Gotu Kola ke fayde : आयुर्वेद में चमत्‍कारी माना गया है गोटू कोला, बाल लंबे करने से लेकर द‍िमाग तक करता है तेज

हेल्थ
श्वेता सिंह
श्वेता सिंह | सीनियर असिस्टेंट प्रोड्यूसर
Updated Jul 22, 2020 | 10:18 IST

Gotu Kola ke fayde nuksan : नमी वाली जगह पर पाया जाने वाला आम पौधा है गोटू कोला। इस पौधे में गजब के औषधीय गुण होते हैं जो बालों, त्‍वचा और यहां तक क‍ि द‍िमाग तेज करने में बेहद फायदेमंद माने गए हैं।

Gotu Kola ke fayde nuksan indian herbs Centella asiatica madukparni brahmi booti
Gotu Kola ke fayde nuksan, आपको जरूर जानने चाहिए गोटू कोला के फायदे और नुकसान 

मुख्य बातें

  • गोटू कोला नमी वाली जगह पर पाया जाता है
  • इस पौधे को ब्राह्मी बूटी या मण्डूकपर्णी से भी जानते हैं
  • तनाव कम करने और द‍िमाग की क्षमता बढ़ाने में कारगर माना जाता है गोटू कोला

वक्त चाहे जो हो, भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल हमेशा होता रहा है। कोरोना काल में भी लोग औषधियों के उपयोग पर अधिक विश्वास कर रहे हैं। ऐसी ही एक जड़ी-बूटी है गोटू कोला। ये आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है। इसके फायदे के बारे में आपको अवश्य जानना चाहिए।

what is Gotu Kola, आखिर क्या है ये गोटू कोला ?
सबसे पहले तो आपको बता दें कि आखिर ये गोटू कोला है क्या। आज से नहीं बल्कि प्राचीन समय से गोटू कोला का इस्तेमाल एक औषधि के रूप में किया जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम सेंटेला आस्टीटिका (Centella asiatica) है। इसकी पत्तियां हरे रंग की होती हैं। इसमें हल्के बैंगनी, गुलाबी या सफेद रंग के फूल खिलते हैं। इसे ब्राह्मी बूटी या मण्डूकपर्णी भी कहते हैं। 

Gotu Kola ke fayde, गोटू कोला के कई फायदे इस प्रकार हैं

  1. दिमाग को दुरुस्त रखता है : अगर आप गोटू कोला का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इससे आपका दिमाग सही तरह से काम करेगा। ये ध्यान लगाने और एकाग्रचित होने में बहुत ही सहायक है।  
  2. चिंता के लक्षणों में कारगर है : गोटू कोला  में बहुत ही फायदेमंद होता है। कोलकाता के कई मेडिकल कॉलेज ने इसपर रिसर्च किया। उसमें पता चला कि गोटू कोला चिंता के लक्षणों और उससे होने वाली समस्याओं को कम करता है। पैनिक अटैक, बहुत अधिक खाना या कम खाना आदि में ये सहायक है।
  3. ब्लड प्रेशर को नियंत्रण करता है : एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार गोटू कोला में उच्च मात्रा में टोटल फेनोलिक कंटेंट पाया जाता है। ये उच्च रक्तचाप में सहायक हो सकते हैं। शोध में खासकर कुएरसेटिन नामक फ्लावोनोइड में एंटी हाइपरटेंसिव प्रभाव का जिक्र किया गया है।   
  4. अल्सर में राहत देता है : आपने कई बार सुना होगा कि बहुत से लोगों को पेट में अल्सर हो जाता है। कई बार दवा करने के बाद भी इस समस्या से निजात नहीं मिलता। गोटू कोला में जो प्राकृतिक तत्व पाए जाते हैं, वो पेट के अल्सर से राहत देते हैं। गोटू कोला में एंटीअल्सर गुण मौजूद हैं, जो पेट के अल्सर में राहत देते हैं।
  5. घाव भरने में सहायक : गोटू कोला के कई फायदों में से एक है घाव को भरना। एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि चोट लगी जगह पर गोटू कोला का लेप, जेल लगाने से घाव जल्दी भर जाता है।

Gotu Kola Nutrition, पौष्टिक तत्वों से भरा है गोटू कोला
अब आपको बताते हैं कि गोटू कोला में कितने पौष्टिक तत्व भरे हैं। इसमें कई तरह के प्रोटीन, मिनरल, विटामिन बी और सी पाए जाते हैं। अभी तक ये निश्चित नहीं हो पाया है कि गोटू कोला में इन पोषक तत्वों की मात्रा कितनी होती है।    

how to use Gotu Kola, कैसे करें गोटू कोला का उपयोग
कभी भी गोटू कोला का सीधे उपयोग नहीं किया जा सकता। इसका उपयोग सप्लीमेंट या अर्क के रूप में किया जाता है। स्किन पर गोटू कोला युक्त क्रीम का इस्तेमाल किया जाता है.

Gotu Kola ke nuksaan, गोटू कोला के मुख्य नुकसान
इंडियन जर्नल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज के अनुसार इसमें किसी तरह की विषाक्ता नहीं पायी जाती है, लेकिन इसके अनियंत्रित सेवन से कई तरह की समस्या हो सकती है।

  1. स्किन पर एलर्जी और जलन हो सकती है।
  2. सिरदर्द की शिकायत हो सकती है।
  3. पेट खराब की समस्या हो सकती है।
  4. कई बार इससे अधिक नींद की समस्या हो सकती है।

जिस तरह से आप दवा लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेते हैं। ठीक उसी तरह से जब भी किसी जड़ी-बूटी का उपयोग करें, डॉक्टर का परामर्श अवश्य लें।
 

अगली खबर