क्या भारत में आ गया है "अफ्रीकी कोरोना स्‍ट्रेन",इसपर नाकाम हैं एंटीबॉडी, ब्रिटेन स्ट्रेन के बाद बढ़ा खतरा!

हेल्थ
रवि वैश्य
Updated Jan 11, 2021 | 19:27 IST

देश में जारी कोरोना संकट के बीच मुंबई से एक अलग ही खबर सामने आई है बताया जा रहा है कि मुंबई शहर से बाहर तीन कोरोना मरीज मिले, जिनमें दक्षिण अफ्रीका के कोरोना म्यूटेशन की तरह ही म्यूटेशन पाया गया है।

Zakiur Rehman Lakhvi:????? ????? ???? ?? 15 ??? ?? ???, ??? ?????? ?? '???' ?????
क्या भारत में आ गया है "अफ्रीकी कोरोना स्‍ट्रेन",इसपर नाकाम हैं एंटीबॉडी! 

कोरोना की वैक्सीन को लेकर जहां पॉजिटिव खबरे सामने आ रही हैं वहीं इसे लेकर कुछ नकारात्मक खबरें भी दिख रही हैं ताजा मामले में मुंबई के बाहरी इलाके में तीन ऐसे मरीजों की पहचान हुई है जिसमें कोरोना के नए स्ट्रेन को देखा गया है कोरोना को इस नए स्ट्रेन को दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से जोड़ कर देखा जा रहा है।

मुंबई के टाटा मेमोरियल सेंटर में मुंबई शहर से बाहर तीन कोरोना मरीज मिले, जिनमें दक्षिण अफ्रीका के कोरोना म्यूटेशन की तरह ही म्यूटेशन हुआ है,टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के अनुसार टाटा मेमोरियल सेंटर के प्रोफेसर पाटकर ने बताया कि मुंबई में जो म्यूटेशन मिला है उसका नाम E484K म्यूटेशन है और यह दक्षिण अफ्रीका में मिलने वाले कोरोना स्ट्रेंस में से एक है।

यहां पाया गया म्‍यूटेशन उन्‍हीं तीन में से एक है बताते हैं कि सेंटर की टीम ने 700 सैंपलों की जीन सीक्‍वेंसिंग की थी इनमें से तीन में ये म्‍यूटेशन मिला है।

खास बात ये है कि कोरोना से सही हुए मरीजों के शरीर में बनी तीन एंटीबॉडीज इस नई किस्‍म के ऊपर बेअसर हैं।

म्‍यूटेशन वायरस के आनुवांशिक पदार्थ या जेनेटिक सीक्‍वेंस में होने वाले वे बदलाव हैं जिनके आधार पर वायरस अपना रूप बदल लेता है। 

दुनिया के कुछ देशों में एक्सपर्ट का कहना है कि कोरोना का दक्षिण अफ्रीका वाला वेरिएंट ब्रिटेन और अमेरिका से ज्यादा खतरनाक है।


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर