Benefits of pine nuts: पाइन नट्स के 7 जबरदस्त और अनोखे फायदे

Benefits of pine nuts: पाइन नट्स जिसे चिलगोजा कहते हैं। पाइन नट्स पाइन की सबसे पोषण प्रजातियों में से एक हैं।

amazing benefits of pine nuts
पाइन नट्स सेहत के लिए लाभकारी है। (तस्वीर के लिए साभार- iStock) 

मुख्य बातें

  • पाइन नट्स आंखों की रोशनी बढ़ाते हैं।
  • पाइन नट्स त्वचा के लिए बेहद लाभदायक होते हैं।
  • इसके अलावा, पाइन नट्स बालों के लिए भी बहुत बेहतरीन होते हैं।

नई दिल्ली: चिलगोजा यानी पाइन नट्स कैलोरी में कम होते हैं। ये स्वास्थ के लिए सबसे अच्छे होते हैं साथ ही इन्हें सबसे ज्यादा डायबिटीज वाले लोग खाते हैं क्योंकि ये डायबिटीज कम करने और बजन घटाने में मदद करते हैं। आइए जानें इसके कुछ स्वास्थ लाभ।

-पाइन नट्स में 51.3% फैटी एसिड होते हैं जिनमें स्टीयरिक एसिड (1.2%), ओलिक एसिड (2.3%), पिनोलेनिक एसिड (19%), लिनोलिक एसिड (2.8%) शामिल हैं। इसमें 8.7% पानी, 13.6% प्रोटीन, 0.9% फाइबर और 3% मिनरल और राख शामिल हैं। ये फाइटोकेमिकल्स के उच्च स्तर के साथ पैक किए जाते हैं जैसे कि कैटेचिन, कैरोटीनॉइड, गैलोसैचिन, लाइकोपेन और टोकोफेरोल।

पाइन नट्स के लाभ:

डायबिटीज को करता है नियंत्रण
डायबिटीज जैसी बीमारी में खानपान का विशेष ध्यान देना पड़ता है, लेकिन यदि आप चिलगोजा का सेवन कर रहे हैं तो निश्चिन्त रहिये क्योंकि इसमें मौजूद पोषक तत्वों से डायबिटीज की समस्या में होने वाले खतरों को कई गुना तक कम किया जा सकता हैं।

दिल की बीमारियों को करता है दूर
चिलगोजा हृदय स्वास्थ्य में भी लाभदायक हो सकता है। चिलगोजा एक नट है और एक वैज्ञानिक शौध के अनुसार नट पदार्थों का सेवन करने से हृदय संबंधित बीमारियों का खतरा कम हो सकता है।

वेट लॉस में करता है मदद
वजन नियंत्रित रखने में भी चिलगोजा खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के मुताबिक चिलगोजा से बने हुए तेल का सेवन वजन घटाने में अहम भूमिका निभा सकता है। चिलगोजा में पिनोलेनिक एसिड मौजूद होता है और यह 14 से 19 प्रतिशत फैटी एसिड को प्रदर्शित करता है। यह एसिड भूख को नियंत्रित कर वजन को कम करने में मदद कर सकता है।

कैंसर के खतरे को करता है कम
चिलगोजे के फायदे कैंसर जैसी गंभीर बिमारी में भी देखने को मिल सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, कैंसर जैसी बीमारी से बचने के लिए नट पदार्थों का सेवन लाभदायक हो सकता है। शोध के अनुसार, पाइन नट्स में रेस्वेराट्रोल नमक एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है, जो कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

बच्चों की एलर्जी को करता है खत्म
बच्चों में अखरोट एलर्जी सबसे आम एलर्जी है। एक अध्ययन के अनुसार, गैर-एलर्जी वाली गर्भवती महिलाओं द्वारा पेड़ों के नट का अधिक सेवन बच्चों में अखरोट एलर्जी के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है।

इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार
पाइन नट्स में मैंगनीज, पोटेशियम, कैल्शियम, जिंक, आयरन और सेलेनियम जैसे खनिजों की उच्च सामग्री होती है जो इम्युनिटी को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है।

पाइन नट्स का इस्तेमाल:

  1. पाइन नट्स को सबसे अच्छा भुना और नमकीन पसंद किया जाता है। वे व्यापक रूप से कुकीज़, ग्रेनोल, चॉकलेट और ऊर्जा सलाखों जैसे बेकिंग सामान की तैयारी के लिए उपयोग किए जाते हैं।
  2. कद्दू के बीज के समान, पाइन नट्स भी अपने पोषण लाभ पाने के लिए फलों के सलाद या सूप पर छिड़के जाते हैं। उन्हें मिठाइयों या आइस क्रीम पर भी छिड़का जाता है।
  3. चिलगोजा अखरोट का तेल सलाद ड्रेसिंग के रूप में पसंद किया जाता है।

1. पाइन नट्स इतने महंगे क्यों हैं?
पाइन नट्स का पेड़ धीमी गति से बढ़ने वाला होता है क्योंकि इसे पूरी तरह परिपक्व होने में लगभग 18-36 महीने लगते हैं। इसके अलावा, कटाई के बाद, शंकु को मुख्य रूप से बीज को अलग करने के लिए पीसा जाता है और फिर लगभग 20 दिनों के लिए धूप में सुखाया जाता है। पाइन नट्स का उत्पादन समय लेने वाला होता है इसलिए वो इतने महंगे होते हैं।

2. क्या पाइन नट्स आपके लिए अच्छे हैं?
हां, पाइन नट्स कम या बिना किसी साइड इफेक्ट के बेहद पौष्टिक होते हैं। डायबिटीज, कैंसर और हृदय रोगों जैसे रोगों के खिलाफ इसकी प्रभावशीलता के लिए इनका व्यापक रूप से सेवन किया जाता है।

3. क्या पाइन नट्स खतरनाक हैं?
पाइन नट्स का न्यूनतम दुष्प्रभाव होता है। वे कुछ लोगों में अखरोट एलर्जी का कारण हो सकते हैं और स्तनपान कराने वाली और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अक्सर उनकी सामग्री को सीमित रूप से इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। इसलिए इसके सेवन से पहले आप डॉक्टर की सलाह जरूर लें। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर