Lemon Water Effect on Kidney: क्या नींबू पानी पीने से किडनी हो सकती है खराब? जानें क्या होता है असर

Lemon Water: नींबू पानी पीने के कई फायदे होते हैं लेकिन क्या इसका किडनी पर बुरा असर पड़ता है? जानें नींबू पानी का किडनी पर क्या होता है असर और इससे जुड़ी खास बातें।

Lemon Water (Image- iStock)
Lemon Water (Image- iStock) 
मुख्य बातें
  • विटामिन- सी से भरपूर नींबू पानी का सेवन लोग वजन घटाने के लिए करते हैं।
  • क्या नींबू पानी का किजनी पर होता है बुरा असर?
  • जानें नींबू पानी से जुड़ी ये बातें।

Lemon Water effects on Kidney: नींबू एक ऐसी चीज है जिसे अक्सर खाने के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही कई लोग वजन घटाने के लिए सुबह उठते ही नींबू पानी पीते हैं तो कुछ लोग रिफ्रेशिंग ड्रिंक की वजह से इसे पीते हैं। विटामिन सी से भरपूर नींबू शरीर में कैल्शियम को एबजॉर्ब करने में मदद करता है। लेकिन किडनी से जुड़ी बीमारी वाले लोग हमेशा इस चीज को लेकर कंफ्यूजन में रहते हैं कि उन्हें क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए? क्या नींबू पानी उनकी सेहत के लिए अच्छा है? क्या नींबू पानी का किडनी पर होता है बुरा असर?

किडनी की बीमारी में फायदेमंद है नींबू पानी?

किडनी रक्त में विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट को बाहर निकालने का काम करती है। इसके साथ ही किडनी ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने और क्रिएटिनिन व यूरिक एसिड जैसे केमिकल्स का लेवल मेंटेन करने का काम करता है। विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट और सिट्रिक एसिड से भरपूर नींबू पानी पीने से किडनी के मरीजों को किसी तरह का कोई खतरा नहीं होता। मालूम हो कि लंबे समय से चली आ रही किडनी की समस्या में किडनी ब्लड फिल्टर करने का काम नहीं कर पाती है जिसके चलते शरीर के टॉक्सिंस खून में चले जाते हैं जिससे दिल की बीमारी और स्ट्रोक जैसे खतरे बने रहते हैं।

क्रिएटिनिन कम करने में नींबू पानी मददगार?

नींबू पानी पीने से क्रिएटिनिन कम करने में मामूली असरदार है लेकिन यह इसे बढ़ाने का काम नहीं करता। बता दें कि क्रिएटिनिन हर किसी के ब्लड और यूरिन में पाये जाने वाला वेस्ट प्रोडक्ट होता है। एक स्वस्थ व्यक्ति की बात करें तो महिलाओं के लिए क्रिएटिनिन 95 मिली प्रति मिनट और पुरुषों में यह 120 एमएल तक होता है।

किडनी के लिए नींबू हानिकारक?

नींबू पानी या नींबू का रस पीने से क्रोनिक किडनी रोग के रोगियों की स्थिति और खराब नहीं हो सकती। हालांकि अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। बहुत ज्यादा नींबू पानी दस्त और उल्टी का कारण बन सकता है। साथ ही इसका अत्यधिक सेवन करने से बार- बार पेशाब जाने जैसी समस्या हो सकती है।

नींबू पानी पीने का सही समय

नींबू पानी पीने का कोई सही समय नहीं होता है यानी इसे किसी भी समय पिया जा सकता है। हालांकि यह शरीर में एक क्षारीय वातावरण बनाता है और इसलिए सुबह सबसे पहले इसका सेवन करना सबसे अच्छा होता है। नींद से उठने के बाद बॉडी खुद को डिटॉक्सिफाइ करती है और ऐसे में क्षारीय लेने से पीएच बैलेंस बनाए रखने में मदद मिलती है। आप अदरक और शहद के साथ नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं, इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो हेल्दी किडनी फंक्शन में मदद करते हैं। 

(Disclaimer: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर