प्रेग्नेंसी के दौरान बिल्कुल भी न पिएं ऐसा पानी, बच्चे के आईक्यू पर पड़ सकता है असर

हेल्थ
Updated Jul 27, 2019 | 07:00 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

प्रेग्नेंसी में खाने को लेकर ही नहीं पानी पीने को लेकर भी सतर्क रहना चाहिए क्योंकि यदि पानी में कुछ एक केमिकल्स ज्यादा हुए तो ये आपके शिशु के आईक्यू लेवल को भी प्रभावित कर सकते हैं।

Pregnancy
Pregnancy 
मुख्य बातें
  • नल के पानी पीना आपके बच्चे के आईक्यू को कर देगा कम
  • पानी में मौजूद केमिकल्स से बच्चें में होता है रिएक्शन
  • खान-पान के साथ पानी भी बाहर पीने से बचें

मुंबई. प्रेग्नेंसी में मां अच्छी चीजों के अलावा कई भावनात्मक और शारीरिक बाधाओं से भी नौ महीने तक गुजरती हैं। इन नौ महीनों के दौरान मां और शिशु दोनों ही स्वस्थ रहे इसके लिए हर पल कोशिश की जाती है। लेकिन कुछ एक चीजें ऐसी होती है जिनके बारे में या तो हम सोचते नहीं या हमें पता नहीं होता। जैसे पानी। 

सभी जानते हैं पानी पीना बेहद जरूरी है और प्यास लगने से पहले पानी पीना ज्यादा जरूरी है। पानी साफ होता है तभी सभी पीते भी हैं लेकिन प्रेग्नेंसी में आपको पानी पीते हुए खास ध्यान रखना होगा। पानी से आपके शिशु का आईक्यू के प्रभावित होने का खतरा भी जुड़ा है।  

प्रेग्नेंसी में पौष्टिक खाने, तनावमुक्त रहने के साथ ही आपको फ्लोराइड युक्त पानी पीने से भी बचना होगा। दरअसल ये पानी मां के लिए भले ही बहुत नुकसानदायक न हो पर शिशु के लिए ठीक नहीं है। 

ऐसे होता है आईक्यू कम
कई स्टडीज बताती हैं कि प्रेग्नेंसी में महिलाओं को नल के पानी से बचना चाहिए, क्योंकि इसमें फ्लोराइड ज्यादा होता है। हालांकि बोतलबंद पानी में फ्लोराइड कम होता है लेकिन यह निश्चित नहीं होता है कि बोतलबंद पानी सही तरीके से फिल्टराइज है। ऐसे में इससे भी दूर रहना चाहिए। 

नल का पानी भी बोतल में बंद कर बेच दिया जाता है। हालांकि फ्लोराइडेशन दांतों की सड़न से बचाने का काम करता है, लेकिन हालिया स्टडी में यह पाया गया कि प्रेग्नेंसी के दौरान अगर शिशु के पेट में ये पानी जाए तो उसका आईक्यू कम हो सकता है।

भ्रूण के लिए सही नहीं
बचपन में फ्लोराइड का एक्सपोजर सुरक्षित है,लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान नहीं क्योंकि भ्रूण की प्रणाली पर्यावरण विषाक्त पदार्थों के प्रति अधिक संवेदनशील होती है। फ्लाराइड युक्त पानी के प्रति ये खुद को संरक्षित नहीं कर पाते। 

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन का कहना है कि प्रेग्नेंट महिलाओं को नल के पानी की जगह सर्टिफाइड कंपनी के बोतलबंद पानी को पीना ज्यादा बेहतर होगा। प्रेग्नेंसी में कोशिश करें कि आप घर से फिल्टर पानी ले कर चलें। यदि रास्ते या ऐसी जगह प्यास लगे जहां पानी आपके पास न हो तो आप रसीले फल खा लें। जूस पी लें।

Health News in Hindi के लिए देखें Times Now Hindi का हेल्‍थ सेक्‍शन। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से।

 
Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर