आशा भोसले को मिलेगा 2020 का महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार, बहन लता मंगेशकर ने दी बधाई

दिग्‍गज गायिका आशा भोसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार 2020 देने की घोषणा हुई है। सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में महाराष्ट्र भूषण अवार्ड की चयन समिति ने यह फैसला लिया है।

ASHA Bhosle
ASHA Bhosle  

मुख्य बातें

  • दिग्‍गज गायिका आशा भोसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार 2020 देने की घोषणा हुई है।
  • सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में अवॉर्ड चयन समिति ने ल‍िया ये फैसला!

Asha Bhosle Conferred with Maharashtra Bhushan Award: दिग्‍गज गायिका आशा भोसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार 2020 देने की घोषणा हुई है। सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में महाराष्ट्र भूषण अवार्ड की चयन समिति की बैठक के बाद इस बारे में घोषणा की गई। आशा भोसले ने महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार 2020 मिलने पर महाराष्ट्र सरकार का आभार जताया है। इसके साथ ही आशा भोसले ने पुरस्कार मिलने पर प्रतिक्रिया दी है और खुशी जताते हुए केक काटा है।

लता मंगेशकर ने जताई खुशी 
आशा भोसले की बड़ी बहन और सिंगर लता मंगेशकर ने इस अवसर पर खुशी जताई है। लता मंगेशकर ने ट्वीट करते हुए लिखा- 'नमस्कार, मेरी बहन आशा भोसले को 2020 का सम्माननीय 'महाराष्ट्र भूषण' पुरस्कार मिलने का ऐलान हुआ है। इसके लिए मैं आशा को दिल से बधाई देती हूं और उसे आशीर्वाद देती हूं।'

10 साल की उम्र से गा रहीं गाना 
87 साल की हो चुकीं आशा भोसले 10 साल की उम्र से गा रही हैं। आशा भोसले ने 20 भाषाओं में 16 हजार से ज्यादा गाने गाए हैं। सर्वाधिक स्‍टूडियो रिकॉर्डिंग के लिए उनका नाम गिनीज बुक में भी दर्ज है। आशा भोसले उन गायकों में से हैं जिनकी आवाज का जादू फैंस के सिर चढ़कर बोलता है। आशा भोसले पहली ऐसी भारतीय सिंगर हैं जिन्हें ग्रैमी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था। साल 1997 में आशा को पहली बार नॉमिनेट किया गया। साल 2005 में एक बार फिर उन्हें ग्रैमी में नॉमिनेशन मिला। एक दौर था जब हर दूसरी फ‍िल्‍म में आशा भोसले का गाना शामिल होता था। 

हिंदी के अलावा उन्होंने मराठी, बंगाली, गुजराती, पंजाबी, भोजपुरी, तमिल, मलयालम, अंग्रेजी और रूसी भाषा के भी अनेक गीत गाए हैं। आशा भोसले ने अपना पहला गीत वर्ष 1948 में सावन आया फिल्म चुनरिया में गाया। आशा की विशेषता है कि इन्होंने शास्त्रीय संगीत, गजल और पॉप संगीत हर क्षेत्र में अपनी आवाज़ का जादू बिखेरा है और एक समान सफलता पाई है। 

पुरस्‍कारों की लिस्‍ट लंबी

आशा भोसले को संगीत में उनके योगदान के लिए दो बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से नवाजा गया। 1981 में फ‍िल्‍म उमरॉव जान के गाने दिल चीज क्या है और 1986 में इजाजत फ‍िल्‍म के गाने मेरा कुछ सामान के लिए उन्‍हें यह पुरस्‍कार मिले। सन 2000 में वह “दादा साहेब फाल्के अवार्ड” से सम्मानित की गई और साल 2005 में उन्‍हें पद्मविभूषण प्रदान किया गया। वहीं आशा भोसले को सात बार फ‍िल्‍मफेयर पुरस्‍कार प्रदान किया गया। 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर