क्या आप कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं? तो फिर आपको जरूर रखना चाहिए इन बातों का ध्यान

Tips after recovering from corona virus: कोरोना से मात देने के बाद भी कुछ बातों का एहतियात बरतना बहुत जरूरी है। आइए जानते हैं कि कोरोना से ठीक होने के बाद किन किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

Tips after recovering from corona virus:
कोरोना ठीक होने के बाद ये सावधानी है जरूरी।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • एक कोरोना संक्रमित मरीज आमतौर पर 3 सप्ताह में ठीक हो जाता है
  • लेकिन उसके बाद भी कुछ बातों की सावधानी जरूरी है
  • किसी भी संकेत या लक्षण को हल्के में ना लें

नई दिल्ली: दिसंबर 2019 चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोनावायरस नहीं आज पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है। इस वक्त पूरी दुनिया में 2,28,74,516 लोग कोरोनावायरस से प्रभावित है जिनमें 7,97,271 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। इस वक्त दुनिया भर में कोरोनावायरस से निजात पाने के लिए वैक्सीन और दवाइयों पर शोध किया जा रहा है।

हालांकि पहले से मौजूद कुछ दवाइयों से कोरोनावायरस से ग्रसित लोगों का इलाज किया जा रहा है और उससे लोगों में रिकवरी भी अच्छी देखी जा रही है। आज हम आपको बताएंगे कि अगर आप कोरोनावायरस से ठीक हो चुके हैं तो आपको अपने दैनिक जीवन में क्या करना चाहिए।

कोरोना से ठीक होने के बाद की समस्याएं

एक कोरोना संक्रमित मरीज आमतौर पर 3 सप्ताह में ठीक हो जाता है। हालांकि शोध में पता चला है कि कोरोनावायरस से ठीक होने के बाद भी आपको फेफड़े, ह्रदय और गुर्दे की बीमारी से जूझना पड़ सकता है। कुछ अध्ययनों में बताया गया है कि, कोरोनावायरस से पीड़ित व्यक्ति को लंबे समय तक न्यूरोलॉजिकल स्थितियां और मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है।

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ( सीडीसी ) के अनुसार जिन लोगों कोरोना हुआ है अगर उन्हें बिना दवा दिए 7 घंटे तक बुखार नहीं आता या 7 दिनों तक लगातार खांसी, सांस की तकलीफ जैसे लक्षणों में पहले से सुधार दिखाई देता है तो उन्हें एक टेस्ट के बाद कोरोना नेगेटिव मान लिया जाता है।

कोरोना से ठीक होने के बाद धैर्य बनाएं

अगर आप पहले कोरोनावायरस से संक्रमित थे और अब ठीक हो चुके हैं तब आपको अभी भी कुछ नियमों का पालन करना चाहिए। सबसे पहले तो हॉस्पिटल से आते ही लोगों से घुलना मिलना मत शुरू कीजिए कम से कम एक-दो दिन अपने आप को अलग रखने की कोशिश कीजिए। जैसे आप पहले जीवन जी रहे थे उस तरह से जीवन जीने में अभी थोड़ा वक्त लग सकता है इसलिए धीरे-धीरे पुरानी दिनचर्या में लौटें।

फिर से हो सकता है कोरोनावायरस

कुछ बीमारियों में एक बार अगर आप उससे ठीक हो जाते हैं तो आपके अंदर कुछ वक्त के लिए उससे लड़ने की रोग प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न हो जाती है। लेकिन कोरोनावायरस के साथ ऐसा नहीं है, अध्ययनों से पता चला है कि कोरोनावायरस से ठीक हुए व्यक्ति को फिर से कोरोनावायरस हो सकता है। इसलिए आपको भीड़-भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाना चाहिए बाजार जाते समय मास्क लगाना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हमेशा करते रहना चाहिए।

किसी भी संकेत या लक्षण को हल्के में ना लें

अगर आप कोरोनावायरस से ठीक हो चुके हैं और आपको कभी भी बुखार, सूखी खांसी, सांस लेने में तकलीफ गंभीर सिर दर्द जैसा कोई भी लक्षण आपके शरीर में दिखाई देता है तो आप अपने चिकित्सक से तुरंत संपर्क करें इसे हल्के में लेने की जरा सी भी गलती ना करें।

मेमोरी एक्सरसाइज करने की कोशिश करें

आपको हर रोज मेमोरी एक्सरसाइज करनी चाहिए, जैसे कि पहेलियां सुलझाएं, पजल्स बनाएं, चेस खेलें या ऐसा कोई भी गेम खेलें जिसमें दिमाग का उपयोग ज्यादा होता है। ऐसा आपको हर रोज कम से कम 1 से 2 घंटे तो करना ही चाहिए।

ज्यादा शारीरिक श्रम करने से बचें

जानकारों की माने तो किसी भी बीमारी से पूरी तरह उबरने के लिए आपको ऊर्जा की बहुत आवश्यकता होती है। इसलिए अगर आप कोरोनावायरस से ठीक हो चुके हैं तो कुछ दिनों तक भारी शारीरिक श्रम करने से आपको बचना चाहिए।

अपनी पुरानी दवाओं की जांच करें

कई बार देखा गया है जिन व्यक्ति को कोरोनावायरस होता है उन्हें पहले से ही अन्य प्रकार की बीमारियां रहती है जैसे शुगर, ब्लड प्रेशर, गठिया इत्यादि। अगर आपको भी ऐसे बीमारियां हैं तो आपको अपनी पुरानी दवाओं को एक बार डॉक्टर से परामर्श लेकर तब खानी चाहिए।

नियमित रूप से व्यायाम करें

व्यायाम या योग हर व्यक्ति के लिए जरूरी होता है चाहे वह कोरोनावायरस से पीड़ित व्यक्ति हो या कोरोनावायरस से ठीक हो चुका व्यक्ति व्यायाम तो हर रोज करना ही चाहिए। जैसे कि रोज सुबह उठकर टहलना योग करना बैठते वक्त रीढ़ की हड्डी को सीधा करके बैठना यह सब आपको प्रतिदिन करना चाहिए। हर रोज व्यायाम के लिए एक शेड्यूल तय कर ले और उसी शेड्यूल के साथ हर रोज व्यायाम करते रहें।

मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें

अध्ययनों में पाया गया है कि कोरोनावायरस संक्रमण से ठीक होने वाले व्यक्तियों को मानसिक बीमारियों से जूझना पड़ सकता है। इसलिए आपको इसके लिए पहले से ही सतर्क रहना होगा। इसलिए आप अपने आपको हमेशा मोटिवेटेड रखें। अपने प्रियजनों और परिवार वालों से संवाद करते रहे चाहे वह फोन, वीडियो कॉल या सोशल मीडिया किसी भी माध्यम से हो। अच्छे आहार का सेवन करें, अच्छी नींद लें, हर रोज व्यायाम करें, शराब और नशे से दूर रहें, सोने से कम से कम 1 घंटे पहले फोन या लैपटॉप इस्तेमाल करने से बचें और अगर आपके साथ गंभीर समस्याएं हैं तो चिकित्सक की सलाह भी लें।

कुछ महत्वपूर्ण बातें

आप कोरोनावायरस से ठीक हो चुके हैं लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि आप 100% ठीक हो चुके हैं इसलिए आपको अभी भी अपना पूरा ख्याल रखने की जरूरत है अगर आपको कोई भी समस्या आ रही हो जैसे सांस लेने में तकलीफ बुखार गंभीर सिर दर्द या कोई भी शारीरिक तकलीफ तो तुरंत किसी चिकित्सक से संपर्क करें। किसी मानसिक परेशानी से अकेले जूझने की कोशिश ना करें हमेशा परिवार वालों और प्रिय जनों की मदद लें मदद मांगने में बिल्कुल भी संकोच ना करें ऐसा करना आपके लिए घातक साबित हो सकता है। कुछ दिन तक शरीर को और दिमाग को आराम दें और कठिन परिश्रम से बचें।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर