ग्रीन टी के शौकीन हैं आप ? जानिये कौन सा ग्रीन टी आपके लिए होगा सेहतमंद

बीते कई सालों से ग्रीन टी को वजन कम करने और सेहतमंद रहने के बेहतर उपाय के तौर पर देखा जा रहा है। लेकिन ग्रीन टी पीते समय कई चीजों का ध्यान रखना होता है।

Green Tea
ग्रीन टी लाभ और नुकसान ( तस्वीर के लिए साभार - iStock Images) 

मुख्य बातें

  • ग्रीन टी स्वास्थय लाभ से भरपूर होता है
  • वज़न कम करने में भी मददगार
  • एक दिन में 3 कप से ज़्यादा पीना हानिकारक

नई दिल्ली: दिन की शुरुआत और चाय के कप का साथ! इससे अच्छी सुबह क्या होगी। किसी भी "टी लवर" के लिए चाय सौगात से कम नहीं। अब चाय का स्वरूप बदलने लगा है। पहले हम दूध की बनी गढ़ी चाय पीना पसंद करते थे। बदलती जीवनशैली के साथ दूध गायब होने लगा और हम "ब्लैक टी" में अपनी खुशी दूंढ़ बैठे। आलम यहीं नहीं रुका आज हम अपनी सेहत का ख्याल इतना रखने लगे हैं कि स्वाद तक के साथ 'कॉम्प्रोमाइज' कर लिया। हम ग्रीन टी को भी खुले दिल से अपनाने लगे।  

अब चाय का रंग रूप ही नहीं बदला उसको पीने का मकसद भी बदल गया। पहले चाय आनंद के लिए पी जाती थी, गपशप का बहाना होती थी लेकिन अब लोग आनंद और गपशप का बहाना बाद में पहले सेहत का खजाना समझ के पीने लगे हैं। और सेहत की बेहतरी के लिए ग्रीन टी का प्रचलन बढ़ गया।

क्या है ग्रीन टी?

  1. कैमेलिया साइनेंसिस नामक पोधे की ताजी पत्तियों को तोड़ने के तुरंत बाद भाप देकर ग्रीन टी का निर्माण होता है। पीने के लिए ग्रीन टी बनने कि विधि इस प्रकार है-
  2. एक प्याला ग्रीन टी बनने के लिए प्याले में 2-4 ग्राम ग्रीन टी डाल लें,
  3. अलग से पैन में पानी उबाल लें,
  4. पानी के उबलने के बाद 2-3 मिनट के लिए पानी को ऐसे ही छोड़ दें,
  5.  फिर पैन में रखे गरम पानी को ग्रीन टी वाले प्याले में डाल दें
  6.  हल्का सा घोलें और 2-3 मिनट के लिए छोड़ दें
  7. अब आपकी ग्रीन टी सेवन के लिए तैयार है। आनंदमय हो के ग्रीन टी के चुस्कियां लेते रहें।


ग्रीन टी के लाभ

  • यदि आप एक दिन में सही मात्रा में ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो आपको हृदय संबंधी कई रोगों से मुक्ति मिल जाती है।
  • सुबह उठ कर ग्रीन टी का सेवन करना व रात को खाना खाने के आधे घंटे बाद इसका सेवन वज़न कम करने में मददगार साबित होता है।
  • इसके नियमित सेवन से आप टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को भी कम कर देते हैं।
  • हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में करती है मदद।
  • यह सिर्फ एंटीऑक्सीडेंट ही नहीं एंटी एजिंग भी है। ग्रीन टी या ग्रीन टी से बने उत्पाद आपकी त्वचा को लंबे समय तक जवान बनाए रख सकते हैं।
  • तनाव को दूर करने में भी लाभदायक सिद्ध होती है ग्रीन टी।


क्या ग्रीन टी के भी हैं नुक़सान?

ग्रीन टी सिर्फ स्वास्थ्य लाभों से परिपूर्ण है ऐसा कहना सही नहीं। ग्रीन टी का गलत तरीके से सेवन किया जाए तो आपको इसका लाभ नहीं मिलता। इसके अत्यधिक सेवन से भी नुक़सान होने की संभावनाएं उत्पन्न होती है। कहा जाता है किसी चीज की अति भी बुरी तो यह बात ग्रीन टी के संदर्भ में भी सही प्रमाणित होती है। एक दिन में 4 कप से अधिक सेवन आपको स्वास्थय लाभों से दूर भी कर सकता है। जाने कैसे ग्रीन टी का अधिक सेवन आपके स्वास्थ को प्रभावित करता है-

  1.  चाय चाहे ग्रीन हो ब्लैक हो या सामान्य कैफ़ीन ही तो होता है। यदि हम ज़्यादा चाय पियेंगे तो हमारे शरीर में कैफ़ीन की मात्रा भी अधिक बढ़ जाएगी।
  2.  ग्रीन टी तनाव करने में मददगार है लेकिन ज़्यादा ग्रीन टी पीने से आपके मस्तिष्क पर कुप्रभाव भी पढ़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ग्रीन टी के पौधे में एल्युमिनियम की मात्रा अधिक होती है।
  3. ग्रीन टी निद्रा को दूर करने में सहायक होती है। यदि आप रात को अधिक सेवन करेंगे तो नींद की कमी से परेशान होने लगेंगे।
  4. हृदय जलन व अनियमित हृदय धड़कन जैसी परेशानियां भी कई लोगो में ग्रीन टी के अधिक सेवन के कारण देखने को मिली हैं।

यदि आप ग्रीन टी का अधिक सेवन यही सोच कर करते हैं की इससे आपको अधिक स्वास्थ्य लाभ मिलेगा तो ज़रा बचकर सेवन करें। एक दिन में 4 कप से अधिक न पिएं और देर रात को ख़ासकर बेवजह इसके सेवन से बचें।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर