Faridabad Police: पुलिस को गुमराह कर झूठा मुकदमा दर्ज कराना पड़ा भारी, पुलिस ने दर्ज किया 122 लोगों पर मुकदमा

Faridabad Police: फरीदाबाद पुलिस को झूठी शिकायतें देकर गुमराह करना अब लोगों को भारी पड़ रहा है। पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। पिछले छह माह में इस तरह की झूठी शिकायतें देने वाले 122 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कईयों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Faridabad police
पुलिस को झूठी शिकायत देने पर 122 लोगों पर मुकदमा   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • झूठी शिकायत देने पर छह माह में 122 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज
  • दर्जनों लोगों को झूठी शिकायत के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका
  • इस माह में भी अब तक अपहरण, लूट और चोरी की तीन झूठी शिकायत

Faridabad Police: फरीदाबाद पुलिस को झूठी शिकायत देकर गुमराह करना लोगों को भारी पड़ रहा है। पुलिस इस तरह के लोगों पर नकेल कसने के लिए लगातार कार्रवाई कर रही है। बीते छह माह में फरीदाबाद पुलिस ने ऐसे 122 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है, जिन्‍होंने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। ऐसे लोगों द्वारा दी गई शिकायतें झूठी मिलने के बाद उसी थाने में इनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार मामला दर्ज होने के बाद अब तक दर्जनों लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि पुलिस को झूठी शिकायत देकर गुमराह करने वालों के खिलाफ इस साल फरवरी से कार्रवाई शुरू की गई है। फरवरी से लेकर जुलाई तक 6 महीनों के अंदर ही झूठी शिकायत देने वालों के खिलाफ 122 केस दर्ज हो चुके हैं। इसके तहत फरवरी में 15, मार्च में 25, अप्रैल में 19, मई में 25, जून में 21 और जुलाई में 17 केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

इस माह भी अपहरण, लूट और चोरी की शिकायत निकली झूठी

फरीदाबाद पुलिस ने इस माह भी दो झूठी शिकायतों में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। ये शिकायतें लूट और अपहरण की है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि क्राइम ब्रांच 48 प्रभारी राकेश कुमार की टीम ने लूट के एक झूठे मामले में अपने आप को पीड़ित बताने वाले आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि झूठी शिकायत देने वाले आरोपी सूरजकुंड के चार्मवुड विलेज का रहने वाला कुणाल है। आरोपी ने 1 अगस्त 2022 को क्राइम ब्रांच 48 प्रभारी राकेश कुमार को बताया कि उसने घर आने के लिए 31 जुलाई को ऑनलाइन एक बाइक राइड बुक की थी। बाइक राइडर उसे लेकर शूटिंग रेंज के रास्ते होते हुए सूरजकुंड ला रहा था। इसी दौरान रास्ते में बाइक चालक ने पेशाब के बहाने बाइक रोकी और फिर 4 लड़के बुलाकर उससे मोबाइल फोन, पर्स व स्मार्ट वॉच लूट लिया। पुलिस जांच के दौरान कुणाल का यह आरोप झूठा निकला। वहीं क्राइम ब्रांच 65 प्रभारी ब्रह्म प्रकाश की टीम ने लूट के एक झूठे मामले का खुलासा किया। आरोपी ने अपने आप को अपहरण किए जाने की शिकायत की थी, जो जांच में झूठी निकली। इसके अलावा क्राइम ब्रांच 85 ने भी बाइक चोरी की एक शिकायत झूठी मिलने पर शिकायकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर