Faridabad Crime: बेटे के मर्डर केस में गवाह पिता की कार से कुचल कर हत्‍या, 10 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज

Faridabad Crime: करीब एक साल पहले बेटे के हत्‍या के मामल में मुख्‍य गवाह पिता को भी कार से कुचल कर मार दिया गया। बेटे की हत्‍या के मामले में 26 मई को पिता की गवाही थी। इस मामले में पुलिस ने 10 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश तेज कर दी है। वहीं इस पूरे मामले में परिजनों ने आरोप लगाया है कि पुलिस से सुरक्षा मांगी गई थी, लेकिन दी नहीं गई।

Faridabad crime
बेटे के हत्‍या के मामले में मुख्‍य गवाह पिता की कार से कुचल कर हत्‍या (प्रतीकात्मक फोटो)  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • बेटे के हत्‍या मामले में मुख्‍य गवाह पिता की कार से कुचल कर हत्‍या
  • पिता को गवाही से मुकरने के लिए दी जा रही थी लगातार धमकी
  • 26 को कोर्ट में होनी थी गवाही

Faridabad Crime: फरीदाबाद में हत्‍या का एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। करीब एक साल पहले हुई बेटे की हत्‍या मामले के मुख्‍य गवाह पिता को भी कार से कुचल कर मार दिया गया। यह घटना हथनी के पास कौंडल गांव की है। घटना के बाद पुलिस महकमे में भी हड़कंप मच गया है। मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि, पुलिस से सुरक्षा मांगी गई थी, लेकिन दी नहीं गई। वहीं इस हत्या से गुस्साए लोग सड़क पर बैठ गए।   

जानकारी के अनुसार, करीब एक साल पहले बेटे की हत्‍या हुई थी, जिसमें मृतक पिता राजवीर मुख्‍य गवाह थे। हत्‍या मामले में 26 मई को कोर्ट में उनकी गवाही थी, लेकिन उसके पहले ही कार से कुचल कर मार डाला गया। पुलिस ने इस मामले में मृतक के भाई जगदीश की शिकायत पर कौंडल निवासी प्रिंस, भूषण, शेर सिंह, अशोक, ललित, सचिन, संजय, अर्जुन, सुमित व खेड़ी कलां के पवन के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज किया गया है।

26 मई को होनी थी कोर्ट में सुनवाई

हथीन थाना प्रभारी जसवीर यादव ने बताया कि, इस मामले में 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस की कई टीमें तलाश में जुटी हैं। पुलिस ने बताया कि, राजवीर के बेटे सत्यम पर पिछले साल हमला किया गया था, जिसमें इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। उस मामले में पिता राजवीर मुख्य गवाह थे। 26 मई को मामले में सुनवाई होनी है। मृतक के भाई जगदीश ने बताया कि, उनके पास शाम पांच बजे फोन आया कि, राजवीर अंधरोला रोड पर अचेत पड़े हैं, जब वे भाग कर मौके पर पहुंचे तो वहां भीड़ लगी थी। आसपास खेतों पर काम करने वाले लोगों ने बताया कि, राजवीर की बाइक को जानबूझकर एक कार से टक्‍कर मारी गई। जब राजवीर रोड पर गिरे तो उनके ऊपर गाड़ी चढ़ाकर आगे-पीछे की गई। इसके बाद आरोपी गाड़ी को बहीन की तरफ लेकर फरार हो गए। जगदीश ने आरोप लगाया कि, मेरे भाई को लगातार गवाही से मुकरने के लिए धमकी मिल रही थी, जब वह नहीं माना तो उसकी हत्‍या कर दी गई।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर