शुगर में राहत से लेकर सूजन कम करने तक, कदंब के वृक्ष के हैं ये अचूक फायदे

Kadamba Ke fayde: यह शरीर में कैंसर कोशिकाओं को फैलने से भी रोकता है।कदंब के फल या फूल ही नहीं बल्कि पूरा वृक्ष स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। यह शरीर में कैंसर कोशिकाओं को फैलने से भी रोकता है।

Kadamba Tree
Kadamba Tree 

मुख्य बातें

  • कदंब का पेड़ शुगर टाइप 2 मरीजों के लिए है रामबाण, इसके पत्तों में मौजूद होता है मेथनॉलिक अर्क।
  • कदंब के पत्ते दर्द और सूजन से दिलाते हैं निजात, ऐसे करें उपचार।
  • कदंब का अर्क एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुणों से होता है भरपूर।

Kadamba Ke fayde: सनातन हिंदु धर्म में कदम के पेड़ का विशेष महत्व है। पौराणिक कथाओं के अनुसार मान्यता है कि कदंब का पेड़ भगवान श्री कृष्ण को अत्यंत प्रिय था। वह अक्सर इसी वृक्ष पर बैठा करते थे। इस पेड़ को देव वृक्ष भी कहा जाता है। इसके फल या फूल ही नहीं बल्कि पूरा वृक्ष स्वास्थ्य के लिए किसी जादू से कम नहीं है। जी हां खांसी, जुकाम, बुखार या अन्य मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए यह रामबांण सिद्ध होता।

वहीं आपको बता दें डायबिटीज के मरीजों के लिए कदंब के पत्ते जीवनवृक्ष साबित होते हैं। यह गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने व इनके संक्रमण से दूर रखने में कारगार होता है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। वेदों और पुराणों में भी इन वृक्षों व फूलों का उल्लेख किया गया है। ऐसे में इस लेख के माध्यम से आज हम आपको बताएंगे कदंब के फल, फूल, पत्ते और छाल के स्वास्थ्य संबंधी अचूक फायदे।

ब्लड शुगर को करता है नियंत्रित

कदंब का पेड़ ब्लड शुगर के मरीजों के लिए किसी अमृत से कम नहीं है। इसके जड़ और छाल में ब्लड शुगर विरोधी तत्व पाए जाते हैं। इसके पत्तों में मेथनॉलिक अर्क मौजूद होता है, जो बढ़े हुए रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में कारगार होता है। ऐसे में मधुमेह के रोगियों को इसके फल, फूल और जड़ों का सेवन अवश्य करना चाहिए।

घाव भरने के लिए

कदंब का पेड़ प्राचीन कल से ही अपने चमत्कारी गुणों के लिए जाना जाता है। पुराने समय में लोग इसकी छाल का इस्तेमाल घाव भरने के लिए किया करते थे। इसके पत्तों में घाव भरने वाले सभी गुण मौजूद होते हैं, जो आपके घाव को जल्दी भरने में मदद करता है। इसके लिए आप कदंब की पत्तियों का लेप बनाकर इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। ऐसा करने पर दो से तीन दिन में आपका घाव पूरी तरह ठीक हो जाएग और धीरे धीरे घाव का निशान भी खत्म हो जाएगा।

दर्द या सूजन दूर करने के लिए

कदंब का पेड़ किसी भी तरह का सूजन और दर्द दूर करने के लिए कारगार उपाय है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। इसके लिए आप इसकी पत्तियों को थोड़ा गर्म कर सूजन या दर्द वाले स्थान पर बांध लें। चूहों पर किए गए एक शोध के मुताबिक पत्तियों में एनाल्जेसिक गुण पाए जाते हैं, जो पेन किलर का काम करता है।

फंगल इंफेक्शन को करे कम

त्वचा रोगों का इलाज करने के लिए कदंब का पेड़ किसी जादुई छड़ी से कम नहीं। प्राचीन काल में त्वचा रोगों का उपचार करने के लिए इस पेड़ के अर्क का पेस्ट बनाकर इस्तेमाल किया जाता था। आपोक बता दें पौधे का अर्क एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरिया गुणों से भरपूर होता है, जो कई प्रकार के बैक्टीरिया, जैसे एस्चेरिचिया कोलाई, प्रोटीस मिराबिलिस से लड़ने में कारगार होता है। नियमित तौर पर इसका लेप लगाने से चेहरे पर निखार आता है। साथ ही दाग, धब्बे और मुहासे खत्म होते हैं।

लिवर को रखे स्वस्थ

लिवर शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। आपका लिवर जितना स्वस्थ होगा आप उतने ही तंदुरुस्त होंगे। लेकिन खानपान और जीवनशैली में बदलाव के कारण आजकल अधिकतर लोग लिवर की समस्या से ग्रस्त है। ऐसे में कदंब का पेड़ लिवर के स्वास्थ के लिए बेहद फायदेमंद होता है। चूहों पर किए गए एक शोध के मुताबिक कदंब के पेड़ में ऐसे कई गुण मौजूद होते हैं, जो लिवर के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। लिवर को स्वस्थ रखने के लिए कदंब के फल व फूल का सेवन करें।

मोटापा कम करने में सहायक

कदंब का पेड़ मोटापा कम करने के लिए सबसे कारगार उपाय है। आपको बता दें इसकी जड़ के अंदर लिपिड कम करने वाले गुण पाए जाते हैं। जो मोटापे को तेजी से कम कर आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। ऐसे में नियमित तौर पर एक्सरसाइ और डाइट प्लान के साथ इसकी जड़ों का सेवन कर सकते हैं।

कैंसर कोशिकाओं को रोकने में कारगार

कदंब के पेड़ में कैंसर रोधी गुण पाए जाते हैं। यह कैंसर जैसी भयावह बीमारी से दूर रखने व इसके संक्रमण को कम करने में सहायक होता है। यह शरीर में एंटीट्यूमर जैसी गतिविधियां पैदा करता है, जो शरीर में कैंसर कोशिकाओं को फैलने से रोकता है। साथ ही यह प्रोस्टेट कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर की संभावना को कम करने में कारगार होता है। ऐसे में इसके फल व फूल का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर