मेगा बजट फिल्मों की 10 यादगार टक्कर, जब बॉक्स ऑफ्स पर टकराईं सुपरस्टार्स की फिल्में

बॉक्सऑफिस पर बीते कई सालों में दो बड़ी मेगा बजट फिल्मों में टक्कर देखने को मिलती आई है जिनकी यादें आज भी दर्शकों के मन में ताजा हैं। एक नजर ऐसे ही 10 बॉलीवुड बॉक्सऑफिस क्लैश पर।

Ten Big Bollywood Box office unforgettable clashes of mega budget films, Bollywood films clashes on Box office release, बॉलीवुड फिल्मों की यादगार टक्कर
बॉलीवुड फिल्मों की यादगार टक्कर 

मुख्य बातें

  • फिल्म फैंस को आज भी याद हैं बॉलीवुड बॉक्सऑफिस के कई बड़े टकराव
  • रिलीज के दौरान टकरा चुकी हैं सुपरस्टार्स की कई मेगा बजट फिल्में
  • एक नजर ऐसे ही 10 क्लैश और उनके नतीजों पर

मुंबई: एक ही दिन या एक ही समय के दौरान रिलीज होने वाली बॉलीवुड फिल्में हमेशा बॉक्स ऑफिस पर एक बड़ी टक्कर को न्यौता देती हैं। कभी-कभी दोनों फिल्में समान हिस्सेदारी के साथ सफलता हासिल करने में कामयाब हो जाती हैं तो कई बार इससे बॉक्स ऑफिस पर एक लड़ाई जैसे माहौल का जन्म होता है।

फिल्मों में अक्सर त्योहारी सीजन के दौरान टकराव होता है क्योंकि प्रोडक्शन हाउस या प्रमुख सुपरस्टार अपनी फिल्में या तो राष्ट्रीय अवकाश के दौरान या त्योहार की तारीख में रिलीज करना पसंद करते हैं। तो एक नजर उन फिल्मों पर जो एक ही दिन बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हुई।

लगान बनाम गदर-एक प्रेम कथा:

चाहे दिल और घायल हो, राजा हिंदुस्तानी और घताक, या लगान और गदर, जब भी सनी देओल और आमिर खान की रिलीज़ की तारीखें एक जैसी होती हैं, फिल्में इतिहास रच देती हैं। लगान सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा की फिल्म की श्रेणी के लिए ऑस्कर पुरस्कार के लिए नामांकित होने वाली तीसरी भारतीय फिल्म थी। जबकि, गदर एक चार्टबस्टर था जिसने 'शोले' द्वारा बेचे गए टिकटों की संख्या के रिकॉर्ड को लगभग तोड़ दिया था।

मोहब्बतें vs मिशन कश्मीर:

आदित्य चोपड़ा ने अपनी ब्लॉकबस्टर 'डीडीएलजे' के बाद दूसरी बार इसी स्तर की फिल्म बनाने की कोशिश की। 'मोहब्बतें' में पहली बार अमिताभ और शाहरुख़ खान को स्क्रीन स्पेस साझा करने का मौका मिला, जहां कई नई प्रतिभाओं ने भी अपना स्क्रीन डेब्यू किया। विधु विनोद चोपड़ा की 'मिशन कश्मीर' तकनीकी रूप से शानदार थी, लेकिन ऋतिक रोशन की उपस्थिति के अलावा इसे उस तरह का बिजनेस नहीं किया जैसा कि अभिनेता की फिल्मों को मिलता आया था।

डॉन बनाम जानेमन:

शाहरुख खान की डॉन बनाम सलमान खान और अक्षय कुमार की जानेमन को एक शानदार दिलचस्प बॉक्सऑफिस क्लैश था। हालांकि, रिलीज के बाद यह संघर्ष एकतरफा मामला निकला। अपने शुरुआती दिन से ही फरहान अख्तर द्वारा निर्देशित डॉन ने जानेमन पर बॉक्स ऑफिस में बढ़त बना ली और अगले कुछ दिनों में इसे बहुत पीछे छोड़ दिया।

हैदर vs बैंग बैंग:

दोनों फिल्में बहुत अलग अलग तरह की थीं। एक एक्शन से भरपूर पूरी तरह से कमर्शियल मसाला एंटरटेनर फिल्म बैंग बैंग और दूसरी ओर एक गहरा मैसेज देती 'हैदर'। बैंग बैंग 100 करोड़ के क्लब में शामिल होने में कामयाब रही। हालांकि, प्रोडक्शन की बड़ी लागत के कारण इसे ज्यादा सफल नहीं माना जाता है। दूसरी ओर, काफी कम बजट में बनी 'हैदर' ने लगभग 60 करोड़ रुपए कमाए और दर्शकों और समीक्षकों से समान रूप से प्रशंसा प्राप्त की।

बाहुबली बनाम बजरंगी भाईजान:

एसएस राजामौली की महान, ऐतिहासिक और महत्वाकांक्षी फिल्म बाहुबली ने 10 जुलाई को स्क्रीन पर धूम मचा दी थी। शानदार सीन प्रभावों और एक मनोरंजक कहानी ने बाहुबली को भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर में से एक बना दिया। एक बड़े बजट पर बनी यह फिल्म शुरू में एक जोखिम के रूप में सामने आई और पहले से ही अपने सभी निवेशकों के लिए एक लाभदायक सौदा बन गई।

दूसरी ओर, इस ईद पर बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान एक और ब्लॉकबस्टर लेकर आ रहे थे। भावनात्मक कहानी और कुछ शानदार प्रदर्शनों के साथ बजरंगी भाईजान ने घरेलू बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ क्लब में अपनी जगह बना ली और विदेशी बॉक्स ऑफिस पर भी धूम मचा दी।

दिलवाले vs बाजीराव मस्तानी:

'बाजीराव मस्तानी की रिलीज निर्माताओं द्वारा इस अवधि के कॉस्ट्यूम ड्रामा की शूटिंग शुरू होने से पहले तय की गई थी। हालांकि, संजय लीला भंसाली ने पहले अपनी फिल्म की घोषणा की, लेकिन फिल्म को तैयार लाइन तक पहुंचने में थोड़ा समय लगा। रोहित शेट्टी की 'दिलवाले' को दस महीने के रिकॉर्ड समय में शूट किया गया था और यह शाहरुख की साल की एकमात्र रिलीज़ थी।

ओम शांति ओम बनाम सांवरिया:

अपनी इतिहास में छुपी प्रेम कहानियों वाली फिल्मों के लिए मशहूर संजय लीला भंसाली अपनी पहली फिल्म के साथ दो नए चेहरों, रणबीर कपूर और सोनम कपूर को लॉन्च करने के साथ तैयार थे। फराह खान की ओम शांति ओम के जादू ने काम किया और उनकी ब्लॉकबस्टर फिल्म के साथ इंडस्ट्री को दीपिका पादुकोण के रूप में एक चमकता सितारा मिला।

काबिल vs रईस:

राहुल ढोलकिया के निर्देशन में बनी शाहरुख खान की रईस फिल्म ने 130 करोड़ से अधिक की कमाई की और लगभग खुद को हिट फिल्मों की लिस्ट में ले जाकर खड़ा कर दिया, जबकि दूसरी ओर 'काबिल' ने अपने लिए काफी अच्छा प्रदर्शन किया। 'रईस' शाहरुख खान के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनों में से एक थी और ऋतिक के लिए भी एक अंधे व्यक्ति की भूमिका निभाना आसान नहीं था। दोनों फिल्मों के प्लॉट अलग-अलग थे। 'काबिल' में यामी गौतम ने भी मुख्य भूमिका निभाई थी और इसी तरह 'रईस' में माहिरा खान ने भी फिल्म में मुख्य भूमिका निभाई थी।

पैडमैन बनाम पद्मावत:

बहुप्रतीक्षित फिल्म 'पद्मावत' अक्षय कुमार की 'पैडमैन' के साथ रिलीज हुई। अक्षय की फिल्म में राधिका आप्टे और सोनम कपूर भी मुख्य भूमिका में थे। वहीं संजय लीला भंसाली ने रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण को साथ लेकर एक बार फिर बेहद भव्य फिल्म बनाई। दोनों फिल्में 26 जनवरी 2018 को रिलीज हुईं। सोशल मैसेज के साथ ठीक ठाक कमाई वाली पैडमैन को जहां हर तरफ से तारीफ मिलीं, वहीं पद्मावत एक ब्लॉकबस्टर साबित हुई और एक बार फिर फिल्म ने दर्शकों को सिनेमा की भव्यता अहसास कराया।

ऐ दिल है मुश्किल vs शिवाय:

Shivaay vs Ae Dil hai Mushkil

2020 की दीवाली के दौरान दो फिल्मों के सबसे प्रत्याशित मुकाबले देखने को मिले। जहां 'शिवाय' एक एक्शन/थ्रिलर फिल्म थी जिसमें कुछ शानदार एक्शन सीक्वेंस थे, वहीं 'ऐ दिल है मुश्किल' एक रोमांटिक ड्रामा थी, जिसमें 7 साल के अंतराल के बाद ऐश्वर्या राय बच्चन ने बड़े परदे पर वापसी की। दोनों ही फिल्में 100 करोड़ क्लब में शामिल होने में सफल रहीं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर