Sonu Sood Gift German Rifle: सोनू सूद ने झारखंड की शूटर कोनिका लायक को दी 3 लाख की जर्मन राइफल, जानें क्यों

Sonu Sood Gift German Rifle To Jharkhand Shooter: कोनिका लायक दो बार नेशनल के लिए क्वालीफाई करने के बावजूद अपने कोच या अपने दोस्तों से उधार ली गई राइफलों पर निर्भर थीं। उन्होंने सोनू सूद से मदद मांगी थी...

Sonu Sood help Struggling Jharkhand Shooter Konica Layak And Gift  German Rifle
कोनिका लायक और सोनू सूद। 
मुख्य बातें
  • सोनू सूद ने झारखंड की निशानेबाज को एक इम्पोर्टेड राइफल खरीदने में मदद की है। 
  • कोनिका लायक अपने कोच या अपने दोस्तों से उधार ली गई राइफलों पर निर्भर थीं।
  • सोनू सूद ने मार्च में उनकी अपील का जवाब देते हुए उन्हें आश्वासन दिलाया था।

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के दौरान हजारों लोगों की मदद करने वाले अभिनेता सोनू सूद ने अपने चैरिटी सूद फाउंडेशन के माध्यम से अच्छा काम जारी रखे हुए हैं। सोनू सूद और उनकी चैरिटी ने हाल ही में झारखंड की एक स्ट्रगलिंग निशानेबाज को एक इम्पोर्टेड राइफल खरीदने में मदद की है। 

दरअसल अभिनेता को कोनिका लायक के बारे में तब पता चला जब उन्होंने जनवरी में एक ट्वीट में उन्हें टैग किया था। लायक ने सोनू सूद को टैग करते हुए अपनी अपील में लिखा था, '11वीं झारखंड स्टेट राइफल शूटिंग चैंपियनशिप में, मैंने एक रजत और एक स्वर्ण पदक जीता है। हालांकि, सरकार ने मेरी बिल्कुल भी मदद नहीं की है। कृपया एक राइफल के साथ मेरी मदद करें।' कोनिका लायक मंत्रालय और सरकारी अधिकारी को भी सोनू सूद के साथ टैग किया था।

धनबाद की रहने वाली कोनिका लायक दो बार नेशनल के लिए क्वालीफाई करने के बावजूद अपने कोच या अपने दोस्तों से उधार ली गई राइफलों पर निर्भर थीं। सोनू सूद ने मार्च में उनकी अपील का जवाब देते हुए उन्हें आश्वासन दिलाया था कि उन्हें जल्द ही एक राइफल मिल जाएगी।


अब जब राइफल आखिरकार कोनिका लायक के पास पहुंची, तो उन्होंने सोनू सूद को धन्यवाद देने के लिए ट्वीट किया। अभिनेता को टैग करते हुए कोनिका ने लिखा, 'सर, मेरी राइफल यहां है। मेरे परिवार में खुशी की लहर फैल गई है और पूरा गांव आपको आशीर्वाद दे रहा है।' इसके जवाब में सोनू सूद ने लिखा, 'ओलंपिक में भारत का स्वर्ण पदक पक्का है। बस सभी की प्रार्थनाओं की जरूरत है।'


कोनिका लायक ने बताया था कि मेरे पास अपनी राइफल नहीं हो सकती क्योंकि इसकी कीमत लगभग 3 लाख रुपए है। मुझे अपने कोच की राइफल या अपने दोस्तों पर निर्भर रहना पड़ता है। मैंने अपने दोस्तों से 80,000 रुपए की व्यवस्था की थी और राइफल के लिए 1 लाख का लोन भी लिया था। सौभाग्य से सोनू सूद फाउंडेशन ने राइफल के लिए शेष धनराशि की व्यवस्था की और मैंने पहले ही ऑर्डर दे दिया है। जर्मनी निर्मित राइफल ढाई महीने में मेरे पास पहुंच जाएगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर