'मैं मॉर्डन ड्रेस में ही अच्छी लगूंगी साड़ी में नहीं', डायरेक्टर ने Dipika Chikhlia को लेकर कही थी ये बात

Ramayan Sita Dipika Chikhlia throwback: दीपिका चिखलिया को मिल रहे कई टीवी शोज के ऑफर। लेकिन रामायण की सीता नहीं करना चाहतीं 30 दिन काम...

Ramayan Sita Dipika Chikhlia Recall When Director think i never look good in a sari
दीपिका चिखलिया। 

मुख्य बातें

  • दीपिका चिखलिया पिछले साल लॉकडाउन के दौरान काफी सुर्खियों में रहीं।
  • तब से अभिनेत्री दीपिका चिखलिया को टीवी के कई ऑफर्स मिल रहे हैं।
  • दीपिका जल्द करण राजदान की फिल्म हिंदुत्व में नजर आएंगी।

टेलीविजन शो रामायण की सीता यानि अभिनेत्री दीपिका चिखलिया टोपिवाला पिछले साल लॉकडाउन के दौरान काफी सुर्खियों में थीं। जब उनके टीवी शो रामायण को दोबारा से टेलिकास्ट किया गया तो रामानंद सागर से सीरियल ने दर्शकों को फिर से खूब लुभाया। तब से अभिनेत्री दीपिका चिखलिया को टीवी के कई ऑफर्स मिल रहे हैं लेकिन उन्होंने बॉलीवुड प्रोजेक्ट का विकल्प चुना है। दीपिका जल्द करण राजदान की फिल्म हिंदुत्व में गुरु मां का किरदार निभाती नजर आएंगी।

दीपिका चिखलिया बताती हैं, 'मुझे टीवी शो के लिए ऑफर मिलते रहते हैं, लेकिन सब कुछ हो जाए ये संभव नहीं है। मैं वास्तव में एक महीने में 30 दिन काम करने वालों में से नहीं हूं। मैं कम दिनों में काम करना चाहती हूं और जो कुछ सार्थक हो।'

दीपिका चिखलिया नहीं हैं सीनियर कलाकारों की ऑडिशन प्रोसेस से खुश 
अभिनेत्री ने इस दौरान सीनियर एक्टर की ऑडिशन प्रक्रिया को लेकर भी बात की। दीपिका चिखलिया का कहना है, 'आजकल ऑडिशन अभिनेताओं यह देखने के लिए नहीं होता कि वो उस कैरेक्टर को कर सकते हैं कि नहीं। अगर ऐसा होता तो मैं आसानी से सहमत हो जाता। वे हमें अन्य युवा अभिनेताओं की तरह ऑडिशन दिलाते हैं कि क्या हम एक्टिंग कर सकते हैं? मुझे लगता है कि मनोरंजन इंडस्ट्री में दो दशकों के योगदान के बाद, यह थोड़ा अजीब है कि उन्हें अभी भी यह देखने की जरूरत है कि क्या मैं अभिनय कर सकती हूं।' 

'हां हॉलीवुड स्टाक मेरिल स्ट्रीप को आज भी भूमिकाओं के लिए ऑडिशन देती हैं, लेकिन यह एक ऐसी सिस्टम है जिसका उन्होंने युगों से पालन किया जा रहा है। भारत में पहले सीनियर अभिनेताओं के ऑडिशन के लिए ऐसी कोई व्यवस्था नहीं थी, यह केवल हाल ही में हमारे ऑडिशन शुरू हुए हैं। इंडस्ट्री ने कॉरपोरेट प्रक्रियाओं को अपनाना शुरू किया है, लेकिन इसके लिए उचित व्यवस्था होनी चाहिए। वो मुझे एकबार पोशाक में देखे, अगर मैं किरदार से मुताबिक ठीक ना लगूं तो वो मुझे रिजेक्ट कर सकते हैं। लेकिन सिर्फ ऑडिशन देना और उसके आधार पर निष्कर्ष निकालना, सही तरीका नहीं है।

जब डायरेक्टर को लगा की दीपिका साड़ी में अच्छी नहीं लगेंगी
अपने एक्सपीरियंस को याद करते हुए दीपिका ने कई साल पहले की बात बताई जब उन्होंने एक फिल्म सुन मेरी लैला में एक्टिंग की थी। दीपिका चिखलिया बताती हैं, 'निर्देशक ने मुझे बताया कि वह मुझे केवल एक मॉर्डन लड़की के रूप में जीन्स और टी-शर्ट पहने हुए देखना चाहते हैं। और उन्हें लगा था कि मैं कभी साड़ी या पारंपरिक कपड़ों में अच्छी नहीं लगूंगी। कुछ महीने बाद, मुझे सीता का किरदार निभाने के लिए चुना गया और बाकी तो सब जानते हैं। इसलिए, कई बार यह धारणा बन जाती है कि एक विशेष अभिनेता एक भूमिका नहीं कर सकता।' 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर