COVID tongue: कोरोना के इस नए लक्षण के बारे में कितना जानते हैं आप? हर 5 में से 1 मरीज में पाया गया ये लक्षण

हेल्थ
Updated Jan 21, 2021 | 16:26 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी के बीच अब इस घातक बीमारी का एक अन्‍य असामान्‍य लक्षण नजर आया है। कोविड-19 से संक्रमित हर पांच में से एक शख्स में यह लक्षण देखा गया है।

COVID tongue: कोरोना के इस नए लक्षण के बारे में कितना जानते हैं आप? हर 5 में से 1 मरीज में पाया गया ये लक्षण
COVID tongue: कोरोना के इस नए लक्षण के बारे में कितना जानते हैं आप? हर 5 में से 1 मरीज में पाया गया ये लक्षण  |  तस्वीर साभार: Representative Image

नई दिल्‍ली : कोरोना वायरस संक्रमण के आम लक्षणों में बुखार, सर्दी-जुकाम, नाक का बहना शामिल है तो आंखों में लालिमा, गंध या स्‍वाद महसूस नहीं करना सहित कई असामान्‍य लक्षण भी शामिल हैं। अब इस बीमारी को लेकर एक नया लक्षण सामने आया है, जिसे विशेषज्ञ कोविड टंग (COVID Tongue) कह रहे हैं। जैसा कि नाम से ही स्‍पष्‍ट है, इसमें कोविड-19 बीमारी के कारण पीड़‍ित व्‍यक्ति की जीभ पर जख्‍म या उसे किसी अन्‍य तरह के नुकसान हो सकते हैं। इसे माउथ अल्‍सर के तौर पर भी देखा जा रहा है।

लंदन के किंग कॉलेज के एक विशेषज्ञ के अनुसार, असामान्‍य लक्षण है, जो कोविड-19 से संक्रमित सभी मरीजों में नहीं पाया जाता, बल्कि कोविड-19 के करीब 20 प्रतिशत मरीजों में यह लक्षण पाया गया है। विभिन्‍न वैश्विक स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसियों ने इसे हालांकि अभी कोविड के लक्षण के तौर पर आधिकारिक रूप से सूचीबद्ध नहीं किया है। लेकिन ऐसे मरीजों में जीभ पर पैचेज और मुंह में, खासकर जीभ पर अल्‍सर जैसे लक्षण देखे गए हैं।

मुंह में छालों, अल्‍सर से रहें सावधान

लंदन के किंग कॉलेज में प्रोफेसर टिम स्‍पेक्‍टर ने ट्विटर के जरिये इसे लेकर अपनी चिंताएं जताई हैं। अपने ट्वीट में उन्‍होंने कहा है कि अगर आपको 'कोविड-टंग' या मुंह में अल्‍सर जैसे लक्षण नजर आते हैं और सिर में दर्द या थकान जैसा महसूस होता है तो बेहतर है कि आप घर में रहें। कोविड-19 से पीड़‍ित हर पांच में एक व्यक्ति में यह संक्रमण देखा गया है। हालांकि अभी इसे पब्लिक हेल्‍थ इंगलैंड (PHE) में सूचीबद्ध नहीं किया गया है।

इस तरह के लक्षण कोरोना वायरस से संक्रमित कई अन्‍य मरीजों में पहले भी पाए गए हैं। नेचर जर्नल में बीते साल ऐसे कुछ मामलों को लेकर एक शोध रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी, जिसमें मरीजों में मुंह में अल्‍सर या छाले के लक्षण पाए गए थे। स्‍पेन में हुए एक अन्‍य रिसर्च से कोविड-19 से संक्रमित 21 मरीजों में स्‍क‍िन रैशेज के मामले भी सामने आए थे। वहीं न्‍यूयार्क टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के अनुसार, कुछ अन्‍य मरीजों ने दांत टूटने, उनके कमजोर होने, उसका रंग बदलने और उसमें दरार होने सहित मसूड़ों में सेंसिविटी की शिकायत भी की थी।

कोरोना वायरस संक्रमण लोगों में सांस के माध्‍यम से एक-दूसरे में फैलता है और मुंह इसका एक प्रमुख एंट्री प्‍वाइंट है, ऐसे में इस लक्षण को लेकर विशेष सतर्कता बरतने की आवश्‍यकता है। हालांकि मुंह में होने वाले अल्‍सर या छाले पड़ने को फिलहाल वैश्विक स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसियों ने कोविड-19 के लक्षणों के तौर पर सूचीबद्ध नहीं किया है, लेकिन लोगों को यह सलाह दी जाती है कि अगर उन्‍हें इस तरह का कोई भी लक्षण नजर आए तो वे चिकित्‍सकों से परामर्श अवश्‍य करें। लक्षण बढ़ने पर वे खुद संक्रमण की जांच भी करवा सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर