Aashram Review: आस्‍था के नाम पर ढोंग की पोल खोलती है 'आश्रम', पसंद आएगा आस्था, अपराध और राजनीति का ये खेल

Critic Rating:

Aashram Review: प्रकाश झा के न‍िर्देशन में बनी बॉबी देओल स्‍टारर MX Player की वेब सीरीज 'आश्रम आस्था और धर्म के नाम पर चल रहे गंदे खेल को उजागर करती है।

Aashram web series Review
Aashram web series Review 

मुख्य बातें

  • MX Player पर र‍िलीज हुई वेबसीरीज आश्रम
  • बॉबी देओल ने न‍िभाया है न‍िराला बाबा का क‍िरदार
  • प्रकाश झा के न‍िर्देशन में बनी है आश्रम वेबसीरीज

Aashram Review: दिग्‍गज फ‍िल्‍ममेकर प्रकाश झा के न‍िर्देशन में बनी बॉबी देओल स्‍टारर MX Player की वेब सीरीज 'आश्रम' रिलीज हो चुकी है। इस वेबसीरीज के ट्रेलर ने पहले ही दर्शकों को रोमां‍चित कर रखा था और अब जब यह रिलीज हो गई है तो पहले ही दिन खूब देखा जा रहा है। आश्रम कोई फ‍िल्‍मी कहानी नहीं, बल्कि हमारे समाज का एक ऐसा सच है जिससे हमारा समाज कई साल से जूझ रहा है। धर्म के नाम चल रहे गैरकानूनी काम, आस्‍था के नाम पर लोगों को बरगलाना और उनके साथ दरिंदगी की कहानियां हम सबने सुनी हैं। 

इन घिनौनी कहानियों के सामने आने के बावजूद हमारा समाज कोई सीख नहीं ले पाता है। प्रकाश झा ने इस विषय पर वेबसीरीज बनाकर समाज को आगाह करने का काम किया है। यह वेबसीरीज आस्था और धर्म के नाम पर चल रहे गंदे खेल को उजागर करती है और सबक देने का काम करती है। प्रकाश झा ने इस वेबसीरीज को बनाकर हिम्‍मत का काम किया है, वहीं उन्‍होंने वैधानिक सूचना भी दी कि यह हमारे धर्म की असली तस्‍वीर नहीं है। ये केवल धर्म की आड़ में हो रहे गोरखधंधे को उजागर करती है। 

ऐसी है वेबसीरीज 'आश्रम' की कहानी

'आश्रम' की कहानी की शुरुआत होती है पहलवान पम्मी। पम्‍मी दलित और यही वजह उसके करियर में बाधा होती है। पम्मी के दोस्त की शादी हो रही होती है तो वह घोड़ी पर बैठकर जाने की जिद करता है। मोहल्‍ले को यह बात पसंद नहीं आती और उसकी पिटाई कर दी जाती है। इन्‍हीं प्रताड़ित लोगों की मदद करने के लिए निराला बाबा यानि बॉबी देओल आगे आ जाते हैं। उन्हें गरीबों के बाबा, नसीब वालों के बाबा और न जाने क्या-क्या कहा जाता है। लोगों के बीच उनकी जयजयकार हो जाती है। कुछ समय बाद निराला बाबा का दाहिना हाथ है भोपा सामने आता है और राजनीति, आस्था और अपराध की तिकड़ी बनने लगती है। 

निराला बाबा काशीपुर वाले

निराला बाबा काशीपुर वाला चमत्कारी है। भक्तों के सामने उसकी लीलाएं जितनी चमत्‍कारी हैं, उससे कहीं ज्यादा मारक, घातक और त्रासक परदे के पीछे हैं। कहानी में दिखाया जाता है कि कैसे ये बाबा प्रताड़ितों का सहारा बनकर उनका शोषण करते हैं। फ‍िल्‍म दिखाती है कि कैसे राजनेता और प्रशासन इन बाबाओं की काली करतूतों पर पर्दा डाल देते हैं। 9 एपिसोड की सीरीज थोड़ी लंबी जरूर लगती है लेकिन मनोरंजन के साथ कई सवाल छोड़ जाती है जिनके जवाब खुद दर्शकों को तलाशने होंगे। 

बाबा के किरदार में खूब जमे बॉबी देओल

'आश्रम (Aashram)' में निराला बाबा के किरदार में बॉबी देओल शानदार लगे हैं। उन्‍होंने बखूबी इस किरदार को निभाया है। भोपा के रोल के साथ चंदन रॉय सान्याल ने पूरा न्‍याय किया है। जब जब वह स्‍क्रीन पर आते हैं तो नजर नहीं हटती। पहलवान पम्मी का किरदार अदिती पोहणकर ने निभाया है और वह भी जमी हैं। इंस्‍पेक्‍टर उजागर सिंह का किरदार बहुत ही शिद्दत दर्शन कुमार ने अदा किया है। बीते कई वर्षों में हरियाणा और अन्‍य राज्‍यों में ऐसे बाबा पुलिस के शिकंजे में आए हैं जिनसे प्रेरित निराला बाबा का किरदार लगता है। 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर