होती है। साथ ही खाने के सभी पोषक तत्व भी शरीर मे घुल भी जाते हैं।

ऐसे पिएं पानी
खाना खाने के साथ कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए, हां एक-दो घूंट पानी पिया जा सकता है। आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के आधा घंटा पहले और आधा घंटे बाद पानी पीना चाहिए।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर