Benefits of Clove: डायबिटीज में शुगर लेवल को करना चाहते हैं कंट्रोल, तो लौंग का करें इस्तेमाल

Benefits of Clove: शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए लौंग का काढ़ा बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए एक गिलास पानी में 8-10 लौंग डालकर उबाल लें। इस पानी को करीब 4-5 मिनट तक उबालते रहें। इसके बाद पानी को छान लें और हल्का ठंडा करके पिएं। फायदा मिलेगा।

Benefits of Clove
Benefits of Clove 
मुख्य बातें
  • लौंग के काढ़े से शुगर लेवल करें कंट्रोल
  • डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए पिएं लौंग का पानी
  • भोजन में मसाले के तौर भी कर सकते हैं इस्तेमाल

Benefits of Clove: डायबिटीज की समस्या एक ऐसी समस्या है, जिसमें खाने-पीने पर बहुत ध्यान देना पड़ता है, यदि कुछ उल्टा-सीधा खा लिया जाए, तो इससे शुगर लेवल बढ़ सकता है, साथ ही डायबिटीज की समस्या काफी बढ़ जाती है। ऐसे में इस समस्या से राहत पाने के लिए लाइफस्टाइल और डाइट को सुधारने की आवश्यता होती है। आज इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में, जिससे शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इन्हीं नुस्खों में से एक हा लौंग का नुस्खा। दरअसल, लौंग में कुछ ऐसे गुण होते हैं, जो शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। तो चलिए जानते हैं डायबिटीज के मरीज कैसे कर सकते हैं लौंग का इस्तेमाल

डायबिटीज के मरीज इस तरह करें लौंग का इस्तेमाल

लौंग का बनाएं काढ़ा

शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए लौंग का काढ़ा बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए एक गिलास पानी में 8-10 लौंग डालकर उबाल लें। इस पानी को करीब 4-5 मिनट तक उबालते रहें। इसके बाद पानी को छान लें और हल्का गुनगुना करके पिएं। फायदा मिलेगा। 

लौंग का पानी 

डायबिटीज की समस्या में लौंग का पानी भी पिया जा सकता है। इसके लिए रोज रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में 4-5 लौंग भिगोकर रख दें। फिर सुबह उठकर खाली पेट इस पानी को पी लें। वहीं, लौंग को चूसकर खाएं। कुछ दिनों तक ऐसा करने से शुगर लेवल को कंट्रोल करने में बहुत फायदा मिलेगा।

भोजन में मसाले के तौर भी कर सकते हैं इस्तेमाल

लौंग के गुण किसी भी तरह से सेवन करें, कम नहीं होते। इसलिए आप इसे भोजन में मसाले की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे इसके गुणों में कई कमी नहीं आएगी और आपका शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा भी लौंग अन्य कई तरह की समस्याओं को दूर करने में भी फायदेमंद होती है। इससे दांत का दर्द ठीक करने में विशेष लाभ होता है। 

( डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर