मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा- रैपर बादशाह ने कबूली गाने के लिए पैसे देकर व्यूज खरीदने की बात

Badshah fake views case: मुंबई क्राइम ब्रांच के अनुसार पूछताछ के दौरान खुद रैप सिंगर बादशाह ने कबूल किया है कि उन्होंने 24 घंटे में अपने गाने पर व्यूज का रिकॉर्ड बनाने के लिए मोटी कीमत चुकाई थी।

Rap singer Badshah
रैप सिंगर बादशाह  |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • मुंबई पुलिस का दावा- बादशाह ने कबूल की व्यूज खरीदने की बात
  • कथित तौर पर रिकॉर्ड बनाने के लिए लाखों रूपए देकर खरीदे करोड़ों व्यूज
  • मशहूर रैपर ने पुलिस की बात से किया इनकार

मुंबई: गायक भूमि त्रिवेदी के मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद मुंबई क्राइम ब्रांच फर्जी फॉलोअर्स के रैकेट की तलाश कर रही है। भूमि का दावा था कि किसी ने उसकी फर्जी प्रोफाइल बनाई और कुछ बॉलीवुड हस्तियों से संपर्क किया। भूमि की शिकायत के बाद जांच शुरू हुई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। मामले में रैपर बादशाह को कुछ दिन पहले क्राइम ब्रांच के बाहर देखा गया था।

मुंबई पुलिस का कहना है कि बादशाह ने दर्शकों के रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए अपने एक संगीत वीडियो पर अतिरिक्त व्यूज के लिए 72 लाख रुपए देने की बात स्वीकार की है। कथित तौर पर रैपर ने 72 लाख रुपए में 72 करोड़ व्यूज खरीदे। बादशाह ने गाना रिलीज होने के पहले 24 घंटों में सबसे अधिक YouTube व्यूज का विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए कथित तौर पर ऐसा किया।

पुलिस अधिकारी का दावा:
मुंबई मिरर से बात करते हुए, पुलिस उपायुक्त (डेप्यूटी पुलिस कमिश्नर) नंदकुमार ठाकुर ने कहा, 'गायक ने स्वीकार किया है कि वह YouTube पर 24 घंटे में सबसे ज्यादा दर्शकों का विश्व रिकॉर्ड बनाना चाहते थे। इसी कारण उन्होंने इस कंपनी को 72 लाख रुपए का भुगतान किया।'

मशहूर रैपर ने नकारे आरोप:
बादशाह ने खुद इन सभी आरोपों को नकार दिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने मुंबई पुलिस से बात की है और साथ ही कहा, 'मेरे खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों से इनकार करता हूं और यह स्पष्ट किया है कि मैं कभी भी इस तरह की चीजों में शामिल नहीं था।'

रैपर की ओर से जारी बयान में आगे कहा गया, 'जांच प्रक्रिया को कानून के अनुसार निष्पादित किया जा रहा है और मुझे उन अधिकारियों पर पूरा भरोसा है, जो इस मामले को संभाल रहे हैं। मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मेरे लिए चिंता जाहिर की है। मेरे लिए यह बहुत मायने रखता है।'

मुंबई पुलिस ने की 68 कंपनियों की पहचान:
गौरतलब है कि फर्जी सोशल मीडिया फॉलोअर्स बेचने वाली 68 कंपनियों की पहचान मुंबई पुलिस ने की है। SIT ने फ्रांस सरकार को एक पत्र लिखा है और फ्रांस की एक कंपनी फॉलोअर्सकार्ट के बारे में विवरण मांगा है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार क्राइम ब्रांच के सदस्यों और साइबर सेल के साथ मिलकर मामले में एसआईटी का गठन किया गया था।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर