कोरोना वायरस के बाद चीन में आया अब मंकी B वायरस, पशु चिकित्‍सक की मौत ने बढ़ाई चिंता

कोरोना वायरस महामारी के बीच चीन में मंकी बी वायरस का मामला सामने आया है, जिससे एक पशु चिकित्‍सक की मौत हो गई है। यह इंसानों में इस वायरस का पहला मामला बताया जा रहा है, जिससे दुनियाभर में चिंता पैदा हो गई है।

 कोरोना वायरस के बाद चीन में आया अब मंकी B वायरस, पशु चिकित्‍सक की मौत ने बढ़ाई चिंता
कोरोना वायरस के बाद चीन में आया अब मंकी B वायरस, पशु चिकित्‍सक की मौत ने बढ़ाई चिंता  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • चीन में मंकी बी वायरस से एक पशु चिकित्‍सक की जान चली गई है
  • कोरोना महामारी के बीच इस नए संक्रमण को लेकर चिंता बढ़ गई है
  • यह इंसानों में मंकी बी वायरस का पहला मामला बताया जा रहा है

बीजिंग : कोरोना वायरस महामारी के बीच चीन में अब नया मंकी वायरस सामने आया है, जिससे एक इंसान की अब तक जान जा चुकी है। चीन पर पहले ही कोरोना वायरस महामारी को लेकर कई तरह के आरोप लगते रहे हैं और अब मंकी वायरस के सामने आने और इससे एक शख्‍स की मौत के बाद एक बार फिर दुनिया सकते में है।

ग्‍लोबल टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीजिंग में एक पशु चिकित्‍सक की मौत Monkey B Virus (BV) से हुई है। मार्च में दो मृत बंदरों के पोस्‍टमार्टम के बाद उल्‍टी और जी मिचलाने की शिकायत के बाद 53 वर्षीय पशु चिकित्‍सक को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, जहां 27 मई को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। वह गैर-मानव प्राइमेट्स पर शोध करने वाली संस्‍था के लिए काम करते थे।

इंसानों में संक्रमण का पहला केस

पशु चिकित्‍सक की हालत बिगड़ने पर विशेषज्ञों ने अप्रैल में उनके मस्तिष्‍क से फ्ल्‍यूड निकालकर जांच की थी, जिसमें उनके BV से संक्रम‍ित होने का पता चला था। बीमार होने के बाद से उनका कई अस्‍पतालों में इलाज चला, लेकिन उन्‍हें बचाया नहीं जा सका। रिपोर्ट के मुताबिक, यह इस वायरस से किसी इंसान के संक्रमित होने और उसकी मौत का पहला मामला है। उनके परिवार के लोग फिलहाल सुरक्षित हैं और उनमें इस वायरसर से संक्रमण को लेकर किसी तरह के लक्षण नहीं हैं।

इस वायरस का संक्रमण बेहद घातक बताया गया है। चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की रिपोर्ट के अनुसार, इस वायरस से संक्रमित मरीजों में मृत्‍यु दर 70 से 80 फीसदी तक है। इस वायरस के बारे में सबसे पहले 1932 में पता चला था, जो सीधे संपर्क में आने या शारीरिक स्रावों के संपर्क से फैलता है। बंदरों में पाए जाने वाले BV वायरस खतरे को लेकर आगाह करते हुए रिपोर्ट में इस पर निगरानी पर जोर दिया गया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर